Home Blog

प्रधानमंत्री 750 मेगावाट की सौर परियोजना कल राष्ट्र को समर्पित करेंगे

0
Sour

विश्व की बड़ी सौर परियोजना में शामिल रीवा की अल्ट्रा मेगा सौर ऊर्जा परियोजना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। 750 मेगावाट की इस परियोजना से 76 फीसद बिजली मध्य प्रदेश और 24 प्रतिशत दिल्ली मेट्रो को मिलेगी। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से होने वाले इस कार्यक्रम में प्रभारी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल लखनऊ और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल से शामिल होंगे।

Sour

उधर, मुख्यमंत्री ने गुरुवार को कार्यक्रम की तैयारियों की समीक्षा भी की। 22 दिसंबर 2017 को मुख्यमंत्री ने परियोजना का शिलान्यास किया था। रिकॉर्ड ढाई साल में यह योजना पूरी हो गई और जनवरी से बिजली उत्पादन शुरू हो गया। लगभग चार हजार करोड़ रुपये की लागत वाली इस परियोजना के लिए विश्व बैंक ने कर्ज बिना शासन की गारंटी क्लीन टेक्नोलॉजी फंड के अंतर्गत सस्ती दरों पर दिया है।

Bank Account में गलती से किसी के पैसे आ जाएं तो लौटाने में ना करें आनाकानी

0
Account

वर्तमान दौर में इंटरनेट बैंकिंग के चलते बैंक से जुड़े काम बहुत आसान हो गए हैं। RTGS और NEFT जैसी सुविधाओं के चलते अब मिनटों में बड़ी राशि का ट्रांजेक्‍शन हो जाता है। बैंक या एटीएम बूथ पर इसीलिए बहुत ज्‍यादा कतार नज़र नहीं आती। ऑनलाइन मनी ट्रांसफर मोबाइल से भी करने का चलन बढ़ा है। लेकिन इस पूरे सिस्‍टम में ग्राहकों को सबसे ज्‍यादा ध्‍यान सेफ्टी का ही रखना है।

Account

अक्‍सर ऐसा होता है कि पैसा या बैलेंस किसी गलत अकाउंट नंबर या मोबाइल नंबर के लिए डिपॉजिट हो जाता है। यदि आपने किसी से पैसा ऑनलाइन मंगाया है तो लोग गलत बैंक खाते में पैसा जमा करा देते हैं। ऐसे में यह पता नहीं चलता है कि क्‍या करना चाहिये। इस मामले में अधिकांश लोगों को RBI की गाइडलाइन और नियमों के बारे में पता नहीं है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ऐसे मिस्‍टेक वाले ट्रांजेक्‍शन के लिए आरबीआई की बकायदा एक तय गाइडलाइन है। सभी बैंक और सारे ग्राहक इसके दायरे में आते हैं।

Virat Kohli और Ravi Shastri से टीम इंडिया के खराब प्रदर्शन पर बात करेंगे Sourav Ganguly

0
BCCI

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष Sourav Ganguly ने स्वीकारा कि विदेश में Team India का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा है और वे इसके चलते कप्तान Virat Kohli और चीफ कोच Ravi Shastri से बात करेंगे। Team India का अपने पिछले विदेशी दौरे पर न्यूजीलैंड के हाथों टेस्ट और वनडे सीरीज में सफाया हुआ था।

BCCI

Sourav Ganguly ने वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में कहा कि आपको विदेशी धरती पर अच्छा खेलना होगा, लेकिन वो ऐसा नहीं कर रहे हैं और ये बात छुपी हुई नहीं है। जब मैं कप्तान था तब कितना अच्छा खेलता था इस आधार पर मुझे आंका जाता था और विदेश में भी ऐसा ही था। मैं Virat Kohli, Ravi Shastri और टीम के अन्य खिलाड़ियों से बात करूंगा और बाहर अच्छा प्रदर्शन करने में इनकी मदद करूंगा।

सूरमा भोपाली के नाम से मशहूर बॉलीवुड अभिनेता जगदीप का निधन

0
jagdeep

बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता और सूरमा भोपाली के नाम से लोकप्रिय जगदीप का आज निधन हो गया। वे 81 वर्ष के थे। पिछले कुछ समय से वे बीमार थे। बुधवार शाम उन्‍होंने आखिरी सांस ली। 400 से अधिक फिल्मों में काम करने वाले जगदीप का असली नाम सैयद इश्तियाक अहमद जाफरी था। उन्‍हें अमिताभ बच्चन और धर्मेंद्र अभिनीत फिल्म ‘शोले’ में सोरमा भोपाली की भूमिका निभाने के लिए जाना जाता था।

jagdeep

जगदीप को कई हॉरर फिल्मों में उनके अदाकारी के लिए भी जाना जाता था, जिनमें पुराना मंदिर ख्‍यात है। बॉलीवुड अभिनेता जावेद जाफ़री और टीवी निर्माता नावेद जाफ़री जगदीप के बेटे हैं। उनके इंतकाल की खबर आने के बाद प्रशंसकों ने ट्विटर पर जगदीप को फिल्मों से उनकी फेक तस्वीरें शेयर कर श्रद्धांजलि दी। जगदीप का जन्म ब्रिटिश इंडिया के दतिया सेंट्रल प्रोविंग में (अब मध्य प्रदेश) 29 मार्च 1939 को हुआ था. उन्होंने कई फिल्मों में काम किया, लेकिन साल 1994 में आई ‘अंदाज अपना अपना’, 1975 में आई ‘शोले’ और 1972 में आई ‘अपना देश’ में उनके अभिनय को काफी सराहा गया। जगदीप ने एक चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर साल 1951 में फिल्म ‘अफसाना’ से फिल्मी दुनिया में कदम रखा और एक कॉमेडियन के तौर पर उन्होंने ‘दो बीघा ज़मीन’ से डेब्यू किया था।

केन्द्र सरकार की कुसुम योजना के तहत सैकड़ों किसानों को होंगे फायदे

0
PKY

सौर ऊर्जा संयंत्र आवंटित किए गए हैं। राजस्थान देश का पहला राज्य है जिसने किसानों की चयन प्रक्रिया पूर्ण कर ली गई है तथा देश के अन्य राज्यों की अपेक्षा यहां कुसुम योजना में सर्वाधिक क्षमता के सौर संयंत्र स्थापित होंगे। राजस्थान अक्षय ऊर्जा निगम लिमिटेड ने प्रधानमंत्री कुसुम योजना कंपोनेंट-ए के अन्तर्गत प्रदेश के किसानों को सौर ऊर्जा संयंत्र आवंटित किए है।

PKY

अक्षय ऊर्जा निगम योजना के प्रथम चरण में वितरण निगमों के 33.11 के.वी. सब-स्टेशनों पर किसानों से विकेन्द्रीकृत सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने के लिए प्रस्ताव आमंत्रित किये गये थे, जिसके तहत राज्य के किसानों ने अभूतपूर्व उत्साह दिखाया और कुल 674 किसानों ने 815 मेगावॉट क्षमता के आवेदन दिए। जिसमें से 623 किसानों को 722 मेगावॉट क्षमता के सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करनेे की प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली गई है।

राष्ट्रपति व NCP नेताओं के साथ चीनी राजदूत ने की गुप्त वार्ता

0
Cheen

नेपाल में जारी राजनीतिक उथल-पुथल के बीच राष्ट्रपति बिद्या भंडारी और नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी (राकांपा) के वरिष्ठ नेता माधव कुमार नेपाल सहित शीर्ष सरकारी अधिकारियों के साथ चीन के राजदूत होउ यानकी ने मुलाकात की है।

Cheen

इसके बाद से यह संदेह पैदा हो गया है कि नेपाल के आंतरिक मामलों में चीन मध्यस्थता कर रहा है। काठमांडू पोस्ट ने बताया कि विदेश मंत्रालय के कई अधिकारियों ने शिकायत की है कि राष्ट्रपति का कार्यालय राजनयिक आचार संहिता का उल्लंघन कर रहा है, जो इस तरह की बैठकों में विदेश मंत्रालय के अधिकारियों की उपस्थिति को अनिवार्य करता है।

मंत्रालय के अधिकारी के हवाले से अखबार में लिखा गया- “कूटनीतिक आचार संहिता के अनुसार, विदेश मंत्रालय के अधिकारियों को ऐसी बैठकों में उपस्थित होना चाहिए, लेकिन हमें सूचित नहीं किया गया था … इसलिए बैठकों का कोई संस्थागत रिकॉर्ड नहीं है और हम नहीं जानते कि वे क्या बात कर रहे थे।”

मोबाइल नंबर भी रजिस्टर्ड नहीं है और आधार कार्ड खो गया है, तो ऐसे प्राप्त करे

0
UDAI

आधार कार्ड खो जाए या कहीं रखकर भूल जाएं तो घबराने की जरूरत नहीं है। UIDAI ने इस स्थिति में भी आधार कार्ड की प्रति हासिल करने की सुविधा दी है। खास बात यह है कि यदि मोबाइल नंबर UIDAI के साथ रजिस्टर्ड नहीं है तो भी Aadhaar card की कॉपी हासिल की जा सकती है।

UDAI

UIDAI ने अपने ताजा ट्वीट में इसकी जानकारी दी है। ट्वीट में लिखा गया है कि यदि आपका मोबाइल नंबर आधार कार्ड के साथ रजिस्टर्ड नहीं है तो भी आप Aadhaar card गुम होने पर आप इसकी कॉपी हासिल कर सकते हैं। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि आपने जो नया मोबाइल नंबर दर्ज किया है वो आधार के साथ रजिस्टर हो जाएगा।

How to Get Aadhaar card reprint if don’t have registered mobile number:

  1. आधिकारिक UIDAI वेबसाइट पर जाएं।
  2. ‘Order Aadhaar Reprint’ (आधार रीप्रिंट ऑर्डर) ऑप्शन पर क्लिक करें।
  3. अपना Aadhaar Number (UID) या Enrollment ID (EID) दर्ज करें।
  4. स्क्रिन पर दिखाई देने वाला सिक्योरिटी कोड दर्ज करें और ‘My mobile number is not registered’ (मेरा मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं है) पर क्लिक करें।
  5. वह मोबाइल नंबर दर्ज करें, जिस पर OTP रिसीव करना चाहते हैं।
  6. मोबाइन नंबर पर भेजा गया OTP दर्ज करें। इसके बाद नियम तथा शर्तों वाले चेकबॉक्स पर क्लिक करें और सबमिट बटन दबाएं।
  7. Make Payment (भुगतान करें) पर क्लिक करें और भुगतान करने का तरीका चुनकर भुगतान करें।
  8. पेज आपको पेमेंट गेटवे पर ले जाएगा जहां आपको सिर्फ ₹50 का भुगतान करना है। इसमें GST और स्पीड पोस्ट के सभी चार्ज शामिल हैं।
  9. भुगतान का रसीद डाउनलोड करें।
  10. सफल भुगतान के पांच दिन के अंदरआपको स्पीड पोस्ट से आधार की प्रति मिल जाएगी।

आधार कार्ड के लिए नामांकन के समय प्रदान की गई पर्ची में लिखी नामांकन संख्या बता कर कोई व्यक्ति UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट से आधार कार्ड की दूसरी प्रति प्राप्त कर सकता है।

MS Dhoni को जन्मदिन पर बेटी Ziva ने दिया अनमोल तोहफा

0
Dhoni

पूर्व भारतीय कप्तान MS Dhoni आज अपना 39वां जन्मदिन मना रहे हैं, लेकिन उनके स्वभाव के अनुसार उन्होंने इस दिन भी अपनी तरफ से सोशल मीडिया पर कोई पोस्ट शेयर नहीं की हैं। वैसे MS Dhoni की पत्नी Sakshi और बेटी Ziva की तरफ से उनके लिए स्वीट मैसेज सोशल मीडिया पर अवश्य पोस्ट किए गए हैं। जीवा का अनमोल गिफ्ट देखकर अवश्य महेंद्रसिंह धोनी की आंखों में खुशी के आंसू आएंगे और साथ ही गर्व के साथ उनका सीना चौड़ा हो जाएगा।

Dhoni

Ziva Dhoni के इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है जिसमें जीवा ने अपने पापा के लिए ‘के सेरा सेरा’ गाना गाया है, इस दौरान वीडियो में उनके और पापा धोनी का सफर फोटोज के जरिए दिखाया गया है। बेटी जीवा द्वारा अपने पापा के लिए गाए इस गाने को सुनकर धोनी अवश्य इमोशनल हो जाएंगे। इस वीडियो का कैप्शन दिया गया है, हैप्पी बर्थडे पापा! यह मेरे पापा के लिए हैं! आई लव यू।

लद्दाख में वायुसेना की गतिविधियां भी तेज

0
Ladhak

चीन के साथ सीमा पर चल रहे तनावपूर्ण संबंधों के चलते भारत ने भी वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर अपनी तैयारियां काफी तेज कर दी हैं। मोर्चेबंदी को मजबूत करने के लिए सेना ने अपनी एक और डिवीजन तैनात कर दी है।

Ladhak

इस बीच वायुसेना के विमानों से भारी-भरकम सैन्य साजोसामान पहुंचाने का काम काफी तेजी से चल रहा है। लड़ाकू विमानों एसयू-30-एमकेआई और मिग-29 ने भी शनिवार को कई उड़ानें भरीं। आमतौर पर यहां एक ही डिविजन रहती है लेकिन अब चार डिवीजन तैनात कर दी गई है। पूर्वी लद्दाख में अभी तक तीन डिवीजन थीं। इस चौथी डिवीजन से सेना की ताकत और बढ़ जाएगी। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नीमू (लेह) दौरे के दौरान ही डिवीजन के कई अफसरों और जवानों ने नई जिम्मेदारी संभाल ली।

ज्योतिर्लिंग महाकाल की पहली सवारी कल

0
Mahakal

ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर में सोमवार से श्रावण का उल्लास छाएगा। श्रावण की शुरुआत सोमवार के दिन होने से पहले ही दिन भगवान महाकाल की सवारी निकलेगी। शाम चार बजे शाही ठाठबाट के साथ अवंतिकानाथ का नगर भ्रमण शुरू होगा।

Mahakal

भगवान चंद्रमौलेश्वर रूप में चांदी की पालकी में सवार होकर भक्तों को दर्शन देने निकलेंगे। श्रावण-भादौ मास में इस बार सात सवारी निकलेगी और भक्तों के शामिल होने पर प्रतिबंध रहेगा।कोरोना संक्रमण के चलते मंदिर समिति इस बार नए मार्ग से सवारी निकाल रही है।

महाकाल मंदिर से शुरू होकर सवारी बड़े गणेश मंदिर, हरसिद्घि चौराहा, झालरिया मठ के रास्ते सिद्घआश्रम के सामने से होते हुए मोक्षदायिनी शिप्रा के रामघाट पहुंचेगी। यहां पुजारी शिप्रा जल से भगवान का अभिषेक कर पूजा-अर्चना करेंगे। पूजन पश्चात सवारी रामानुजकोट, हरसिद्घि की पाल होते हुए हरसिद्घि मंदिर के सामने से पुनः महाकाल मंदिर पहुंचेगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना के माध्‍यम से घर बनाने के लिए मिलेगी ढाई लाख तक की सब्सिडी

0
PMAY

प्रधानमंत्री आवास योजना के माध्‍यम से लोग स्‍वयं का घर बना सकते हैं, जिनके पास कोई प्रापर्टी नहीं है। यह बात सभी को पता है कि केंद्र सरकार इस योजना में घर बनाने वालों को ढाई लाख रुपए तक की सब्सिडी दी जाती है। इसका भुगतान अलग-अलग श्रेणियों में किया जाता है।

PMAY

इस योजना के अंतर्गत एप्‍लॉय करने पर लाभ लेने वालों का नाम शासन स्‍तर पर तय किया जाता है। अंतिम सूची को प्रधानमंत्री आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाता है। वेबसाइट पर जानकारी अपलोड होने का मतलब है कि आपका एप्‍लीकेशन नंबर जनरेट हो चुका है, मान्‍य हो चुका है और अब आपकी सब्सिडी आने वाली है। लेकिन इसके लिए आपको किन-किन कागजातों की जरूरत पड़ेगी, वह हम यहां बता रहे हैं।

गुरु-शनि की युति बनाएगी भारत को बलवान

0
Shani

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार दुनिया में जो भी घटित हो रहा है, उसमें ग्रहों की चाल का बहुत अधिक महत्व रहता है। वर्तमान में भारत और चीन सहित चीन व अमेरिका और अन्य देशों की जो तनातनी चल रही है। उन सबके पीछे भी ग्रहों की वर्तमान दशा ही है। आने वाले दिनों में कई घटनाक्रम होने वाले हैं। इसमें गुरु, शनि, सूर्य, राहु, केतु, अपना-अपना रंग दिखाएंगे ।

Shani

ज्योतिषाचार्यों का दावा है कि 15 जुलाई से चीन के साथ भारत सहित विभिन्न् देशों के तनाव बढ़ना प्रारंभ हो जाएंगे। इसके बाद 16 अगस्त से अमेरिका और अन्य देश चीन के खिलाफ शंखनाद कर देंगे। जिसके चलते चीन की आर्थिक और सामाजिक स्थिति बहुत खराब हो जाएगी। साथ ही भारत का पूरी दुनिया में नाम होगा। भारत पूर्व समय में भी चीन द्वारा कब्जाई जमीन को वापस पा लेगा। वहीं पाकिस्तान की हालत बहुत ही बद्हाल हो जाएगी।

सत्ता संतुलन साधने में भाजपा का सामाजिक समीकरण बिगड़ा

0
mantri

कांग्रेस छोड़कर आए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके 22 समर्थकों के साथ सत्ता संतुलन साधने में भाजपा का सामाजिक और भौगोलिक गणित बिगड़ गया । विधानसभा की 24 सीटोें पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुए मंत्रिमंडल में चंबल-ग्वालियर का पलड़ा तो भारी हो गया लेकिन 2018 में भाजपा को जीत दिलाने वाले विंध्य और महाकोशल नेतृत्व की दृष्टि से लगभग साफ हो गया । विंध्य में कुल सीट 30 हैं,जिनमें से 24 पर भाजपा को विजय मिली पर मंत्री मात्र दो मिले ।

mantri

महाकोशल की 38 सीटों में से पिछले विधानसभा चुनाव में 13 सीट भाजपा को मिली थी,जिसके चलते मात्र एक रामकिशोर कांवरे को मंत्री बनाया गया । संस्कारधानी कहे जाने वाले जबलपुर से जहां कमलनाथ सरकार में दो दो मंत्री हुआ करते थे,वहां से किसी को नहीं चुना ।

हाईवे प्रोजेक्ट्स में भी चीनी कंपनियों की एंट्री बंद

0
highway

भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर टकराव के बाद अब भारत लगातार चीन के खिलाफ कदम उठा रहा है। भारत ने हाल ही में 59 चीनी एप्स बंद किए और अब सरकार ने चीनी कंपनियों को एक और बड़ा झटका दिया है। केंद्रीय मंत्री सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि भारत की राजमार्ग परियोजनाओं (Highway Projects) में चीन की कंपनियों को हिस्सा लेने की इजाजत नहीं दी जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि चीनी कंपनियों को संयुक्त उद्यम के जरिए भी ऐसा करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

highway

बता दें कि कई चीनी कंपनियां देश के हाईवे प्रोजेक्ट में सीधे या पार्टनरशिप में काम कर रही हैं। लेकिन अब चीनी कंपनियों की एंट्री बंद कर दी गई है। केंद्रीय मंत्री गडकरी ने कहा कि सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (MSMEs) सेक्टर में भी चीन के निवेशकों को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। गौरतलब है कि केंद्र सरकार इससे पहले सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए टिक टॉक, यूसी ब्राउजर्स, शेयर इट सहित 59 एप्स को प्रतिबंधित कर चुकी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन ने दी राहत

0
PM

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज शाम 4 बजे राष्‍ट्र के नाम संबोधन दिया। इसमें उन्‍होंने कोरोना संक्रमण, अनलॉक में बरती जा रही लापरवाहियों से लेकर जनकल्‍याणकारी योजनाओं, त्‍योहारों के सीजन और वर्तमान चुनौतियों आदि का जिक्र किया।

PM

16 मिनट चले इस संबोधन में उन्‍होंने मुख्‍य घोषणा ‘प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना’ के विस्‍तार को लेकर की। यह योजना अब दीवाली और छठ पूजा यानी नवंबर महीने के अंत तक चलाई जाएगी। पिछले संबोधनों की तुलना में प्रधानमंत्री का यह संबोधन संक्षिप्‍त था।

1 जुलाई से Mutual Funds पर लगेगी स्टांप ड्यूटी

0
funda

यदि कोई निवेशक एक जुलाई से किसी म्यूचुअल फंड (Mutual Funds) में निवेश करता है, उसे उस पर स्टांप ड्यूटी देनी होगी। सिस्टमेटिक इनवेस्टमेंट प्लान (एसआईपी या सिप) और सिस्टमेटिक ट्रांसफर प्लान (एसटीपी) में पैसा लगाने वालों को भी स्टांप ड्यूटी चुकानी होगी।

funda

नई व्यवस्था के तहत डेट Mutual Funds हो या इक्विटी म्यूचुअल फंड, सभी पर स्टांप ड्यूटी देनी होगी। इसका सबसे ज्यादा असर डेट फंडों पर देखने को मिलेगा, जो आम तौर पर छोटी अवधि के लिए होते हैं। म्यूचुअल फंड पर स्टांप ड्यूटी जनवरी, 2020 से ही लगने वाला था, लेकिन पहले इसे टालकर अप्रैल किया गया और फिर जुलाई कर दिया गया। यदि अब इसकी तारीख आगे नहीं बढ़ाई जाती है तो पहली जुलाई से यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

स्टांप ड्यूटी म्यूचुअल फंड की यूनिट बेचने समय नहीं, बल्कि खरीदते समय चुकानी होगा। 30 दिन या इससे कम समय के लिए निवेश करने वाले निवेशकों पर इसका असर सबसे ज्यादा होगा। यह ड्यूटी एकबार में ली जाएगी।

ऐसे लगेगी स्टांप ड्यूटी

1. म्यूचुअल फंड की यूनिट्स खरीदने पर कुल निवेश का 0.005 प्रतिशत रकम स्टांप ड्यूटी के तौर पर चुकानी होगी। इसका मतलब है कि यदि निवेश 10 हजार रुपये का है तो केवल 50 पैसे की ड्यूटी चुकानी होगी।

2. यदि कोई निवेशक म्यूचुअल फंड की यूनिट्स ट्रांसफर करता है तो उसे तीन गुना ज्यादा यानी 0.015 प्रतिशत स्टांप ड्यूटी चुकानी होगी। ऐसे में 10 हजार रुपये के निवेश पर 1.50 रुपये की स्टांप ड्यूटी बनेगी।

प्रीटी जिंटा की किंग्स इलेवन पंजाब टीम का चीनी प्रायोजकों से नाता तोड़ा जाए

0
XII_punjab

लद्दाख सीमा पर भारत और चीन की सेनाओं में टकराव के बाद तनाव के हालातों का असर अब देश में चीनी उत्पादों के विरोध के रूप में देखा जा रहा है। इसी क्रम में आईपीएल फ्रेंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब के सह मालिक नेस वाडिया ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में चीन की कंपनियों के प्रायोजकों को धीरे-धीरे खत्म करने की मांग की। किंग्स इलेवन पंजाब टीम की मालिक फिल्म एक्ट्रेस प्रीटी जिंटा हैं।

XII_punjab

गलवन घाटी में 15 जून को हुए टकराव में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे। इस घटना के बाद चीन के उत्पादों के बहिष्कार की मांग लगातार जोर पकड़ रही है। इस घटना के बीच बीसीसीआई को चीन की कंपनियों से प्रायोजन की समीक्षा के लिए आईपीएल संचालन परिषद की बैठक बुलानी पड़ी, हालांकि ये बैठक अब तक नहीं हो पाई है।

महाकाल सवारी मार्ग में परिवर्तन

0
mahakal_ujjain

कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए आमजन के स्वास्थ्य सुरक्षा के सम्बन्ध में श्रावण मास-भादौ मास में निकलने वाली महाकालेश्वर भगवान की सवारी के मार्ग में परिवर्तन किया गया है। श्रावण मास में कावड़ यात्रियों का शहर में प्रवेश प्रतिबंध रहेगा। महाकालेश्वर मन्दिर में श्रावण मास में भस्म आरती का समय परिवर्तन होने के कारण दर्शनार्थियों को भगवान महाकाल के दर्शन प्रात: 5.30 बजे से रात्रि 9 बजे तक हो सकेंगे।

mahakal_ujjain

श्रावण मास में 9 से 10 हजार दर्शनार्थी प्रीबुकिंग के माध्यम से दर्शन कर सकेंगे। वर्तमान में चार हजार दर्शनार्थी दर्शन लाभ ले रहे हैं। इस दौरान महाकालेश्वर मन्दिर गर्भगृह में प्रवेश पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। नागपंचमी पर्व पर भगवान नागचंद्रेश्वर के स्क्रीन के माध्यम से लाईव दर्शन होंगे। नागचंद्रेश्वर मन्दिर में दर्शनार्थियों के प्रवेश पर प्रतिबंध रहेगा।

सरकार ने Chinese App पर बैन किया

0
Chini_apps

चीन के खुराफातों के परेशान केंद्र सरकार आरपास के मूड में आ गई है। लोकप्रिय चायनीज ऐप पर पाबंदी लगाने के बाद अब सरकार विचार कर रही है कि देश में 5G नेटवर्क से भी चीनी कंपनियों को बाहर कर दिया जाए। सरकार ने इस संबंध में प्लानिंक शुरू कर दी है। इस कोशिश के तहत सोच-विचार चल रहा है कि देश में 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी प्रक्रिया को इस साल टाल दिया जाए। 5G नेटवर्क के भविष्य को लेकर भारत और अमेरिका के बीच विमर्श भी चल रहा है। इससे पहले सोमवार को अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने अपने सभी मित्र देशों से 5G नेटवर्क विस्तार को लेकर सतर्क रहने और भरोसेमंद तकनीकी कंपनी की सेवा ही लेने की अपील की थी।

Chini_apps

5G पर भारत और अमेरिका मिल सकते हैं हाथ

सबकुछ ठीक रहा तो जल्द ही भारत और अमेरिका इस दिशा में हाथ बढ़ा सकते हैं। अमेरिका भी इसके लिए राजी है। वहां के संचार आयोग ने भारत के साथ मिलकर 5G तकनीकी पर काम करने की बात कही है। दुनिया में हुआवे, नोकिया (फिनलैंड) और एरिक्सन (स्वीडन) कंपनियां हैं, जो प्रमुख तौर पर 5G तकनीकी के लिए आवश्यक इंफ्रास्ट्रक्चर दे रही हैं। भारतीय बाजार पर हुआवे काफी दांव लगाए हुए है। हुआवे की भारत से उम्मीद इसलिए भी अधिक है कि अमेरिका और यूरोपीय बाजार में उसके खिलाफ माहौल बन गया है। यानी भारत सरकार चीनी कंपनियों के बहिष्कार का फैसला लेती है तो यह हुआवे के लिए एक और बड़ा झटका होगा।

रणबीर कपूर की ‘संजू’ के 2 साल हुए पूरे

0
sanju

बॉलीवुड एक्टर संजय दत्त की लाइफ पर बनी फिल्म संजू की रिलीज को आज 2 साल हो चुके हैं. राजकुमार हिरानी द्वारा निर्देशित ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ब्लॉकबस्टर साबित हुई थी और इस फिल्म ने रणबीर कपूर के करियर को नई रफ्तार दी थी.

sanju

इस फिल्म के दो साल पूरे होने पर दीया मिर्जा ने एक पोस्ट शेयर किया है. दीया ने फिल्म में संजय दत्त की पत्नी का रोल निभाया था. जय दत्त की बायोपिक संजू रणबीर कपूर के करियर की सबसे बड़ी फिल्म साबित हुई थी. इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 300 करोड़ से अधिक की कमाई की थी. ये फिल्म राजकुमार हिरानी के करियर की भी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म साबित हुई है. ये राजकुमार हिरानी के करियर की दूसरी फिल्म थी जिसने बॉक्स ऑफिस पर 300 करोड़ का आंकड़ा पार किया था. इससे पहले आमिर खान, सुशांत सिंह राजपूत और अनुष्का शर्मा स्टारर फिल्म पीके ने 300 करोड़ से अधिक की कमाई की थी.

सबसे युवा अंपायर इंदौर के Nitin Menon बने

0
nitin

इंदौर के Nitin Menon सोमवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के अंपायरों के एलीट पैनल में शामिल होने वाले सबसे युवा अंपायर बन गए हैं। उन्हें इंग्लैंड के Nigel Llong की जगह 2020-21 सत्र के लिए एलीट पैनल में शामिल किया गया है। Nitin Menon अंपायरों के आईसीसी एलीट पैनल में शामिल होने वाले भारत के तीसरे अंपायर बने।

nitin

36 साल के Nitin Menon को तीन टेस्ट, 24 वनडे और 16 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में अंपायरिंग का अनुभव है। वे इस सूची में जगह बनाने वाले पूर्व कप्तान श्रीनिवास वेंकटराघवन और सुंदरम रवि के बाद तीसरे भारतीय हैं। रवि को पिछले साल इस पैनल से बाहर कर किया गया था। Nitin Menon से पहले इंग्लैंड के 40 वर्षीय माइकल गॉफ मौजूदा पैनल में शामिल सबसे युवा अंपायर थे।

मेनन ने 22 साल की उम्र में प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना छोड़ दिया था और 23 साल की उम्र में वे सीनियर अंपायर के तौर पर BCCI से मान्यता प्राप्त मैचों में अंपायरिंग करने लगे थे। ICC के महाप्रबंधक (क्रिकेट) ज्योफ अलार्डिंस (अध्यक्ष), पूर्व खिलाड़ी और कमेंटेटर संजय मांजरेकर और मैच रेफरियों रंजन मदुगले एवं डेविड बून की चयन समिति ने नितिन मेनन का चुनाव किया। मेनन इससे पहले अंपायरों के Emirates ICC International Panel का हिस्सा थे।

महाराष्ट्र में 31 जुलाई तक और नगालैंड में 15 जुलाई तक बढ़ा लॉकडाउन

0
lockdown

देश में अनलॉक 1.0 की मियाद 30 जून को खत्म हो रही है। ऐसे में हर किसी के मन में यह सवाल है कि उसके यहां 1 जुलाई से क्या व्यवस्था लागू होगी? क्या राहत मिलेगी या पाबंदियां जारी रहेंगी? राज्यों ने इस पर मंथन शुरू कर दिया है। केंद्र सरकार भी प्लानिंग में लगी है। राज्यों से संकेत मिलना शुरू हो गए हैं।

lockdown

महाराष्ट्र में 31 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने रविवार को ही इसके संकेत दे दिए थे और अब आधिकारिक ऐलान हो गया। वहीं मणिपुर ने भी 15 दिन के लिए पाबंदियां जारी रखने का फैसला किया है। ऐसे ही संकेत तेलंगाना से मिल रहे हैं। पश्चिम बंगाल और झारखंड जैसे राज्य 31 जुलाई तक लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान कर चुके हैं। वहीं तमिलनाडु ने प्रभावित इलाकों को छोड़कर बाकी जगह छूट देने का फैसला किया है। हालांकि एक बात पूरी तरह साफ है कि जहां कोरोना वायरस के नए केस में कमी आई है, वहां छूट मिल सकती है। मसलन – सोमवार से गुरुग्राम और फरीदाबाद में मॉल्स खोल दिए गए।

आनंदी बेन पटेल को मध्य प्रदेश के राज्यपाल का अतिरिक्त प्रभार

0
patel

उत्‍तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को मध्य प्रदेश के राज्‍यपाल का अतिरिक्‍त कार्यभार भी सौंपा गया है।राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आनंदी बेन को यह प्रभार सौंपा है। उल्‍लेखनीय है कि आनंदी बेन पहले भी मध्‍यप्रदेश की राज्‍यपाल रह चुकी हैं।

patel

राज्‍यपाल लालजी टंडन इन दिनों अस्‍वस्‍थ हैं और उनका लखनऊ के अस्‍पताल में उपचार चल रहा है। मध्‍य प्रदेश में शिवराज कैबिनेट का विस्‍तार 30 जून को होने की संभावना है। ऐसे में अब आनंदी बेन पटेल ही नए मंत्रियों को शपथ दिलवाएंगी।

पुलिस ने Rhea Chakraborty के भाई को पूछताछ के लिए भेजा समन

0
Shushant

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के निधन की खबर को आज सप्ताह हो चुके हैं। इस बीच सुशांत के चाहने वालों, प्रशंसकों की असंख्‍य प्रतिक्रियाएं आईं हैं। इस सिलसिले में नई खबर यह है कि पुलिस ने सुशांत की कथित गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक चक्रवर्ती को पूछताछ के लिए तलब किया है। पीपिंग मून की एक रिपोर्ट के अनुसार रिया के भाई जल्द ही अपना बयान दर्ज करा सकते हैं।

Shushant

शोविक कथित तौर पर एक आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस फर्म में सुशांत के बिजनेस पार्टनर हैं, जिसे 2019 में रिया द्वारा भी लॉन्च किया गया था। बताया जाता है कि सुशांत इस संयुक्त उद्यम में एकमात्र निवेशक थे, जिसका रिया ने अपने बयान में स्पष्ट रूप से उल्लेख नहीं किया है। यह भी आरोप लगाया जाता है कि रिया ने सुशांत को अपने भाई को फर्म में एक भागीदार के रूप में साइन करने के लिए मना लिया था।

शुक्र के मार्गी होने से सिंह राशि वालों को मिलेगा सहयोग

0
Shukra

शुक्र 25 जून को मार्गी हुए हैं और अब 1 अगस्त तक इसी अवस्था में रहेंगे। शुक्र को धन-दौलत, एश्वर्य और सुख देने वाला ग्रह माना जाता है। कुंडली में यदि शुक्र ग्रह शुभ स्थिति में है तो मानव का जीवन काफी सुखमय हो जाता है। इसकी स्थिति कुंडली में विपरीत होने पर जीवन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

Shukra

मेष राशि

आपके लिए शुक्र का मार्गी होना धन और सुख को देने वाला रहेगा। आय के मामले में स्थिति उत्तम रहेगी। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा और सगे-संबंधियों से रिश्ते बेहतर होंगे। सामाजिक स्तर अच्छा रहेगा और आपकी वाणी से लोग प्रभावित होंगे।

वृष राशि

आपकी राशि में सीधी चाल से शुक्र आपको प्रेमसंबध और वैवाहिक जीवन में सुख बढ़ाने वाले हैं। लेकिन स्वास्थ्य को लेकर आपको सावधान रहने की जरूरत है। इन दिनों अपना पार्टनर और रिश्तेदारों से मनमुटाव आपके लिए तकलीफदेह हो सकता है।

मिथुन राशि

इस समय आपको स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना होगा। इस दौरान यात्रा के योग बन रहे हैं। खर्च की अधिकता रहेगा लेकिन आय की स्थिति बनी रहने से स्थिति नियंत्रण में रहेगी।

कर्क राशि

इस राशि वालों को काफी खुशियां मिलेगी। इन दिनों आपको नौकरी और कारोबार में लाभ के उत्तम अवसर मिलेंगे। सहयोगियों से से संपर्क बढ़ेगा, अधिकारियों से सहयोग और प्रोत्साहन पाएंगे।

सिंह राशि

शुक्र का यह गोचर आपके लिए काफी अच्छा रहने वाला है। बहनों से सहयोग मिलेगा और उनसे तालमेल भी बेहतर रहेगा। इस दौरान घर परिवार में कोई शुभ समारोह का आयोजन हो सकता है।

कन्या राशि

शुक्र का मार्गी होना आपके लिए सुखद समय लेकर आया है। भाग्य का पूरा सहयोग मिलने से आपके सभी काम आपके बन जाएंगे। रुके हुए धन की भी प्राप्ति होगी। अधिकारियों से अनुकूल संबंध बने रहेंगे।

तुला राशि

शुक्र का मार्गी होना आपके लिए कुल मिलाकर शुभ रहने वाला है। कहीं से अचानक धन का लाभ मिल सकता है। कार्यक्षेत्र में योग्यता साबित करने का अवसर मिलेगा और सम्मान में वृद्धि होगी।

वृश्चिक राशि

वृष राशि में शुक्र का मार्गी होना आपके वैवाहिक जीवनमें सुखद स्थितियां लेकर आ रहा है।प्रेम संबंधों में तनाव समाप्त होगा। खुशियों की सौगात मिल सकती है। साझेदारी के काम में प्रगति होगी, सहयोगियों से सहयोग प्राप्त करेंगे।

धनु राशि

शुक्र के इस गोचर के दौरान आपको काफी संयम से काम लेना होगा। प्रेमसंबंधों में तनाव हो सकता है। इन दिनों आपके खर्चों पर ध्यान देना होगा। सेहत का ख्य़ाल रखें। स्वास्थ्य में उतार-चढाव की आशंका है।

मकर राशि

शुक्र का मार्गी होना आपके लिए काफी अच्छा रहने वाला है। प्रेम संबंध मधुर होंगे। वैवाहिक जीवन में भी तालमेल काफी अच्छा रहेगा। कुछ सुकुन देने वाली खबरें भी आपको मिल सकती है।

कुंभ राशि

शुक्र का मार्गी होना आपके खर्च बढ़ाने वाला है लेकिन यह खर्च शुभ काम होगा जो शुभ फलदायी होगा। घर को सजाने पर भी खर्च होने की संभावना हैं। कार्यक्षेत्र में प्रगति होगी और इस दौरान अधिकारियों से सहयोग मिलेगा।

मीन राशि

इस दौरान आपको स्वास्थ्य का ख्याल रखना होगा। मानसिक रूप से परेशान रहेंगे और यात्रा के योग बन रहे हैं। ऑफिस में सहकर्मियों से पूरा सहयोग मिलेगा। खर्च में इजाफा होगा लेकिन आय की स्थिति सामान्य बनी रहने से स्थिति नियंत्रण में रहेगी।

एक जुलाई को देव सो जायेंगे, आषाढ़ माह से प्रारम्भ होगा चातुर्मास

0
Dev

हिंदू पंचांग के अंतर्गत प्रत्येक माह की 11वीं तीथि को एकादशी कहा जाता है। एकादशी को भगवान विष्णु को समर्पित तिथि माना जाता है। एक महीने में दो पक्ष होने के कारण दो एकादशी होती हैं, एक शुक्ल पक्ष मे तथा दूसरी कृष्ण पक्ष मे। इस प्रकार वर्ष मे कम से कम 24 एकादशी हो सकती हैं, परन्तु अधिक मास की स्थति मे यह संख्या 26 भी हो सकती है।

Dev

एकादशी के व्रत का सम्वन्ध तीन दिनों की दिनचर्या से है। भक्त उपवास के दिन, से एक दिन पहले दोपहर में भोजन लेने के उपरांत शाम का भोजन नहीं ग्रहण करते हैं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि अगले दिन पेट में कोई अवशिष्ट भोजन न बचा रहे। भक्त एकादशी के दिन उपवास के नियमों का कड़ाई से पालन करते हैं। तथा अगले दिन सूर्योदय के बाद ही उपवास समापन करते हैं। एकादशी व्रत के दौरान सभी प्रकार के अनाज का सेवन वर्जित होता है।

जो लोग किसी कारण एकादशी व्रत नहीं रखते हैं, उन्हें एकादशी के दिन भोजन में चावल का प्रयोग नहीं करना चाहिए तथा झूठ एवं परनिंदा से बचना चाहिए। जो व्यक्ति एकादशी के दिन विष्णुसहस्रनाम का पाठ करता है, उस पर भगवान विष्णु की विशेष कृपा होती है।

श्रीलंका या यूएई करेगा एशिया कप की मेजबानी: PCB

0
Asia_cup

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PCB) ने एक बार फिर साफ किया कि IPL 2020 के आयोजन के लिए Asia Cup को रद्द नहीं किया जाएगा। PCB के सीईओ वसीम खान ने कहा कि Asia Cup का आयोजन इस साल Sri Lanka या UAE में किया जाएगा।

Asia_cup

Wasim Khan ने उन खबरों का खंडन किया कि IPL 2020 के आयोजन के लिए इस साल के Asia Cup को रद्द नहीं किया जाएगा। प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान वसीम खान ने कहा, एशिया कप निश्चित रूप से होगा। पाकिस्तान की टीम इंग्लैंड से 2 सितंबर को वापस आएगी। इसके बाद हम सितंबर-अक्टूबर में Asia Cup आयोजित कर सकते हैं। श्रीलंका में कोरोना वायरस का असर कम रहा है और इसके चलते वहां इस टूर्नामेंट को आयोजित किया जा सकता है। यूएई भी इसकी मेजबानी के लिए तैयार है। वैसे कुछ बातें समय आने पर ही साफ हो पाएंगी। खान ने कहा, यदि टी20 वर्ल्ड कप को स्थगित किया गया तो पीसीबी पहले से ही अक्टूबर-नवंबर की विंडो का उपयोग करने के लिए विकल्पों पर विचार कर रहा है।

अब ‘किल कोरोना’ अभियान चलाएगी सरकार

0
kil_korona

मध्‍य प्रदेश को कोरोना संक्रमण से मुक्त करने के लिए राज्य सरकार अब “किल कोरोना” अभियान चलाएगी। इसके तहत 14 हजार महिला एवं पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ता, आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों की जांच करेंगे। अभियान में कोविड मित्र स्वैच्छिक रूप से काम करेंगे। अभियान की शुरुआत एक जुलाई को भोपाल से होगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी संभागायुक्त और पुलिस महानिरीक्षक से जिलों और संभागों पर निगाह रखने को कहा है।

kil_korona

मुख्यमंत्री ने बुधवार को कोरोना की स्थिति और व्यवस्थाओं की समीक्षा की। सरकार का दावा है कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति में सुधार हो रहा है। देश की आबादी के हिसाब से प्रदेश में छह फीसद रोगी थे, जो अब 1.3 फीसद हैं। इस स्थिति में सुधार को लेकर सरकार ने अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है।

राज्यपाल लालजी टंडन की हालत में सुधार

0
Rajypal

राजधानी के मेदांता अस्पताल में भर्ती मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन की किडनी और हार्ट में सुधार आया है, मगर मांसपेशियों में कमजोरी बनी हुई है। लिहाजा, वेंटीलेटर सपोर्ट अभी बना हुआ है।

Rajypal

अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर डॉ.राकेश कपूर के मुताबिक राज्यपाल लालजी टंडन के स्वास्थ्य में धीरे-धीरे सुधार आ रहा है। उनका लिवर, किडनी और हार्ट अब बिना किसी सपोर्ट के कार्य कर रहे हैं, लेकिन डायबिटीज और मल्टीपल कोमोरबिटीज के कारण मांसपेशियों में कमजोरी है। इसके चलते स्वत: सांस ले पाने में दिक्कत है। ऐसे में उनकी ट्रेकियोस्टोमी की गई है। इसी के जरिये वेंटिलेटर सपोर्ट दिया गया है।

प्रधानमंत्री जन-धन योजना (PMJDY) में ऐसे मिलता है 500 रु. किश्‍त से लेकर 2 लाख का बीमा

0
PMJDY

जन धन योजना के तहत बैंक खाते तो 5 साल से खोले जाते रहे हैं लेकिन इसका महत्‍व अधिकांश लोगों को लॉकडाउन में समझ में आया जब जन धन खाताधारकों को सरकार की ओर से 500 रुपए हर महीने मिलने लगे। लेकिन आज भी कई लोगों को जन धन खातों एवं इससे मिलने वाली अन्‍य सुविधाओं के बारे में ठीक से जानकारी नहीं है।

PMJDY

आज भी लोग इसे अन्‍य बैंकों की तरह सामान्‍य बचत खाता मान लेते हैं। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि जन धन खाते अन्‍य बैंक खातों से किस तरह अलग हैं और इनसे क्‍या फायदे होते हैं। इनके खाते कैसे खोले जाएं, क्‍या दस्‍तावेज जरूरी होते हैं। क्‍या पात्रता है और किन नियम व शर्तों का पालन करना होगा। यहां विस्‍तार से जानिये सब कुछ।

क्‍या है जन धन योजना

वर्ष 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आरंभ की गई प्रधानमंत्री जन-धन योजना (PMJDY) एक राष्‍ट्रीय वित्तीय मिशन है। यह मुख्‍य तौर पर वित्तीय सेवाओं जैसे बैंकिंग/बचत तथा जमा खाते, लोन, बीमा, पेंशन आदि के भुगतान सुनिश्चित करता है। इस योजना के तहत खाता किसी भी बैंक शाखा अथवा व्यवसाय प्रतिनिधि (बैंक मित्र) आउटलेट में खोला जा सकता है। PMJDY पीएमजेडीवाई के बैंक खातों को जीरो बैलेंस के साथ खोला जाता है। हालांकि खाताधारक अगर पासबुक की जांच करना चाहता है तो ऐसे में उसे मिनिमम बैलेंस का नियम पूरा करना होगा।

रेलवे के सर्कुलर से मिले संकेत 15 अगस्त तक नहीं चलेंगी ट्रेनें

0
train

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे सभी नियमित ट्रेनों के लिए 14 अप्रैल तक बुक की गई सभी टिकटों की पूरी बुकिंग राशि वापस करने का निर्णय किया है। रेलवे ने इस बात के संकेत दिए हैं कि अगस्त से पहले तक नियमित यात्री ट्रेन सेवाओं को फिर से शुरू नहीं किया जाएगा। वर्तमान में रेल सिर्फ 230 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को “विशेष ट्रेनों” के रूप में चला रहा है। हालांकि रेल मंत्रालय ने बारंबार कहा है कि किसी भी मांग को पूरा करने के लिए और ज्यादा ट्रेनों के संचालन की संभावना है।

train

रेल मंत्रालय ने सभी जोनों को एक सर्कुलर जारी कर 14 अप्रैल को या उससे पहले बुक किए गए सभी टिकटों को रद्द करने और टिकटों का पूरा रिफंड जेनरेट करने के फैसले की जानकारी दी है। रेलवे ने 120 दिनों के लिए टिकटों की अग्रिम बुकिंग की इजाजत दी थी। वर्तमान नियमों के मुताबिक, यात्रियों को टिकट रद्द करने की आवश्यकता नहीं है, यदि रेलवे ट्रेनों को रद्द करता है और ऑटोमेटिक रिटर्न की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। अभी तक रेलवे ने 30 जून तक ही रेल सेवाओं को बंद करे का अलान किया है। अब महसूस हो रहा है ये समय सीमा और बढ़ेगी।

सुशांत सिंह राजपूत की सामने आई फाइनल पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट

0
sushant

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर चल रही जांच के मामले में आज नया मोड़ आया है। सुशांत की फाइनल पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट आ गई है। इससे पहले 14 जून को सुशांत की मृत्‍यु के बाद अगले दिन घोषित की गई शुरुआती पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट में दम घुटने को सुशांत की मौत की वजह बताया गया था। आज सामने आई फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कुछ और जानकारियां दी गईं हैं। मुंबई पुलिस को अब विसरा रिपोर्ट का इंतजार है।

sushant

शुरुआती पोस्टमार्ट रिपोर्ट में तीन डॉक्टर्स की साइन थी, जबकि आज डन हुई फाइनल रिपोर्ट को 5 डॉक्टर्स ने डिटेल में की गई एनॉलसिस के बाद सबमिट किया है। इस रिपोर्ट के अनुसर फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि सुशांत की शरीर पर कोई ऊपरी चोट नहीं है, ना ही संघर्ष करने का कोई निशान पाया गया। कोई आंतरिक चोट भी नहीं पाई गई है। सुशांत के उनके नाखून साफ थे। आज की इस फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सुशांत की मृत्‍यु को पूरी तरह से एक आत्‍महत्‍या का ही मामला बताया गया है।

Post Office की इस स्कीम में करें निवेश

0

कोरोना महामारी के बीच निवेश करना बेहद सोचा समझा फैसला हो गया है। ऐसे में अपने निवेश पर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न हासिल करने की सोच रहे हैं तो पोस्ट ऑफिस (Post Office) की छोटी बचत योजनाएं (Small Saving Schemes) एक बेहतर विकल्प हो सकती हैं। बैकों में एफडी (Fixed Deposite) पर मिलने वाले ब्याज में लगातार कमी आ रही है। ऐसे में पोस्ट ऑफिस की स्मॉल सेविंग्स स्कीम कई बार बैकों की एफडी से बेहतर रिटर्न दे देती हैं। इसमें पूरा पैसा सुरक्षित रहता है और जमा राशि पर सॉवरेन गारंटी भी होती है।

पोस्ट ऑफिस में टाइम डिपॉजिट अकाउंट (Time Deposite Account) में 1 साल, 2 साल, 3 साल और 5 साल के लिए राशि जमा कर सकते हैं। इसमें फायदा यह है कि यहां बैंक की तुलना में एफडी (FD) पर ब्याज दर 1.40 फीसदी ज्यादा है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में फिलहाल जहां 5 साल की एफडी पर 5.3 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है, वहीं पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट के तहत 5 साल की जमा राशि पर 6.7 फीसदी सालाना ब्याज मिल रहा है।

कैसे मनाया गया देशभर में योग दिवस

0

दुनियाभर में कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच छठवां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पूरे देश और दुनिया में मनाया गया। यह पहली बार है, जब दुनियाभर में कोई सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं हुआ और लोगों ने घरों में बैठकर और सामाजिक दूरी का पालन करते हुए योग किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण योग की आवश्यकता को पूरी दुनिया और अधिक महसूस कर रही है। यदि हमारी प्रतिरक्षा मजबूत है, तो यह बीमारी से लड़ने में मदद करता है। तस्वीरों में देखिए कैसा मनाया गया योग… भारत-चीन की सीमा में लेह लद्दाख से लेकर उत्तराखंड तक आईटीबीपी के जवानों ने योग दिवस पर हजारों फीट की ऊंचाई पर शून्य से नीचे के तापमान में योग अभ्यास किया।

केंद्र सरकार ने हेल्थ वर्कर्स के लिए लागू 50 लाख रुपए की इंश्योरेंस स्कीम को सितंबर तक बढ़ाया

0

केंद्र सरकार ने Covid-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर हेल्थ वर्कर्स के लिए लागू 50 लाख रुपए की इंश्योरेंस स्कीम को 30 सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया है। यह इंश्योरेंस स्कीम 30 जून को समाप्त होने जा रही थी। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज (PMGKP) के तहत सार्वजनिक क्षेत्र की न्यू इंडिया इंश्योरेंस (New India Insurance) ने 22.12 लाख हेल्थ वर्कर्स को यह हेल्थ इंश्योरेंस देने की घोषणा की थी।

यह स्कीम मार्च में घोषित 1.70 लाख करोड़ की PMGKP का हिस्सा थी। इसमें डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल कर्मचारी, साफ-सफाई से जुड़े कर्मचारी और कुछ अन्य लोग इस स्कीम में शामिल है। इसमें वे सभी सामुदायिक स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल हैं जो ड्यूटी के दौरान कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने के बाद पॉजिटिव पाए गए हैं। वित्तमंत्री ने इस स्कीम की घोषणा करते हुए कहा था कि सफाई कर्मचारी, वार्डब्वॉय, नर्स, आशा वर्कर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, तकनीकी स्टाफ, डॉक्टर्स, स्पेशलिस्ट और अन्य हेल्थ वर्कर्स इस इंश्योरेंस स्कीम के तहत आएंगे। उन्होंने कहा था, Covid-19 मरीजों का इलाज करते वक्त यदि किसी भी स्वास्थ्य प्रोफेशनल का निधन होता है तो उसके परिजनों को इस योजना के तहत 50 लाख रुपए की राशि प्रदान की जाएगी। सभी सरकारी हेल्थ सेंटर्स, वेलनेस सेंटर्स और राज्यों और केंद्र सरकार के अस्पतालों को इस स्कीम में कवर किया जाएगा।

विश्‍व में उथल-पुथल ला सकता है सूर्य ग्रहण

0

1 जून को जो सूर्य ग्रहण लग रहा है वह चूड़ामणि योग में लगने जा रहा है। ज्‍योतिष पक्ष के अनुसार यह योग बहुत घटना प्रधान होता है। इस योग में सूर्य ग्रहण घटित होने का अर्थ है कि देश व दुनिया में काफी उथल-पुथल मचने की संभावना है। ज्‍योतिषीय गणना का संकेत है कि इस ग्रहण के बाद बदलाव देखने को मिलेंगे। ये शुभ भी हो सकते हैं और अशुभ भी। यह ग्रहण खण्डग्रास सूर्य ग्रहण मृगशिरा नक्षत्र में प्रारंभ होगा एवं मोक्ष (समाप्ति) आर्द्रा नक्षत्र में होगी। जानिये इस दृष्टि से आकलन क्‍या कहता है।

भारत सहित इतने देशों में दिखाई देगा

आषाढ़ कृष्ण पक्ष अमावस्या रविवार (21 जून 2020) को (चूड़ामणि योग) खण्डग्रास सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई देगा एवं यह मध्य अफ्रीका, दक्षिणी प्रशांत महासागर, हिंद महासागर, चीन ताइवान, अरब क्षेत्रों में, ओमान, पाकिस्तान आदि क्षेत्रों में भी देखने को मिलेगा।

MP से राज्यसभा के लिए सिंधिया, सुमेर सिंह और दिग्विजय सिंह निर्वाचित

0

भोपाल। जैसी की उम्मीद थी मध्य प्रदेश से राज्यसभा में भाजपा को दो और कांग्रेस को एक सीट हासिल हो गई। भाजपा के ज्योतिरादित्य सिंधिया व सुमेरसिंह सोलंकी तथा कांग्रेस के दिग्विजय सिंह शुक्रवार को विजयी घोषित किए गए। कांग्रेस के दूसरे उम्मीदवार फूल सिंह बरैया चुनाव हार गए। उन्हें जीतने के लिए जरूरी मतों से 16 मत कम मिले। सबसे ज्यादा 57 वोट दिग्विजय सिंह को, 56 सिंधिया को और 55 वोट सुमेरसिंह सोलंकी को मिले। बरैया के खाते में 36 वोट आए। दो वोट निरस्त हुए।

मध्य प्रदेश में राज्यसभा की तीन सीटों के लिए शुक्रवार को मतदान किया गया। शाम पांच बजे से मतगणना शुरू हुई और लगभग दो घंटे बाद नतीजे घोषित किए गए। भाजपा को दो सीटों पर जीत मिली है तो कांग्रेस को एक सीट पर संतोष करना पड़ा है। तीन सीटों के लिए चार उम्मीदवार मैदान में थे।

भारत और चीन की सेना में भिडंत

0

चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प के दौरान सोमवार रात को लद्दाख की गलवन घाटी में एक भारतीय सैन्य अधिकारी और दो सैनिक शहीद हो गए। भारत और चीन के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी वर्तमान में लद्दाख क्षेत्र में स्थिति को बदतर होने से रोकने के लिए बैठक कर रहे हैं। भारतीय और चीनी सेनाओं के बीच पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग त्सो, गलवन घाटी, डेमचोक और दौलत बेग ओल्डी में संघर्ष चल रहा है।

बताते चलें कि चीन ने भारत में पैंगोंग त्सो झील के आस-पास फिंगर क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण सड़क के निर्माण और गलवन घाटी में दारबुक-श्योक-दौलत बेग ओल्डी सड़क को जोड़ने का विरोध किया है। नई दिल्ली ने स्पष्ट रूप से कहा है कि यह किसी भी सीमावर्ती बुनियादी ढांचा परियोजनाओं को नहीं रोकेगा। जानते हैं इससे पहले कब-कब भारतीय सैनिकों को चीनी सेना के साथ गतिरोध का सामना करना पड़ा है।

नए बड़े घर के लिए मिलती है ब्रिज होम लोन फैसिलिटी

0

नए घर को खरीदने के लिए डाउन पेमेंट करना है और पुराने घर का अभी सौदा नहीं हुआ है, तो क्या करें। ऐसी स्थिति में आपके काम आ सकता है SBI का ब्रिज होम लोन। क्या आप जानते हैं कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ब्रिज होम लोन क्या और इसका क्या फायदा है? और यदि आप अपने घर को अपग्रेड करने की योजना बना रहे हैं तो यह आपके लिए कैसे उपयोगी हो सकता है? अगर नहीं, तो हम आपको बता रहे हैं।

भारत का सार्वजनिक क्षेत्र का सबसे बड़े राज्य ऋणदाता बैंक एसबीआई उन लोगों को यह अल्पकालिक ऋण प्रदान करता है, जो अपने घरों को किसी बड़े या बेहतर स्थान पर अपग्रेड करने की योजना बना रहे हैं। एसबीआई ब्रिज होम लोन तब उपयोगी होता है, जब मौजूदा प्रॉपर्टी की बिक्री और नई प्रॉपर्टी खरीदने के बीच समय के अंतराल पर धन की कमी होती है। एसबीआई ब्रिज होम लोन फंड की इस कमी को कम करने में मदद करेगा और ग्राहक को अपने मौजूदा घर की जल्दबाजी में कम कीमत में बिक्री करने से बच सकते हैं।

स्‍वयं का घर बना रहे हैं तो Subsidy का फायदा उठाएं

0

स्‍वयं का घर पाना हर इंसान का सपना होता है। लोग इसे लक्ष्‍य बनाकर चलते हैं लेकिन इसे पूरा करने में बहुत लंबा समय लग जाता है। कुछ लोग कम वक्‍त में घर बना लेते हैं। केंद्र व राज्‍य सरकारों द्वारा इसे लेकर समय-समय पर आवासीय योजनाएं चलाई जाती हैं।

इनका लाभ लेकर लोग बड़ी संख्‍या में आवास प्राप्‍त भी कर रहे हैं। लेकिन इस क्रम में सबसे अहम व लोकप्रिय योजना है प्रधानमंत्री आवास योजना। इसे PMAY के नाम से भी जाना जाता है। इस योजना का मुख्‍य आकर्षण इससे मिलने वाली सब्सिडी है। योजना के अंतर्गत पहली बार घर खरीदने वालों को CLSS या क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी दी जाती है। सब्सिडी की राशि 2 लाख 60 हजार रुपए है। इसे हासिल करने की क्‍या प्रक्रिया है, आइये समझते हैं।

यह है योजना का मकसद केंद्र सरकार ने देशवासियों को स्‍वयं का पक्‍का घर दिलाए जाने के मकसद से प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत जो लोग पहली बार घर खरीद रहे हैं, उन्‍हें होम लोन पर ब्याज सब्सिडी दी जाती है। होम लोन के ब्याज पर कमजोर आय वर्ग के लोग 2.60 लाख रुपये का सीधा लाभ मिलता है। इस केंद्रीय योजना का लाभ उठाने के लिए अलग-अलग नियम एवं शर्तें हैं।

उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा विभाग की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं स्थगित

0

राज्य सरकार ने छात्रों को बड़ी राहत देते हुए उच्च शिक्षा विभाग और तकनीकी शिक्षा विभाग की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। तकनीकी शिक्षा विभाग की परीक्षाएं मंगलवार से शुरू होनी थीं। जबकि उच्च शिक्षा विभाग की परीक्षाएं इसी महीने के अंत में शुरू होनी थीं। परीक्षाएं स्थगित करने की वजह कोरोना का तेजी से फैलता संक्रमण है।

सरकार के परीक्षा कराने के निर्णय का प्रोफेसरों ने भी विरोध किया था। साथ ही 22 जून से आंदोलन की चेतावनी भी दी थी। इसके अलावा छात्र संगठन भी परीक्षा कराने का विरोध कर रहे थे।तकनीकी शिक्षा विभाग की अंतिम सेमेस्टर की परीक्षाएं 23 जून से 31 जुलाई के बीच होनी थी। जबकि उच्च शिक्षा विभाग के पारंपरिक कोर्स की परीक्षाएं 29 जून से 31 जुलाई के बीच आयोजित होनी थी। इसे लेकर दोनों विभाग ने दिशानिर्देश भी जारी कर दिए थे। लेकिन कोरोना के संक्रमण तेजी से बढ़ता देख प्रोफेसरों ने इसका विरोध शुरू कर दिया था।

कौन होगा विधायक दल का नेता

0

भोपाल। मध्य प्रदेश में सरकार में रहते कांग्रेस जिस तरह प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर किसी एक नेता का नाम तय नहीं कर पाई थी, उसी तरह अब सत्ता गंवाने पर नेता प्रतिपक्ष तय नहीं कर पा रही है। सरकार बनाते समय विधायक दल ने कमल नाथ को अपना नेता चुना था और वे मुख्यमंत्री बने थे, लेकिन सरकार गिरने के बाद पार्टी विपक्ष में आ गई और आज तक विधानसभा सचिवालय को नेता प्रतिपक्ष की सूचना नहीं दे गई है।

 नेता प्रतिपक्ष को लेकर पार्टी में संशय की स्थिति बनी हुई है, क्योंकि कुछ दिन पहले पार्टी के वरिष्ठ विधायक डॉ. गोविंद सिंह की इस पद पर ताजपोशी होते-होते रह गई थी और मामला टल गया। बताया जा रहा है कि मानसून सत्र के पहले नेता प्रतिपक्ष की ताजपोशी जरूरी है।

कमल नाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद जिस तरह प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) अध्यक्ष को लेकर पार्टी में सवा साल तक जद्दोजहद चलती रही थी, उसी तरह अब सरकार गिरने के बाद पार्टी के लिए नेता प्रतिपक्ष का पद हो गया है। ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके समर्थक प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के लिए लगातार मांग करते रहे थे, लेकिन पार्टी इस पर फैसला ही नहीं कर पाई।

PNB ग्राहकों के लिए खुशखबरी ATM कार्ड बदलना नहीं होगा

0

Punjab National Bank (PNB) में हाल ही में यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स का विलय हुआ है। इस विलय के बाद देश के इस दूसरे सबसे बड़े बैंक PNB में कई तरह के बदलाव हुए हैं। PNB के ग्राहक अपनी चेकबुक, पासबुक और ATM कार्ड को उलझन में चल रहे थे कि क्या इसमें बदलाव होगा या यह जारी रहेगा। बैंक ने ट्वीट के जरिए ग्राहकों की परेशानी को दूर कर दिया।

PNB ने साफ कर दिया कि किसी भी ग्राहक को ATM कार्ड बदलना नहीं होगा और पुराने ATM कार्ड ही पहले की तरह चलते रहेंगे। ग्राहक बगैर किसी अतिरिक्त शुल्क के उसके 13 हजार से ज्यादा ATM का उपयोग कर सकेंगे। यदि किसी ग्राहक को अपना मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी अपडेट या रजिस्टर करना हो तो वो अपने मूल बैंक की किसी भी शाखा में जाकर करा सकते हैं।

इसके अलावा ग्राहक बिना किसी चिंता के वर्तमान पासबुक और चेकबुक का उपयोग करे। यदि किसी प्रकार का बदलाव होगा तो पहले ग्राहकों को सूचित किया जाएगा, उस वक्त तक बिना किसी चिंता के सेवाओं का आनंद उठाए। ग्राहक अधिक जानकारी के लिए लिंक https://tinyurl.com/tkakqsp पर क्लिक कर सकते हैं।

इस साल T20 World Cup आयोजित करने की ऑस्ट्रेलिया के खेल मंत्री को उम्मीद

0

T20 World Cup: इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) अभी तक ऑस्ट्रेलिया में इस साल अक्टूबर-नवंबर में निर्धारित T20 World Cup के बारे में कोई फैसला नहीं ले पाया है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खेल मंत्री Richard Colbeck को इस वर्ल्ड कप के समय पर होने की उम्मीद है। कोरोना वायरस महामारी और यात्रा संबंधी पाबंदियों की वजह से इस T20 World Cup का आयोजन संदिग्ध माना जा रहा है।

खेल मंत्री रिचर्ड कोलबेक ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई सरकार अभी भी टी20 वर्ल्ड कप की मेजबानी करने की योजना बना रही है और देश में कोरोना वायरस पर नियंत्रण पाने में मिली सफलता की वजह से इसके अवसर उजले हो गए हैं। आईसीसी ने मई में अपनी मीटिंग में इस टी20 वर्ल्ड के आयोजन से जुड़े फैसले को 10 जून तक टाला था। 10 जून को हुई बैठक में आईसीसी ने बताया कि अब इस पर जुलाई में फैसला लिया जाएगा।

कोलबेक ने कहा है, ‘फेडरल सरकार टी20 विश्व कप की योजना पर स्थानीय आयोजन समिति और राज्य सरकारों के साथ मिलकर काम कर रही है। महामारी और वायरस के प्रभाव को कम किया गया और इसके परिणामस्वरूप कोरोना वायरस फ्री ऑस्ट्रेलिया के लिए तीन-चरण की रुपरेखा का रोल-आउट हो गया है। इसमें सभी स्तरों पर खेल के आयोजन को शामिल किया गया है।

पीएम मोदी ने मन की बात के जरिये देशवासियों से सुझाव और विचार मांगे

0

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महीने 28 जून को एक बार फिर रेडियो में प्रसारित होने वाले कार्यक्रम ‘मन की बात’ के जरिये देशवासियों को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम के लिए उन्होंने लोगों के सुझाव और विचार मांगे हैं। इस कार्यक्रम के लिए आप भी अपने विचार एवं सुझाव साझा कर सकते हैं, जिनमें से चुनिंदा विषयों को पीएम मोदी अपने कार्यक्रम में शामिल करेंगे।

प्रधानमंत्री ने खुद ने ट्वीट कर देशवासियों से उनकी राय मांगी है। प्रधानमंत्री ने खुद ट्वीट करते हुए लिखा है कि कोरोना संघर्ष को लेकर देशवासी अपने विचार मेरे साथ साझा कर सकते हैं। पीएम ने देशवासियों को अपने संदेश रिकॉर्ड करवाने के लिए एक नंबर भी दिया है। आप 1800-11-7800 पर कॉल करके अपने संदेश रिकॉर्ड करवा सकता है। इसकी फोन लाइन 24 जून तक खुली रहेगी। इसके साथ ही नमो एप या माईगॉव पर लिख सकते हैं।

बैंक खातों में योगी आदित्यनाथ ने 10.48 लाख मजदूरों के ट्रांसफर किए 104.82 करोड़ रुपए

0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) योजना के तहत मजदूरों के प्रत्येक परिवार को 1,000 रुपए की सहायता दी। उन्होंने मजदूरों के 10.48 लाख अधिक परिवारों के बीच 104.82 करोड़ रुपये का ऑनलाइन हस्तांतरण किया। मुख्यमंत्री ने एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान गोरखपुर, वाराणसी, आजमगढ़, झांसी, सिद्धार्थ नगर और गोंडा में कुछ लाभार्थियों से बात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य का श्रम विभाग भी मजदूरों की बेटियों की शादी के लिए एक योजना तैयार कर रहा है।

उन्होंने कहा कि Covid-19 संकट के दौरान उत्तर प्रदेश ने अच्छा काम किया और देश में दूसरों राज्यों के लिए यह एक मिसाल है। उन्होंने कहा कि राज्य के राजस्व विभाग और राहत आयुक्त के कार्यालय ने भी अच्छा काम किया है। हर किसी ने कंधे से कंधा मिलाकर काम किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राज्य सरकार प्रवासी श्रमिकों/ मजदूरों को रोजगार देने के लिए एक प्रवासी आयोग की स्थापना कर रही है। उन्होंने कहा कि Covid-19 महामारी के कारण 35 लाख प्रवासी मजदूरों को प्रतिकूल परिस्थितियों में घर लौटना पड़ा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन के अधिकारियों को स्किल मैपिंग (कौशल मानचित्रण) पूरा करने के बाद प्रवासी मजदूरों के बैंक खाता संख्या की एक सूची प्रदान करनी चाहिए।

बॉलीवुड सुशांत सिंह राजपूत की सुसाइड की खबर सुनकर शॉक्‍ड

0

सुशांत सिंह राजपूत ने आज सुसाइड कर ली। इस खबर से पूरा बॉलीवुड सकते में आ गया है। सुशांत अब नहीं रहे, इस बात पर कोई यकीन नहीं कर पा रहा है। सुशांत ने बांद्रा (Bandra) स्थित अपने घर पर फांसी लगाकर जान दे दी ।

सुशांत के घर में काम करने वाले एक शख्स ने पुलिस को फोन कर के इसकी जानकारी दी। बहरहाल पुलिस मामले की तफ्तीश में जुट गई है और सुशांत की खुदकुशी के पीछे की वजह तलाशी जा रही है। बॉलीवुड के अलावा अन्‍य क्षेत्रों के लोगों सहित आम यूजर्स ने भी सोशल मीडिया पर अपने रीएक्‍शन दिए हैं। बॉलीवुड  की तमाम हस्तियां दुखी हैं। गत 9 जून को उनकी पूर्व मैनेजर ने भी खुदकुशी की थी।

सुशांत सिंह राजपूत की मैनेजर रह चुकीं दिशा सालियान ने सोमवार रात मुंबई की एक बहुमंजिला इमारत से कूदकर जान दे दी थी। आज अचानक सुशांत की खुदकुशी की खबर सामने आई। सभी को सुशांत के इस तरह चले जाने का बेहद दुख है और आश्‍चर्य भी। सुशांत ने ऐसा क्‍यों किया, इसका तो बाद में पता चलेगा लेकिन इस समय बॉलीवुड गम में डूब गया है। जाने माने लोगों ने जो कमेंट्स दिए हैं, उससे पता चलता है कि सुशांत के जाने से कितना बड़ा धक्‍का लगा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की कोरोना वायरस लक्षणों की नई लिस्ट

0

देश में तेजी से बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस महामारी के लक्षणों की नई लिस्ट जारी की है। इसमें गंध (एनोस्मिया) या स्वाद (एगुसिया) की हानि को भी शामिल किया है। यानी अब कोरोना वायरस का हमला होने पर मरीज की सूंघने और स्वाद की क्षमता भी चली जाती है। नई सूची के मुताबिक, बुखार, कफ, थकान, सांस फूलना, सूखी खांसी और डायरिया कोरोना वायरस के लक्षण हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस के लक्षणों की लिस्ट में गंध (एनोस्मिया) या स्वाद (एगुसिया) की हानि को पहले ही शामिल कर लिया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, कई मरीजों को कोरोना संक्रमण होने पर सिर दर्द और आंखों में लगातार दर्द का अनुभव भी हुआ है। पीएम मोदी ने लिया देशभर के हालात जायजा: कोरोना वायरस के रिकॉर्ड तोड़ केस सामने आ रहे हैं और इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार आला अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में देशभर के हालात पर चर्चा हुई। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और बताया कि पीएम ने प्रमुख राज्यों में अस्पतालों, बिस्तरों और आइसोलेशन वार्ड की संख्या का जायजा लिया। पीएम जल्द ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करने जा रहे हैं और लॉकडाउन की आगे की स्थिति पर चर्चा होगी।

क्रिकेटर Vasant Raiji का 100 साल की उम्र में निधन

0

दुनिया के सबसे बुजुर्ग फर्स्ट क्लास क्रिकेटर Vasant Raiji का शनिवार सुबह निधन हो गया। Vasant Raiji 100 साल के थे। Vasant Raiji ने अपना 100वां जन्मदिन महान क्रिकेटरों Sachin Tendulkar और Steve Waugh की उपस्थिति में मनाया था। BCCI ने उनके निधन पर शोक प्रकट किया।

वसंत राजयी ने शनिवार सुबह 2.20 बजे अंतिम सांस ली। उनके दामाद सुदर्शन नानावटी ने बताया कि मुंबई के वाल्केश्वर स्थित अपने घर पर उनका निधन हुआ। उनकी पत्नी पन्ना 95 साल की है। उनकी दो बेटियां भी हैं। वसंत रायजी का जन्म बड़ौदा में हुआ था और वे इस शहर के अलावा रणजी ट्रॉफी में मुंबई के लिए भी खेले थे। इस ओपनर बल्लेबाज ने 9 फर्स्ट क्लास मैचों में 23.08 की औसत से 277 रन बनाए थे। उनका सर्वाधिक स्कोर 68 था जो उन्होंने 1944-45 में बड़ौदा की तरफ से महाराष्ट्र के खिलाफ बनाया था। उन्होंने इस मैच की दूसरी पारी में 53 रन बनाए थे। उनके भाई मदन ने भी रणजी ट्रॉफी में बॉम्बे का प्रतिनिधित्व किया था।

पेट्रोल और डीजल लगातार 7वें दिन महंगा हुआ

0

देश में लॉकडाउन खुलने के बाद से ही तेजी से बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार 7वें दिन इजाफा हुआ है। इससे यह इस बात का दावा किया जा रहा है कि सरकार के पास पेट्रोलियम उत्पादों से राजस्व बढ़ाने के अलावा और कोई चारा नहीं रह गया है। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय बाजार में जब क्रूड की कीमतें एक दिन में 10 फीसद नीचे जा रही हों, तब घरेलू बाजार में पेट्रोल की खुदरा की कीमत लगातार बढ़ रही है। इसी कड़ी में शनिवार को एक बार फिर पेट्रोल 59 पैसे और डीजल 58 पैसे महंगा हो गया है। इसे मिलाकर 7 दिनों में पेट्रोल में 3.90 रुपए प्रति लीटर और डीजल में 4 रुपए प्रति लीटर का इजाफा किया जा चुका है। यह स्थिति तब है जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमत अभी 37-38 डॉलर प्रति डॉलर है। इस तरह से देखा जाए तो चार महीने पहले जब क्रूड 60-65 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर था तब भी आम जनता को पेट्रोल व डीजल इतना महंगा नहीं खरीदना पड़ता।

Ayushmann Khurrana ने पलाश सेन के सामने 2003 में दिया था ऑडिशन

0

सिंगर पलाश सेन ने लगभग 17 साल पुरानी बात याद की है। ये बात Ayushmann Khurrana से जुड़ी है। पलाश ने अपने फेसबुक अकाउंट पर इस बात को साझा किया है। पलाश ने वो दिन याद किया है जब आयुष्मान खुराना का ऑडिशन उन्होंने लिया था। ये 2003 की बात है जब यंग आयुष्मान खुराना के दिल में संगीत की दुनिया में कुछ कर गुजरने का ख्वाब था।

यूफोरिया बैंड के लीड वोकल पलाश सेन के सामने एक सिंगिंग रिअलिटी शो में आयुष्मान खुराना ने गाया था। पलाश ने यह भी याद किया कि कैसे आयुष्मान इस बैंड के लाइव शोज के लिए साथ सफर किया करते थे। पलाश ने आयुष्मान को शुक्रवार को याद किया जब उनकी फिल्म Gulabo Sitabo प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई।

कोरोना कहर से टीम इंडिया के दो दौरे हुए रद्द

0

Coronavirus का कहर कम होने का नाम नहीं ले रहा है। अब इस महामारी की वजह से भारतीय क्रिकेट टीम की दो सीरीज रद्द हो गई। BCCI ने शुक्रवार को घोषित किया कि कोरोना वायरस की वजह से भारतीय क्रिकेट टीम के श्रीलंका और जिम्बाब्वे दौरों को रद्द किया जा रहा है।

Team India को 24 जून से श्रीलंका के खिलाफ तीन वनडे और तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलना थी। इसके बाद उसकी 22 अगस्त से जिम्बाब्वे के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज थी। इससे पहले श्रीलंकाई दौरे के कैंसिल होने की पुष्टि खुद श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड ने की थी। पहले ऐसा माना जा रहा था कि टीम इंडिया अगस्त में श्रीलंका का दौरा कर सकती है लेकिन दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड ने यह फैसला किया कि वर्तमान परिस्थितियों में यह सीरीज हो पाना संभव नहीं है और इसी वजह से इसे रद्द किया गया। बीसीसीआई ने कहा कि वो इस सीरीज को बाद में खेलने के लिए प्रतिबद्ध है।

अपने Aadhaar OTP को कभी किसी से न करें शेयर – UIDAI

0

आधार कार्ड (Aadhaar Card) देश के हर नागरिक के लिए एक अहम दस्तावेज बन गया है। कई सरकारी कामों मे भी इसका इस्तेमाल होने लगा है। आधार कार्ड नंबर से की मदद से कोई काम करने की सूरत में हर बार वैरिफिकेशन के लिए एक OTP नंबर भी आता है। यह नंबर हमेशा रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी पर आता है।

ये ओटीपी नंबर बेहद महत्वपूर्ण होता है और UIDAI इस नंबर को किसी से भी साझा न करने की सलाह देता है। आपका मोबाइल नंबर अगर UIDAI के पास रजिस्टर्ड है तो उसी नंबर पर ओटीपी आता है। UIDAI ने आधार ओटीपी से जुड़ी कई जरूरी जानकारी अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर भी शेयर की हैं।

ओटीपी नंबर न करें साझा

UIDAI ने ट्वीट करते हुए लोगों को सलाह दी है कि वे अपना ओटीपी नंबर किसी से भी साझा करने से बचें। कई बार ऐसा करने पर बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है। UIDAI के अनुसार ओटीपी की मदद से घर बैठे ही आधार से जुड़े कई जरूरी काम निपटाए जा सकते हैं। आधार नंबर की मदद से कोई भी काम करने की सूरत में एक ओटीपी नंबर आता है जो वैरिफिकेशन के लिए आता है। mAadhaar App के इस्तेमाल के लिए भी मोबाइल नंबर का आधार से लिंक होना अनिवार्य है जिस पर ओटीपी आएगा।

देश के सर्वश्रेष्ठ कॉलेज व यूनिवर्सिटी की लिस्ट

0

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने इस रैंकिंग की घोषणा की। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय हर साल NIRF रैंकिंग जारी करता है। इसमें देश के सभी कॉलेज, विश्वविद्यालय, इंजीनियरिंग, मैनेजमेन्ट और अन्य स्ट्रीम के संस्थानों की रैंकिंग की जाती है।

ये रैंकिंग नेशनल इंंस्टिट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क संस्था द्वारा की जाती है और इसके लिए विभिन्न मानक निर्धारित किए गए हैं। इन मानकों में पढ़ाई, लर्निंग एंड रिसोर्सेस, रिसर्च एंड प्रोफेशनल प्रैक्टिस, ग्रेजुएशन आउटकम, आउटरीच एंड इंक्ल्यूसिविटी, परसेंप्शन आदि को शामिल किया गया है। HRD मंत्रालय द्वारा जारी की गई रैंकिंग इस प्रकार है –

ओवरऑल कैटेगरी

IIT मद्रास चेन्‍नई – 1

IISC बेंगलुरु – 2

IIT दिल्‍ली – 3

IIT बॉम्‍बे – 4

IIT खड़गपुर – 5

IIT – कानपुर – 6

JNU नई दिल्‍ली – 7

IIT रुड़की – 8

IIT गुवाहटी – 9

BHU वाराणसी – 10

टॉप 10 शैक्षणिक संस्थान

रैंक – संस्थान

1- IIT मद्रास

2 – IISC बेंगलुरू

3 – IIT दिल्ली

4 – IIT बांबे

5 – IIT खड़गपुर

6 – IIT कानपुर

7 – JNU दिल्ली

8 – IIT रूड़की

9 – IIT गुवाहाटी

10 BHU

टॉप विश्वविद्यालय

रैंक – यूनिवर्सिटी

1 – IISC बेंगलुरु

2 – JNU दिल्ली

3 – BHU वाराणसी

4 – यूनिवर्सिटी ऑफ हैदराबाद

5 – कलकत्ता यूनिवर्सिटी, प. बंगाल

6 – जादवपुर यूनिवर्सिटी, प. बंगाल

7 – अन्ना यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु

8 – अमृता विश्व विद्यापीठम, कोयम्बटूर

9 – मणिपाल एकेडमी ऑफ हायर एजुकेशन

10 – सावित्रीबाई फूले यूनिवर्सिटी पुणे

टॉप इंजीनियरिंग कॉलेज

रैंक – कॉलेज

1 – IIT मद्रास

2 – IIT दिल्ली

3 – IIT बॉम्बे

4 – IIT खड़गपुर

5 – IIT कानपुर

6 – IIT रूड़की

7 – IIT गुवाहाटी

8 – अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई

9 – नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, तिरुचिरापल्ली

मैनेजमेंट कैटेगरी

रैंक – बिजनेस स्कूल

1 – IIM बेंगलुरु

2- IIM अहमदाबाद

3- IIM कोलकाता

4- IIM लखनऊ

5 – IIM इंदौर

6- IIT खड़गपुर

7- जेवियर लेबर रिलेशन्‍स इंस्टिट्यूटए जमशेदपुर

8- IIM कोझिकोड

9 – IIT दिल्‍ली

10- IIT बॉम्‍बे

मेडिकल कैटेगरी

रैंक – संस्थान

1 – एम्‍स नई दिल्‍ली

2 – PGIMER चंडीगढ़

3- क्रिस्‍चियन मेडिकल कॉलेज, वेल्‍लौर

कॉलेज कैटेगरी

रैंक – कॉलेज

1 – मिरांडा हाउस, नई दिल्‍ली

2 – हिंदू कॉलेज, नई दिल्‍ली

3 – प्रेजिडेंसी कॉलेज, चेन्‍नई

4 – सेंट स्‍टीफेन्‍स कॉलेज, नई दिल्‍ली

5 – लेडी श्री राम कॉलेज फॉर वुमन नई दिल्‍ली

6 – लोयोला कॉलेज, चेन्‍नई

7- श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स, नई दिल्‍ली

8 – राम कृष्‍ण मिशन विवेकानंद सेंटेनरी कॉलेज, रहारा

9 – हंस राज कॉलेज, दिल्‍ली

10 – सेंट जेवियर कॉलेज, कोलकाता

आर्किटेक्‍चर कैटेगरी

रैंक – संस्थान

1 – IIT खड़गपुर

2 – IIT रुड़की

3 – नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्‍नॉलजी कालीकट

लॉ कैटेगरी

रैंक – संस्थान

1 – नेशनल लॉ स्‍कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी बेंगलुरु

2 – नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी, नई दिल्‍ली

3 – नलसार यूनिवर्सिटी ऑफ लॉ, हैदराबाद

फार्मेसी कैटेगरी

रैंक – संस्थान

1 – जामिया हमदर्द, नई दिल्‍ली

2 – पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़

3 – नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्‍यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, मोहाली

4 – इंस्टिट्यूट ऑफ केमिकल टेक्‍नॉलजी, मुंबई

5 – बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्‍नॉलजी एंड साइंस, पिलानी

6 – नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्‍यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, हैदराबाद

7 – मनिपाल कॉलेज ऑफ फार्मास्‍यूटिकल साइंसेस, उडुपी

8 – जेएसएस कॉलेज ऑफ फार्मेसी, नीलगिरी

9 – नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ फार्मास्‍यूटिकल एजुकेशन एंड रिसर्च, गांधीनगर

10 – जेएसएस कॉलेज ऑफ फार्मेसी, मैसूर

ICMR सर्वे में सामने आया कि कोरोना हॉटस्पॉट इलाकों में 30 प्रतिशत तक आबादी हुई संक्रमित,

0

देश इस वक्त कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है। कई राज्यों में कोरोना संक्रमण ने जमकर कहर बरपाया है। कोरोना हॉटस्पॉट इलाकों में तो हालत बेहद खराब है, यहां से बड़ी संख्या में मरीज सामने आ चुके हैं।

ICMR सर्वे के मुताबिक शहर के हॉटस्पॉट इलाकों और संक्रमित क्षेत्रों में रहने वाले लोगों में से 30 फीसदी तक अनजाने में ही कोरोना की चपेट में आ चुके हैं और वे इस घातक वायरस से पार भी पाकर ठीक हो चुके हैं। आम लोगों के बीच किए गए Sero-Survery में ये बात सामने आई है। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ICMR ने यह सर्वे देश के 60 जिलों और 6 शहरी हॉटस्पॉट में किया है जिसमें मुंबई, चेन्नई, दिल्ली और कोलकाता शामिल हैं।

Sero-Survey में ब्लड सीरम के अंदर मौजूद कोरोना एंटीबॉडीज की टेस्टिंग की गई। यह देश के 83 जिलों जिसमें 10 हॉटस्पॉट भी शामिल थे वहां किया गया। वैज्ञानिकों ने हर हॉटस्पॉट से 500 सैंपल्स लिए और नॉन हॉटस्पॉट जिलों से 400 सैंपल लिए। लगभग 30 हजार सैंपलों की एंटीबॉडी के लिए ELISA टेस्ट किया गया।

SBI ने ग्राहकों के लिए जारी किया ‘अलर्ट’

0

देश जिस तेजी से डिजिटल इंडिया Digital India की तरफ आगे बढ़ रहा है, उसी रफ्तार से साइबर अपराधों में भी बढ़ोतरी देखी गई है। लोगों की एक छोटी सी चूक भी उन्हें कई बार बड़ा आर्थिक नुकसान पहुंचा देती है। दिन पर दिन धोखाधड़ी के मामलों में भी इजाफा हो रहा है।

इसे देखते हुए देश की सबसे बड़ी सरकारी बैंक एसबीआई (SBI) ने अपने ग्राहकों के लिए एक अलर्ट जारी किया है। बैंक ने ट्वीट करते हुए ग्राहकों को जागरुक किया है, जिसमें उन्हें अनाधिकृत मोबाइल ऐप (Unverified Mobile Apps) का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह भी दी गई है। बता दें कि अनाधिकृत मोबाइल ऐप के जरिये भी अकाउंट में सेंध लगने के लगातार मामले सामने आ रहे हैं।

एसबीआई ने किया ये ट्वीट एसबीआई के आधिकारिक अकाउंट से जारी किए गए ट्वीट में लोगों को सुरक्षित रहने की सलाह देते हुए अनाधिकृत ऐप से बचने का कहा गया है। ट्वीट में लिखा गया है कि ‘कुछ मोबाइल एप्लीकेशन आपकी संवेदनशील जानकारियों के साथ समझौता कर आपकी व्यक्तिगत जानकारी को उजागर कर सकते हैं। SBI आपको ऐप्स के उपयोग संबंधी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी बता रहा है। #SBI#StaySafe #StayVigilant #AapKiSafety #SafetyTips’

केंद्र की अनुमति के बाद भी 5 राज्यों में नहीं खोले गए पूजा स्थल

0
Dharmsthal

केंद्र सरकार की अनुमति के बावजूद कोरोना वायरस के चलते गंभीर हो रहे हालातों को देखते हुए पांच राज्यों ने सोमवार को अपने यहां ASI के तहत आने वाले पूजा स्थलों को नहीं खोला है। ये राज्य हैं महाराष्ट्र, तमिलनाडु, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर और ओडिशा। केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय ने रविवार को भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) के तहत संरक्षित 820 पूजा स्थलों को 8 जून यानी सोमवार से खोलने की अनुमति दे दी थी। लेकिन हालात के मद्देनजर इस बारे में अंतिम फैसला लेने का अधिकार स्थानीय प्रशासन पर छोड़ दिया था।

Dharmsthal

अधिकारियों के मुताबिक इन संरक्षित स्मारकों में तमिलनाडु में 75, महाराष्ट्र में 65, ओडिशा में 46, राजस्थान में 28 और जम्मू-कश्मीर में 9 पूजा स्थल शामिल हैं। इन राज्यों में अब भी कोरोना से हालात सुधरे नहीं हैं, इसलिए स्थानीय प्रशासन इन पूजा स्थलों को अभी बंद रखने का ही फैसला किया गया है।

संस्कृति मंत्रालय ने जिन स्मारकों को खोलने की अनुमति दी थी, उनमें आगरा के 14 स्मारक भी शामिल हैं। लेकिन स्थानीय प्रशासन ने इन्हें भी अभी नहीं खोलने का निर्णय किया है। इनमें ताज महल के अंदर स्थित मस्जिद के साथ ही उसके आसपास की फतेहपुरी मस्जिद और काली मस्जिद भी शामिल है।

अधिकारियों के अनुसार ओडिशा में पुरी स्थित जगन्नाथ मंदिर, लिंगराज, मंदिर, मुक्तेश्वर मंदिर, अनंत वासुदेव मंदिर, प्राचीन शैव केंद्रों और हीरापुर स्थित 64 योगिनी पीठ समेत अन्य कई स्मारकों को 30 जून तक बंद रखने का फैसला किया गया है। राज्य में 30 जून तक लॉकडाउन भी लागू है।

Sona Mohapatra ने भी गा दिया Nit Khair Manga

0
sona

Sona Mohapatra ने वो काम किया है जो आज तक कोई भारतीय महिला कलाकार नहीं कर पाई। पारंपरिक सूफी कव्वाली Nit Khair Manga को यूं तो कई पुरुष संगीत सितारे गा चुके हैं लेकिन भारत में किसी महिला ने इसे नहीं गाया था। अब सोना ने इसे गाया है। इस सूफियाना कलाम को उस्ताद नुसरत फतेह अली खान ने भी गाया था और उनका गाया ज्यादा प्रसिद्ध हुआ।

sona

Sona Mohapatra अब पहली भारतीय महिला गायक बन गई हैं जिन्होंने इस क़व्वाली को एक फंक-फ्यूजन अंदाज में जारी किया है। इस गाने की मेकिंग उनकी डॉक्यूमेंट्री फिल्म “शट अप सोना” में भी शामिल की गई है। इस डॉक्यूमेंट्री को अमेरिका के टोरंटो में सबसे बड़े वृत्तचित्र हॉट डॉक्स समारोह में दिखाया जा रहा है।

जीएसटी रिटर्न SMS से भी भरे जा सकेंगे 

0
GST

कोरोना काल में कारोबारियों को वस्तु व सेवा कर (GST) के मासिक रिटर्न जीएसटीआर -3बी भरने के मामले में बड़ी राहत दी गई है। जिन कारोबारियों की जीएसटी देनदारी नहीं बनती है वे SMS के जरिए ही अपना रिटर्न दाखिल कर सकेंगे। सोमवार से यह सुविधा शुरू हो गई।

GST

केंद्रीय परोक्ष कर एवं सीमा शुल्क बोर्ड (CBIC) के इस फैसले से जीएसटीएन पर पंजीकृत 22 लाख कारोबारियों को फायदा हो सकता है। इन कारोबारियों को हर महीने जीएसटी पोर्टल पर जाकर अपना रिटर्न फाइल करना पड़ता है। अब अगर इनकी देनदारी शून्य है तो उन्हें पोर्टल पर जाकर लॉगइन करने और रिटर्न फाइल करने की जरूरत नहीं होगी। वे सिर्फ एसएमएस भेजकर अपना रिटर्न फाइल कर सकेंगे। कारोबारी एसएमएस भेजने की प्रक्रिया की जानकारी जीएसटी पोर्टल से हासिल कर सकते हैं।

विशेष मोबाइल नंबर से मिलेगी सुविधा

इस नई सुविधा के मुताबिक जिन कारोबारियों पर पूर्व का जीएसटी रिटर्न बकाया नहीं है उन्हें इससे लाभ मिलेगा। ऐसे लगभग 22 लाख रजिस्टर्ड टैक्सपेयर्स हैं। कारोबारियों को ये सुविधा 5 अंकों वाले एक विशेष मोबाइल नंबर के जरिये मिलेगी। अब, NIL करदाताओं को जीएसटी पोर्टल पर लॉग इन करने की जरुरत नहीं है। एक एसएमएस के जरिये भी वे अपना NIL रिटर्न दाखिल कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना में शिक्षित बेरोजगारों को फ्री ट्रेनिंग और नौकरी का अवसर

0
PMKVY

कोरोना महामारी के इस दौर में नौकरियों का संकट पैदा हो गया है। ऐसे में नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए यह बहुत काम की खबर है। यदि आपने तकनीकी शिक्षा प्राप्‍त की है तो आपको अच्‍छे अवसर मिलेंगे। वर्तमान में समय में तकनीकी शिक्षा हासिल कर चुके युवाओं के लिए अनेक शासकीय व गैर शासकीय संस्‍थान रोजगार के अवसर उपलब्‍ध कराते हैं।

PMKVY

हम आपको ऐसी ही एक उपयोगी सरकारी योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। इस योजना का नाम है प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना। यह योजना PMKVY के नाम से युवाओं के बीच लोकप्रिय है। इस योजना का फायदा उठाकर कई शिक्षित बेरोजगार आज नौकरी प्राप्‍त कर चुके हैं। यहां हम आपको इस योजना के बारे में विस्‍तार से सब कुछ बताने जा रहे हैं।

जानिये क्‍या है PMKVY

यह केंद्र सरकार की महत्‍वपूर्ण योजना है। इसे गत 15 जुलाई 2015 को विश्व युवा कौशल दिवस पर लॉन्‍च किया गया था। इसकी शुरुआत से लेकर अभी तक हज़ारों की संख्‍या में युवा इस प्रशिक्षण का लाभ ले चुके हैं। इतना ही नहीं, वे अब अन्‍य लोगों को ट्रेनिंग के लिए प्रेरित करते हैं। इसके अमल के लिए तय स्टीयरिंग समिति द्वारा इसके नियम निर्धारित किए गए हैं और इस समिति के आदेश के अनुसार ही इनमें बदलाव हो सकता है।

कन्‍नड़ एक्‍टर Chiranjeevi Sarja की हार्ट अटैक से मौत

0
Chiranjivi

मनोरंजन उद्योग के लिए बुरा समय थमने का नाम नहीं ले रहा है। बॉलीवुड से पिछले दिनों चर्चित कलाकारों के निधन के बाद आज कन्‍नड़ फिल्‍म इंडस्‍ट्री से ऐसी ही बुरी खबर सामने आई है। कन्नड़ एक्टर चिरंजीवी सारजा ने महज 39 साल की उम्र में ही दुनिया को अलविदा कह दिया। दिल का दौरा पड़ने की वज़ह से उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। हॉस्पिटल में ही उन्होंने आखिरी सांस ली।

Chiranjivi

साल 2020 अभी सिर्फ अपने आधे सफ़र तक पहुंचा है, लेकिन अब तक यह दुःखद ही रहा है। फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए यह बिल्कुल भी अच्छा साबित नहीं हो रहा है। कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन की वज़ह सिनेमाघर बंद हैं। इरफ़ान ख़ान और ऋषि कपूर समेत कई बड़े कलाकारों ने दुनिया का साथ छोड़ दिया। इसके बाद अब एक और बुरी ख़बर सामने आई है। इंडस्ट्री ने अपने एक और एक्टर को खो दिया है।

शनिवार को चिरंजीवी को सीन में दर्द महसूस हुआ। इसके अलावा उन्होंने सांस लेने में भी तकलीफ थी। 7 जून यानी रविवार को चिरंजीवी को दिल का दौरा पड़ा। ऐसे में उन्होंने बेंगलुरू के एक प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। इस हॉस्पिटल में ही एक्टर ने अपनी आखिरी सांस ली। उनके निधन के बाद से फ़िल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ गई। एक्टर्स सोशल मीडिया के जरिए अपनी श्रद्धाजंलि दे रहे हैं।

क्या निजी अस्पताल आयुष्मान भारत की दर पर Covid-19 मरीजों का इलाज करेंगे – SC

0
Ayushman

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को निजी अस्पतालों से पूछा कि क्या वे सरकार की आयुष्मान भारत योजना के तहत निर्धारित शुल्क पर COVID-19 संक्रमित मरीजों को इलाज देने के लिए तैयार हैं। ‘आयुष्मान भारत – प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ का उद्देश्य देश के गरीब और कमजोर व्यक्तियों को स्वास्थ्य सुरक्षा प्रदान करना है।

Ayushman

मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि शीर्ष अदालत सभी निजी अस्पतालों को निश्चित संख्या में COVID-19 रोगियों का मुफ्त में इलाज करने के लिए नहीं कह रही है।

पीठ में जस्टिस एएस बोपन्ना और हृषिकेश रॉय को भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि वे केवल उन निजी अस्पतालों से कुछ निश्चित संख्या में कोरोनोवायरस संक्रमित रोगियों के इलाज के लिए कह रहे हैं, जिन्हें सरकार द्वारा रियायती दरों जमीन दी गई है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गई सुनवाई के दौरान सीजेआई ने कहा कि मैं सिर्फ यह जानना चाहता हूं कि क्या अस्पताल आयुष्मान भारत योजना के तहत तय शुल्क पर कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का इलाज करने के लिए तैयार हैं?

केंद्र की ओर से पेश सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पीठ को बताया कि सरकार समाज के सबसे निचले तबके के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रही है और जो लोग इलाज का खर्च नहीं उठा सकते, वे आयुष्मान भारत योजना के तहत आते हैं। शीर्ष अदालत देश भर के निजी अस्पतालों में COVID-19 के उपचार की लागत को विनियमित करने के लिए एक दिशा-निर्देश दिए जाने की मांग को लेकर लगाई गई याचिका पर सुनवाई कर रही थी।

Digital Payment देश के दूरस्थ इलाकों में अब ऐसे हो सकेगा – RBI

0
UPI

देश में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा लगातार कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में आरबीआई ने एक और निर्णय लिया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने देश के दूरस्थ और अंदरुनी इलाकों में डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए शु्क्रवार को पेमेंट इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फंड (PIDF) को बनाने का ऐलान किया है।

UPI

जिन इलाकों में व्यापारियों के पास UPI, Card, Mobile Wallet और अन्य e-payments के जरिये पेमेंट रिसीव करने की सुविधा नहीं है वहां इसकी मदद से डिजिटल लेन-देन को बढ़ावा दिया जाएगा। आरबीआई को उम्मीद है कि इस कदम से tier-3 से tier 6 के अंतर्गत आने वाले व्यापारियों और उत्तर-पूर्वी राज्यों में पाइंट ऑफ सेल (PoS) इन्फ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा दिया जा सकेगा।

आरबीआई ने कहा कि भारत को सफलता पूर्व Digital India में तब्दील करने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि दूरदराज के इलाकों में इन्फ्रास्ट्रक्चर को और बेहतर किया जाए। आरबीआई की ओर से जारी आधिकारिक बयान में देश में नया पेमेंट इको सिस्टम बनाने और उसे गति देने के लिए आरबीआई को प्रतिबद्ध बताया गया है। इस इको सिस्टम में बैंक अकाउंट, मोबाइल फोन्स, कार्ड आदि शामिल हैं। आरबीआई ने तय किया है कि PIDF को आगे बढ़ाने के लिए शुरुआती तौर पर 250 करोड़ रुपया खर्च किया जाएगा।

भगवान बालाजी मंदिर में रोजाना 6 हजार श्रध्दालुओं को ही मिलेगी दर्शन की अनुमति

0
Tirupati

देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार को थामने के लिए किए गए लॉकडाउन के बाद तिरुपति बालाजी मंदिर को भी श्रध्दालुओं के लिए बंद कर दिया गया था। अब लॉकडाउन में रियायत मिलने के बाद मंदिर प्रबंधन समिति ने इसे श्रद्धालुओं के लिए खोलने का फैसला किया है। तिरुमला पहाड़ी पर स्थित भगवान वेंकटेश्वर का यह मंदिर श्रद्धालुओं के लिए 11 जून से खोल दिया जाएगा, लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए हर रोज श्रद्धालुओं की संख्या सीमित रखी जाएगी। कोरोना वायरस महामारी की वजह से 80 दिनों से ज्यादा समय तक यहां मंदिर दर्शन बंद रखा गया।

Tirupati

6 हजार श्रध्दालुओं को मिलेगी अनुमति

प्राचीन तीर्थस्थल की देखरेख करने वाले तिरुमला तिरुपति देवस्थानम ने शुक्रवार को बताया कि फिलहाल रोजाना सिर्फ 6 हजार श्रद्धालुओं को ही प्रवेश की अनुमति दी जाएगी और कोरोना के मद्देनजर सतर्कता का पालन किया जाएगा। दर्शन के दौरान एक दूसरे से 6 फीट की दूरी का पालन और मास्क पहनने का कड़ाई से पालन किया जाएगा।

तिरुमला में टीटीडी के चेयरमैन वाईवी सुब्बा रेड्डी, कार्यकारी अधिकारी अनिल कुमार सिंघल और अतिरिक्त कार्यकारी अधिकारी एवी धर्मा रेड्डी ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि 20 मार्च से मंदिर में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर लागू हुआ प्रतिबंध 11 जून से हटा लिया जाएगा। रोजाना 13 घंटे के लिए हर घंटे 500 से कम श्रद्धालुओं को अनुमति दी जाएगी। 10 साल के कम उम्र के बच्चे और 65 साल से ज्यादा उम्र के बुजुर्गों को तीर्थस्थल में प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

किसान ने जैविक पद्धति से पराली की बनाई खाद

0
Khad

पंजाब, हरियाणा में धान कटाई के बाद किसान खेत में बचे अवशेष (पराली) में आग लगा देते हैं। उससे उठा धुआं दिल्ली के लोगों के लिए नासूर बन जाता है। भोपाल के एक किसान ने जैविक पद्धति से पराली (नरवाई) की खाद बनाई है। उसकी मदद से देशी प्रजाति के टमाटर और बैंगन की भरपूर पैदावार ले रहे हैं। पर्यावरण के पोषण के इस प्रयास की कृषि विशेषज्ञों ने सराहना की है।

Khad

खरीफ सीजन के विदा होते ही दिल्ली के लोग दमघोंटू वातावरण में रहने के लिए अभिशप्त हो जाते हैं। पाबंदियों के तमाम दावे के बावजूद पंजाब, हरियाणा के खेतों में पराली में आग लगा दी जाती है। धुएं के कारण दिल्ली अघोषित गैस चैंबर बन जाती है।

गंभीर प्रदूषण का कारण बन चुकी पराली का भोपाल के किसान मिश्रीलाल राजपूत ने सकारात्मक समाधान खोज निकाला है। खजूरीकलां निवासी मिश्रीलाल ने छह एकड़ जमीन में धान की खेती की। फसल काटने के बाद बिना जुताई किए तीन एकड़ जमीन में पराली बिछा दी।

RBI लोन पर ब्याज में नहीं दे सकते छूट – सुप्रीम कोर्ट

0
RBI

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने सुप्रीम कोर्ट में यह साफ कर दिया है कि सरकार की घोषणा के मुताबिक वह सावधि कर्ज की मासिक किस्तों में सिर्फ मूलधन की राशि की अदायगी में राहत देने की हालत में है। RBI के मुताबिक ग्राहकों को ब्याज अदायगी में कोई छूट नहीं दी जा सकती।

RBI

वित्त मंत्रालय और RBI ने इस बारे में पहले ही स्पष्टीकरण दे दिया था कि सिर्फ मूलधन की अदायगी की अवधि बढ़ाई जा रही है। लेकिन सुप्रीम कोर्ट में मामला दायर किये जाने पर आरबीआई को फिर स्थिति स्पष्ट करनी पड़ी है।

याचिकाकर्ता गजेंद्र शर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में मामला दायर किया था कि ब्याज दरों में राहत दिए बगैर इस स्कीम का कोई फायदा नहीं है। सुप्रीम कोर्ट ने याचिका को लेकर RBI से पूछा था कि उसकी राहत स्कीम में ब्याज दरों को माफ करने को शामिल क्यों नहीं किया गया है। इस पर आरबीआई की ओर से जवाब दिया गया है कि ब्याज दरों में राहत देने का मतलब बैंकों के फाइनेंशियल हेल्थ और वित्तीय स्थायित्व के साथ समझौता करना होगा। आरबीआई ने ये भी कहा कि अगर छह महीने के लिए ब्याज दरों को माफ किया जाए तो बैंकों पर दो लाख करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा। इसके साथ ही यह बैंक में रकम जमा कराने वाले ग्राहकों के हितों को भी नुकसान पहुंचाएगा।

मध्‍य प्रदेश में राज्यसभा की दो सीटों पर भाजपा की जीत सुनिश्चित

0
Rajysabha

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने प्रदेश की तीन राज्यसभा सीटों में से दो जीतने का दावा किया है। शर्मा ने कहा है कि भाजपा ने पहले से ही इन चुनावों में दो सीटें जीतने का इंतजाम कर रखा था।

Rajysabha

जब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी, तब भाजपा को तीन में से एक सीट ही मिल रही थी। सियासी समीकरण बदलने के बाद राज्यसभा चुनाव को लेकर भाजपा उत्साहित है। शर्मा ने कहा कि उनकी पार्टी राज्य की दो सीटें जीतेगी और बीएसपी, एसपी के साथ निर्दलीय विधायक भी भाजपा उम्मीदवार के पक्ष में वोट देंगे। राज्यसभा चुनावों में हॉर्स ट्रेडिंग की आशंका से शर्मा ने इन्कार किया।उन्होंने कहा कि भाजपा विधायक और कार्यकर्ताओं की ताकत से दोनों सीटें जीतेंगे।

कोई असंतुष्ट नहीं

प्रदेश में कैबिनेट विस्तार में हो रही देरी से फैलते असंतोष पर शर्मा ने कहा कि कोई असंतुष्ट नहीं है। जब भी जरूरत होगी, शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार कर लिया जाएगा। प्रदेश में विधानसभा की 24 सीटों पर होने वाले उपचुनाव की चर्चा करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रशांत किशोर उर्फ पीके के आने से कोई फर्क नहीं पड़ेगा।भाजपा के हर कार्यकर्ता को पीके बताते हुए शर्मा ने कहा कि कांग्रेस का हर दांव इन चुनावों में असफल साबित होगा।

राजभवन परिसर को जल्दबाजी में घोषित किया कंटेनमेंट मुक्त क्षेत्र

0
Rajbhawan

मध्य प्रदेश राजभवन ने अपने परिसर को जल्दबाजी में कंटेनमेंट मुक्त क्षेत्र घोषित कर दिया। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की गाइडलाइन के हिसाब से 21 दिन का कंटेनमेंट प्लान है।

Rajbhawan

कलेक्टर भोपाल के अनुसार यही प्लान लागू है और वे भी मानते हैं कि राजभवन को तकनीकी तौर पर कंटेनमेंट मुक्त नहीं किया गया है। हालांकि राजभवन के जिन 10 लोगों को कोरोना निकला है, उनके घरों में अब कोई नहीं है और न ही किसी का आना-जाना है।

संक्रमित लोगों को अस्पताल और उनके स्वजनों को क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया है। कर्मचारी कॉलोनी स्थित उनके आवास ‘लॉक’ हैं। पूरा क्षेत्र खाली करा लिया गया है, इसलिए एक जून को राजभवन को कंटेनमेंट मुक्त क्षेत्र घोषित कर दिया था। उस क्षेत्र में अब किसी का आना-जाना नहीं है, लेकिन राजभवन द्वारा कंटेनमेंट मुक्त क्षेत्र घोषित करने की कार्रवाई पर सवाल उठने लगे हैं।

चंद्र ग्रहण पांच जून को हो रहा है

0
Chand

इस वर्ष पांच जून को होने वाले चंद्रग्रहण कि जब बात करते हैं, तब यह चंद्र ग्रहण उपछाया चंद्रग्रहण होगा। यानी चंद्रमा, पृथ्वी की हल्की छाया से होकर गुजरेगा। इस दिन ग्रहण का समय 03 घंटे 18 मिनट का होगा। अर्थात 05 जून को रात 11:15 मिनट से शुरु होकर 12:54 मिनट तक चलने वाले चंद्र ग्रहण को तथा उपछाया चंद्रग्रहण को रात के 02:34 मिनट तक देखा जा सकेगा।

Chand

इंदौर के ज्योतिषविद ने बताया कि एशिया, यूरोप, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया के लोग इसे देख सकेंगे और सामान्य चंद्र ग्रहण और छाया चंद्रग्रहण मे अंतर करना मुश्किल होगा। भारत में यह केवल छाया रूप में होगा। चंद्रमा की छाया मलिन होने के कारण यह वास्तविकता में चंद्र ग्रहण न होकर छाया ग्रहण मात्र ही रहेगा।

अलीबाग पहुंचा निसर्ग चक्रवात

0
Nisarg

जिस चक्रवात निसर्ग Cyclone Nisarga के मुंबई से टकराने का इंतजार किया जा रहा था वो अलीबाग पहुंच चुका है। इसके अलीबाग की जमीन से टकराते ही जैसे कयामत आ गई हो। भीषण हवा और पानी ने सबकुछ तबाह करना शुरू कर दिया है। केवल महाराष्ट्र ही नहीं बल्कि इसके आसपास और गुजरात के तटीय इलाकों में भारी तूफानी बारिश हो रही है और हवाएं चल रही है।

Nisarg

मौसम विभाग IMD के अनुसार, Cyclone Nisarga के कारण 100-120 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार वाली हवाएं चलने की आशंका है। फिलहाल हवाओं की रफ्तार इतनी तेज है कि उसके सामने बड़े-बड़े वाहन, पेड़ और मकानों की छतें ताश के पत्ते नजर आ रहे हैं। भारी नुकसान फैलाती तूफानी हवाएं और बारिश आगे बढ़ती जा रही है।

मुंबई में इस Cyclone Nisarga का असर आज शाम तक रहेगा लेकिन इसकी शुरुआत जितनी खतरनाक हुई है उसे देखकर लगता है कि यह भारी तबाही मचाने वाला है। महाराष्ट्र में जहां रायगढ़, मुंबई, अलीबाग, पुणे के अलावा अन्य बड़े शहरों में इसकी वजह से भारी बारिश और तूफानी हवाएं चल रही हैं वहीं गुजरात में भी 159 शहरों में अलर्ट जारी किया गया है और तटीय इलाकों में खासतौर पर नजर रखी जा रही है। हालांकि, तूफानी हवाएं इतनी तेज हैं कि सबकुछ उड़ा ले जाने के लिए आतुर हैं।

United Nations Security Council के चुनाव में भारत की जीत तय

0
UNSC

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के पांच अस्थायी सदस्यों के लिए 17 जून को चुनाव होंगे। फ्रांस द्वारा जून महीने के लिए 15 सदस्यीय परिषद की अध्यक्षता लेने के बाद सोमवार को चुनाव कार्यक्रम जारी किया गया। भारत एक अस्थायी सीट के लिए उम्मीदवार है और इस सीट पर उसकी जीत सुनिश्चित मानी जा रही है, क्योंकि भारत एशिया-प्रशांत समूह की अकेली सीट के लिए एकमात्र उम्मीदवार है।

UNSC

नई दिल्ली की उम्मीदवारी को चीन और पाकिस्तान सहित एशिया-प्रशांत समूह के 55 सदस्यों ने पिछले साल जून में सर्वसम्मति से समर्थन दिया था। भारत के दृष्टिकोण से मतदान पद्धति में कोई भी परिवर्तन उसके अवसरों को प्रभावित नहीं करेगा। पांच अस्थायी सदस्यों का कार्यकाल जनवरी 2021 से शुरू होगा।

परंपरागत रूप से सुरक्षा परिषद के सदस्यों के चुनाव महासभा हॉल में आयोजित किए जाते हैं, जिसमें 193 सदस्य देश गुप्त मतदान करते हैं। हालांकि कोरोना के चलते संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में होने वाली सभी बैठकों को जून के अंत तक स्थगित कर दिया गया है।

प्रदर्शनकारियों को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सेना तैनात करने की धमकी देने के बाद जल उठा न्यूयॉर्क और LA

0
Trump

अमेरिका में अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद शुरू हुई हिंसा बढ़ती ही जा रही है और अब इसकी चपेट में 140 शहर आ गए हैं। प्रदर्शनकारियों की उग्रता को देखते हुए राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चेतावनी दी है कि यदि हिंसा का यह दौर यहीं नहीं रुका तो वह शांति व्यवस्था स्थापित करने के लिए सेना का इस्तेमाल करेंगे। ट्रंप के इस धमकी देने के बाद न्यूयॉर्क (NY) और लॉस एंजेल्स (LA) जल उठा है।

Trump

न्यूयॉर्क में प्रदर्शनकारियों ने मॉल को लूट लिया और आग के हवाले कर दिया। उधर, लॉस एंजेल्स में भी लगातार सातवें दिन हिंसा का दौर जारी रहा है। उधर, ह्यूस्टन के पुलिस चीफ ने कहा कि अगर सकारात्मक बात नहीं बोल सकते, तो मुंह बंद रखें ट्रंप।

इससे पहले व्हाइट हाउस से राष्ट्र को संबोधित करते हुए ट्रंप ने कहा कि फ्लॉयड की बर्बर मौत से अमेरिका के सभी नागरिक दुखी हैं। ट्रंप ने इस बात पर जोर दिया कि इस मामले में न्याय होगा। उन्होंने राष्ट्र को आश्वासन दिया कि वह हिंसा को रोकने और अमेरिका में सुरक्षा बहाल करने के लिए कदम उठा रहे हैं।

Bollywood ने बीते 34 दिन में खोए 11 बड़े नाम

0
Ciinema

2020 जैसा साल तो Bollywood के इतिहास में शायद ही कोई रहा होगा। इस साल के पांच महीने बीत चुके हैं और बीते ढाई महीने से फिल्म इंडस्ट्री का काम पूरी तरह से ठप्प है। ना कोई शूट हो रहा है, ना कोई फिल्म रिलीज हो रही है। कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए हुए लॉकडाउन के कारण इस इंडस्ट्री की तो आर्थिक रूप से कमर ही टूट गई है। एक और तथ्य जो परेशान करने वाला है वो यह कि बीते 34 दिन में इंडस्ट्री ने 11 सेलेब्रिटी खो दी हैं।

Ciinema

सोमवार को संगीतकार Wajid Khan की मौत ने सभी को गमगीन कर दिया। कहा जा रहा है कि कोरोना ने उनकी पुरानी बीमारियोंं को उभार दिया और वो ये जंग हार गए। इस साल के केवल पांच महीने गुजरे हैं और कई सितारे गुजर चुके हैं। एक आंकलन के मुताबिक बीते 34 दिन में 11 फिल्मी हस्तियों की मौत हुई है।

Irrfan Khan की मौत 29 अप्रैल को हुई थी। उनके इंतकाल ने पूरे भारत को चौंका दिया। अगले ही दिन Rishi Kapoor नहीं रहे। वो भी इरफान खान की तरह कैंसर से लड़ रहे थे। 24 घंटे के अंदर ही इन दो सितारों की बिदाई से पूरी फिल्म इंडस्ट्री हिल गई थी।

गीतकार योगेश नहीं रहे। एक से एक गाने उनके खाते में थे। 29 मई को उनका निधन हुआ। रेडी में यादगार रोल करने वाले मोहित बघेल भी 23 मई को जिंदगी की जंग हार गए। 27 साल का यह एक्टर भी कैंसर से लड़ रहा था।

टीवी एक्टर मनमीत ग्रेवाल ने 16 मई को सुसाइड कर लिया। वो नवी मुंबई के खारघर इलाके में रहते थे और कहा जा रहा था कि वो बुरे आर्थिक दौर से गुजर रहे थे। शाहरुख खान की कंपनी से जुड़े रहे अभिजीत को 15 मई को निधन हुआ। इसी तरह आमिर खान के असिस्टेंट Amos भी 12 मई को 60 साल की उम्र में चल बसे। वो आमिर के साथ 25 साल से जुड़े थे।

एक्टर सचिन कुमार ने ‘कहानी घर घर की’ में काम किया था , उन्हें 15 मई को बड़ा हार्ट अटैक आया। वो अक्षय कुमार के कजिन भी थे। एक्टर साई गुंदेवार को फिल्म ‘पीके’ और ‘रॉक आन’ के लिए जाना जाता है। वो भी 10 मई को ब्रेन कैंसर से जंग हारे। 10 मई को ही मशहूर टीवी एक्टर शफीक अंसारी का कैंसर से निधन हुआ।

देश में शेष विश्व के मुकाबले मृत्‍युदर सबसे कम

0
Corona

कोरेाना वायरस पर प्रेस कांफ्रेस करते हुए स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि देश का रिकवरी रेट लगातार बेहतर हो रहा है, सोमवार को 3708 लोग रिकवर हुए हैं, उसी के साथ रिकवर होने वाले मरीजों की कुल संख्या 95,527 हो गई है। हमारा रिकवरी रेट 48.07 फीसद है।

Corona

हमारा रिकवरी रेट 15 अप्रैल को 11.42 फीसद था, जो 3 मई को बढ़कर 26.59 फीसद हो गया और 18 मई को वही बढ़कर 38.39 फीसद हो गया और वर्तमान में यह 48.07 फीसद है। वहीं दूसरी ओर 15 अप्रैल को देश में कोरोना मामलों की मृत्‍यु दर करीब 3.3 फीसद था अब वह घटकर सिर्फ 2.82 फीसद रह गई है, पूरी दुनिया में मृत्‍यु दर पर गौत करें तो यह 6.13 फीसद है।

लव अग्रवाल ने बताया कि कोरोना संक्रमण के मामले में देश भले ही सातवें नंबर पर है, लेकिन अन्य देशों की जनसंख्या की तुलना में भारत की आबादी काफी ज्यादा है। ऐसा विश्‍लेषण संदेहास्‍पद तुलना पेश करता है। इसकी तुलना हमारी जनसंख्या के हिसाब से होनी चाहिए। हम बाकी देशों से बहुत बेहतर स्थिति में हैं। हमारे देश में फिलहाल काफी स्थिरता है। आज के डेटा के अनुसार 14 देश जो हमारे देश की आबादी से मिलते जुलते हैं, वहां करीब 22 प्रतिशत ज्यादा केस सामने आए हैं और 55 फीसद ज्यादा मौतें हुई हैं।

100 ट्रेनें 1 जून से चलेंगी

0
Railway

1 जून से देश में 100 ट्रेनें चलाई जाएंगी। इनके लिए टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग IRCTC की वेबसाइट के ज़रिये हो रही है। रेलवे ने इन 100 ट्रेनों के नामों की सूची भी जारी की है। इन ट्रेनों में अधिकतम 30 दिन आगे तक का वेटिंग टिकट लेना मान्‍य होगा। Waiting वेटिंग और आरएसी RAC का टिकट भी नियमानुसार मिलेगा, लेकिन वेटिंग वालों को यात्रा की अनुमति नहीं मिलेगी।रेलवे ने यह भी स्पष्ट किया है कि इनमें एसी, नॉन एसी और जनरल सभी तरह के कोच होंगे। मंगलवार को केवल नॉन एसी ट्रेनों के चलने की बात कही गई थी।

Railway

.रेलवे द्वारा जारी सूची में दुरंतो, संपर्क क्रांति, जन शताब्दी और पूर्वा एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों के नाम हैं। रेलवे ने इस मामले में यह बिल्‍कुल स्पष्ट किया है कि बगैर रिजर्वेशन के किसी को भी यात्रा की परमिशन नहीं होगी। यहां तक कि जनरल कोच (सामान्‍य श्रेणी) के लिए भी टिकट बुक किया जाएगा। इसके लिए यात्री को सेकेंड सीटिंग का किराया चुकाना होगा। बदले में उसे एक आरक्षित सीट मिलेगी। अन्य सभी श्रेणी में किराया सामान्य ट्रेनों जैसा ही रहेगा।

शर्तें और नियम

– 100 जोड़ी यात्री ट्रेनों का संचालन पहली जून से

– आज सुबह 10 बजे से शुरू होगी ट्रेनों की बुकिंग

– सूची में दुरंतो, संपर्क क्रांति, जन शताब्दी जैसी ट्रेनें

– एसी, नॉन-एसी, जनरल सभी तरह के कोच होंगे

– बिना रिजर्वेशन यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी

– एसी और नॉन एसी दोनों कोच होंगे।

– IRCTC की वेबसाइट पर सुबह 10 बजे से केवल ऑनलाइन बुकिंग गुरुवार (21/05/20) से शुरू होगी।

– कोई अनारक्षित टिकट जारी नहीं किया जाएगा। बैठने के लिए आवंटित सीटों के साथ जनरल कोच भी आरक्षित होंगे

– एआरपी 30 दिन का होगा।

– आरएसी और प्रतीक्षा सूची के टिकट उपलब्ध होंगे।

– कोई तत्‍काल और प्रीमियम तत्‍काल बुकिंग नहीं होगी।

– वर्तमान आरक्षण ट्रेन के निर्धारित प्रस्थान से पहले 2 बजे तक ऑनलाइन उपलब्ध होगा।

– प्रतीक्षा-सूची वाले यात्रियों को बोर्ड / यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी।

– फूड प्लाजा सहित स्टेशन के सभी स्टॉल खोले जाएंगे लेकिन केवल आर्डर वाला भोजन ही उपलब्‍ध होगा।

जनता को EPFO, ESIC और श्रम मंत्रालय ने दी बड़ी राहत

0
EPF

EPFO (कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन), ESIC (कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम) PIB (प्रेस इंफॉर्मेशन ब्‍यूरो) और Ministry Of Labour (केंद्रीय श्रम मंत्रालय) ने अपने ताजा फैसलों में आम जनता को बड़ी राहत देने वाले ऐलान किए हैं। इन घोषणाओं से देश के लाखों कर्मचारियों, सदस्‍यों को फायदा होगा।

EPF

इसमें PF खाते में बैलेंस चेक करना, पैसे की निकासी करने संबंधी प्रक्रिया, ESIC में रजिस्‍टर्ड सदस्‍यों के लिए चिकित्‍सा संबंधी नई योजनाओं, सुविधाओं की जानकारी, कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिए उपाय, कोरोना संबंधी अफवाहों का खंडन और फैक्‍ट चेक, तथ्‍यपूर्ण जानकारी, UAN जारी करने एवं इससे जुड़ी अहम सूचना, ईएसआईसी अस्‍पतालों की सेवाएं बहाली की तारीख, रजिस्‍टर्ड सदस्‍यों को मिलने वाले कैश बेने‍फिट की जानकारी, ESIC द्वारा तय किए गए कोविड-19 अस्‍पतालों में इलाज संबंधी उठाए गए मुख्‍य कदम आदि अनेक घोषणाओं की जानकारी शामिल है।

ये हैं मुख्‍य घोषणाएं

– ईएसआईसी केंद्र को सभी चिकित्सा उपकरणों और अन्य सुविधाओं से पूरी तरह सुसज्जित करने की व्यवस्था कर रहा है।

– सरकार ने अहम घोषणा की है कि 10 से कम कर्मचारियों वाले संभावित रूप से खतरे के स्‍थान वाले उद्योगों में कर्मचारियों को ईएसआईसी के तहत कवर करना होगा। केंद्र सरकार द्वारा अधिसूचना के माध्यम से इसे अनिवार्य किया गया है।

– अक्टूबर, 2019 से मार्च, 2020 तक ईएसआईसी के योगदान अवधि के लिए नियोक्ताओं को योगदान जमा करने के लिए अब 11.06.2020 तक करने की अनुमति दी गई है।

– ईएसआईसी अस्पतालों की सेवा पुनः आरम्भ हो चुकी है। ऐसे ईएसआईसी अस्पताल और डिस्पेन्सरी जो कोविड-19 के इलाज से संबंधित नहीं हैं और कोविड-19 महामारी के कारण जिनकी सेवाओं में कटौती की गई थी, उनकी सभी बाधित सेवाओं को दिनांक 5 मई 2020 से पुनः आरम्भ कर दिया गया है।

लॉक डाउन मध्‍य प्रदेश में 30 जून तक

0
Lockdown

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में भी 30 जून तक लॉक डाउन जारी रहेगा। कंटेनमेंट क्षेत्र में प्रतिबंध जारी रहेंगे। आवश्यक गतिविधियों को छोड़कर पूरे प्रदेश में रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा। इसकेे अलावा राज्य में तथा राज्य के बाहर आने जाने वालों के लिए किसी प्रकार के पास की आवश्यकता नहीं होगी।

Lockdown

प्रदेश में अंतर राज्य बसों का संचालन 7 जून तक बंद रहेगा इसके बाद इस पर निर्णय लिया जाएगा। राज्‍य में अनाज खरीदी की तारीख 30 जून कर दी गई है। किसानों को कर्ज चुकाने की तारीख भी 30 जून कर दी गई है। मध्‍य प्रदेश में लॉक डाउन के पांचवें चरण और दिशा निर्देश के संबंध में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने रविवार रात प्रदेशवासियों को संबोधित किया।

बिजली के बिलों में मिलेगी राहत

सीएम ने गरीब लोगों के बिजली बिलों के संबंध में भी स्थिति स्‍पष्‍ट करते हुए कहा कि ऐसे लोगाें को रियायत दी जाएगी। वहीं आम लोगों के अधिक राशि के अन्‍य बिलों की भी जांच होगी और आधी राशि ही जमा करवाई जाएगी।

ये अनुमतियां मिलेंगी

इंदौर, उज्जैन और भोपाल संभाग सहित पूरे प्रदेश में फैक्ट्री के संचालक और निर्माण कार्यों में लगे मजदूरों के परिवहन हेतु व संचालन करने की अनुमति होगी

प्रदेश के अंदर दैनिक परिवहन की बसें इंदौर उज्जैन और भोपाल को छोड़कर अन्य सभी संभागों में 50% क्षमता के साथ संचालित हो सकेंगी

इंदौर, उज्जैन, नीमच और बुरहानपुर के नगरीय क्षेत्रों के बाजार की एक चौथाई दुकानें बारी-बारी से खुलेगी वहीं भोपाल के बाजारों की एक तिहाई दुकानें बारी-बारी से खुलेंगे

देवास, खंडवा नगर निगम तथा धार एवं नीमच नगर पालिका क्षेत्र की आधी-आधी दुकानें बारी-बारी से खुलेंगी परंतु स्टैंडअलोन दुकानें व मोहल्ले की दुकानें प्रतिबंध से मुक्त रहेगी। इसके अलावा शेष प्रदेश में दुकानों के खुलने पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा

विवाह समारोह में मेहमानों की संख्या 50 से अधिक नहीं होगी और अंतिम संस्कार के दौरान 20 व्यक्तियों से अधिक लोग नहीं रहेंगे।

कंटेंटमेंट एरिया के बाहर 8 जून से यह गतिविधियां शुरू हो जाएंगी

धार्मिक स्थल, सार्वजनिक स्थान, पूजा स्थल, शॉपिंग मॉल, होटल, रेस्तरां, शैक्षणिक संस्थाएं बंद रहेंगी लेकिन 12वीं की परीक्षाओं के लिए स्कूल खोले जाएंगे। स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्‍थान खोले जाने का निर्णय सबके परामर्श के बाद जुलाई में लिया जाएगा।

सभी क्षेत्रों में प्रतिबंधित गतिविधियां

सिनेमा हॉल, व्यायामशाला, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, सभा कक्ष, मैरिज गार्डन।

सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्य व अन्य बड़ी सभाएं।

इंदौर, उज्जैन और भोपाल नगर निगम क्षेत्र में सरकारी और प्राइवेट कार्यालय में 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ तथा शेष प्रदेश में 100 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ खोले जाएंगे।

कुछ प्रमुख बिंदु

1. प्रवासी मजदूरों के कल्याण के लिए प्रवासी मजदूर कमीशन बनाया जाएगा। हर प्रवासी मजदूर का कार्य के लिए बाहर जाने से पहले कलेक्टर के पास रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा, जिससे वह जहां भी जाए उसका ध्यान रखा जा सके।

2. महिला स्व-सहायता समूहों के लिए कम ब्याज पर ऋण दिलाने की योजना प्रारंभ की जाएगी।

3. छोटे व्यवसायियों को बैंकों को माध्यम से 10 हजार तक का ऋण बिना गारंटी के दिलवाया जाएगा, जिसमें 07 प्रतिशत ब्याज सरकार देगी।

4. चने में 02 प्रतिशत तक तिवड़ा होने पर उसकी समर्थन मूल्य पर खरीदी की जा सकेगी।

5. किसानों को गत वर्ष का फसल ऋण चुकाने की तिथि 31 मई के स्थान पर अब 30 जून होगी।

6. शहरी क्षेत्रों के विकास के लिए 330 करोड़ रूपए की राशि तथा स्मार्ट सिटी योजना में 500 करोड़ की राशि जारी की जाएगी।

7. आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश की योजना तैयार कर शीघ्र ड्राफ्ट प्रस्तुत किया जाएगा।

8. बिजली बिलों में विभिन्न प्रकार की रियायतें दी जायेंगी।

राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड के लिए क्रिकेटर रोहित शर्मा नामांकित

0
Rohit

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने क्रिकेटर रोहित शर्मा को 2020 के राजीव गांधी खेल रत्न अवार्ड के लिए नामांकित किया है।

Rohit

इसके साथ ही ईशांत शर्मा, शिखर धवन और दिप्ति शर्मा को अर्जुन अवार्ड के लिए नामांकित किया है।

लॉकडाउन मध्यप्रदेश में 15 जून तक बढ़ा – मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

0
Lockdown

मध्यप्रदेश में लॉकडाउन 15 जून तक बढ़ा दिया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खुद इसकी घोषणा कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश में लगातार कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है, इसी के चलते प्रदेश सरकार ने यह फैसला लिया है। फिलहाल मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 7645 पर पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में ही कोरोना संक्रमण के 192 नए केस मिले हैं। गौरतलब है कि मध्यप्रदेश में कोरोना की वजह से अभी तक 334 लोगों की जान जा चुकी है, वहीं 4269 लोग कोविड-19 से ठीक भी हो चुके हैं।

Lockdown

मप्र में लॉकडाउन-5 की गाइडलाइन को लेकर फिलहाल खुलासा नहीं हुआ है। हालांकि संभावना जताई जा रही है कि रात सात से सुबह सात बजे तक कर्फ्यू फिलहाल बरकरार रहेगा। संक्रमित क्षेत्रों के बाहर लोक परिवहन सीमित मात्रा में सावधानियों के साथ शुरू किया जा सकता है। सिनेमाघर, रेस्टोरेंट, मॉल, होटल, कोचिंग संस्थान, शैक्षणिक संस्थान और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर प्रतिबंध यथावत रहने की संभावना है।

ICMR ने Unlock 1 का ऐलान होते ही राज्यों को दिया बड़ा आदेश, अब नहीं बचेगा कोरोना

0
Unlock

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग को आगे बढ़ाते हुए केंद्र सरकार ने Unlock 1 का ऐलान किया है। इस ऐलान के ठीक बाद ICMR यानी भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने सभी राज्य सरकारों को अधिक से अधिक लोगों पर एंडीबॉडीज टेस्ट करने का आदेश दिया है।

Unlock

ICMR का मानना है कि जितने अधिक लोगों पर यह टेस्ट होगा, उतने मरीजों का पता चलेगा और उनका इलाज किया जा सकेगा, क्योंकि आशंका है कि अभी भी देश में कई लोग कोरोना वायरस लेकर घुम रहे हैं, लेकिन लक्षण न होने के कारण पकड़ में नहीं आ रहे हैं। इस एंडीबॉडीज टेस्ट के अभियान के तहत किराना दुकानदारों, पत्रकारों, बैंक और पोस्ट ऑफिसकर्मियों के साथ ही हवाई सेवा से जुड़े कर्मचारियों के टेस्ट शामिल हैं।

बाजार 1 जून से, 8 जून से खुलेंगे धार्मिक स्थल, होटल-रेस्टोरेंट और मॉल

0
Lock

कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग में पूरे देश में नई गाइडलाइन का ऐलान कर दिया गया है। हालांकि सरकार ने इसे Lockdown 5.0 के बजाए Unlock 1.0 नाम दिया है। नई गाइडलाइन 30 जून तक के लिए जारी गई है। इस दौरान अलग-अलग चरण में छूट दी जाएगी। पहले चरण में 8 जून से धार्मिक स्थल खोलने की अनुमति दी गई है। होटल रेस्त्रां खुलेंगे। शॉपिंग मॉल भी खुल जाएंगे। सुबह 9 बजे से 5 बजे तक ही कर्फ्यू रहेगा। इसके बाद Unlock का दूसरा चरण लगाया जाएगा और स्कूल कॉलेज खोलने की अनुमति दी जाएगी। 8 जून से लागू होने वाले Unlock 1.0 में शादी ब्याह के लिए अनुमति नहीं दी गई है। शादी में 50 से ज्यादा मेहमान की अनुमति नहीं होगी।

Lock

अब सिर्फ कोरोना के कंटेनमेंट जोन तक ही लॉकडाउन सीमित रहेगा। गृह मंत्रालय ने 30 जून तक के लिए जारी नई गाइडलाइंस में तीन चरणों में प्रतिबंधों को हटाने का खाका पेश किया है। पहले चरण में आठ जून से धार्मिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट और मॉल को खुल जाएंगे। दूसरे चरण में स्कूलों, कालेजों व अन्य शिक्षण संस्थानों को जुलाई से खोला जाएगा। तीसरे चरण में मेट्रो, सिनेमा हॉल, जिम, स्विमिंग पूल समेत अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा को खोला जाएगा, लेकिन इसकी तारीख अभी तय नहीं हुई है।

Unlock के होंगे तीन चरण

Unlock 1: 8 जून से धार्मिक स्थल, होटल रेस्त्रां, शॉपिंग मॉल खोलने की अनुमति दी जा चुकी है। लोग एक राज्य से दूसरे राज्य जा सकते हैं। नाइट कर्फ्यू अब रात 7 से सुबह 7 बजे के बजाए रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक।

Unlock 2: स्कूल, कॉलेज, कोचिंग इंस्टिट्यूट खोले जाने पर फैसला होगा।

Unlock 3: इंटरनेशनल फ्लाइटों, मेट्रो रेल सेवाओं, सिनेमा हॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और बाकी जगहों को खोने जाने पर फैसला होगा। इसी चरण में सामाजिक, राजनीतिक रैलियां, स्पोर्ट्स इवेंट, अकादमिक और सांस्‍कृतिक कार्यक्रम, धार्मिक समारोह और बाकी बड़े जमावड़े की अनुमति देने पर भी विचार होगा।

Income Tax के फार्म में हुआ बड़ा बदलाव 1 जून से

0
INCOME_TAX

केंद्र सरकार ने लॉकडाउन के कारण Income Tax Return दाखिल करने की तारीख आगे बढ़ा दी है और इसका फायदा सभी को होने वाला है। आप अगर इन दिनों तय समय पर Income Tax आयकर भरने की तैयारी कर रहे हैं तो एक बेहद ही जरूरी बात जान लें। दरअसल, CBDT यानि सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने एक फार्म में बड़ा बदलाव किया है और यह नया फार्म 1 जून से प्रभावी होगा। 26AS फार्म ऐसा फार्म है जो आयकर रिटर्न के लिए जरूरी होता है और यह आपका सालाना टैक्स स्टेटमेंट भी कहा जाता है।

INCOME_TAX

इस नए फार्म को आप आयकर विभाग की वेबसाइट से अपने पैन नंबर की मदद से डाउनलोड कर सकते हैं। इस फार्म में आप उन सभी टैक्स का जिक्र कर सकते हैं जो आपने अपने आमदनी के अलावा आपकी कमाई पर किसी व्यक्ति या संस्था द्वारा काटा गया हो।

क्या है फार्म 26AS

इसमें आपके द्वारा चुकाए गए टैक्स की जानकारी होती है साथ ही अगर आपने ज्यादा टैक्स चुका दिया है और आप उसका रिफंड फाइल करना चाहते हैं तो इसमें भी इसका जिक्र होता है। इसके अलावा किसी वित्त वर्ष में आयकर रिफंड मिलता है तो उसकी जानकारी भी होती है। इस फार्म में जो संशोधन किए गए हैं उसके बाद अब इसमें प्रॉपर्टी के अलावा शेयर्स के लेन देन को लेकर भी जानकारी होगी। अब इसमें TDS, TCS के अलावा कुछ तय लेनदेन, टैक्स का भुगतान और दूसरी चीजें शामिल की गई हैं।

बिजली की दर में केंद्र सरकार ने किया नियमों बदलाव

0
Electricity

केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना के बाद ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में लोगों को सस्ती बिजली मिलेगी। मंत्रालय ने पावर प्लांटों में धुले कोयले के उपयोग की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है। इससे पहले धुले कोयले से ही बिजली बनाने की अनिवार्यता थी। नियमों में बदलाव करने के साथ ही पर्यावरण मंत्रालय ने भी यह स्वीकार किया है कि वॉश कोल के उपयोग से बिजली उत्पादन मंहगा हो जाता है। नई व्यवस्था के तहत अब कोयला खदानों से कोयला निकलकर सीधे पावर प्लांटों में पहुंचेगा और इसी कोयले से बिजली का उत्पादन होगा।

Electricity

ताप विद्युत संयंत्रों को भी कोयला खदानों से निकले कोयले के उपयोग से खर्च में कमी आएगी। ऐसा माना जा रहा है कि इससे आम उपभोक्ताओं को भी लाभ मिलेगा। कोयला खदानों से कोल वॉशरी और फिर वहां से धुले कोयले को पावर प्लांटों में परिवहन किए जाने के कारण पर्यावरण भी काफी तेजी के साथ प्रदूषित हो रहा था। इस पर अब प्रभावी तरीके से अंकुश लगेगा।

आमतौर पर सड़क व रेल मार्ग से कोयले का परिवहन किया जाता है। रेल मार्ग से कम और सड़कों के जरिए कोल का परिवहन सबसे ज्यादा होता है। कोल परिवहन में पर्यावरण एवं प्रदूषण मंत्रालय द्वारा जारी एडवाइजरी का भी पालन नहीं किया जा रहा है। इसका दुष्परिणाम ये हो रहा है कि वायु प्रदूषण मानक स्तर से ज्यादा हो रहा है। खुले वाहन में कोल परिवहन के कारण कोयले का कण भी हवा में तेजी के साथ उड़ते रहता है।

पानी के दोहन पर लगेगी रोक, प्रदूषण का कम होगा स्तर

जारी अधिसूचना में कोयला मंत्रालय ने यह भी खुलासा किया है कि वॉशरी में कोयले की धुलाई के दौरान पर्यावरण को चौतरफा नुकसान उठाना पड़ रहा है। कोयले की धुलाई के लिए पानी की भारी मात्रा की आवश्यकता होती है। वॉशरी परिसर में 25-25 हॉर्सपावर के मोटर पंप के जरिए भूजल से पानी खींचा जाता है। भूजल का दोहन के कारण जल स्तर में भी तेजी के साथ गिरावट आते जा रही है। कोयले के कीचड़ और उड़ते कोयले के कण भी पर्यावरण को तेजी के साथ प्रदूषित कर रहा है।

ज्योतिषी बेजान दारुवाला का निधन

0
daruwala

देश के मशहूर ज्योतिषी बेजान दारुवाला का कोरोना से निधन हो गया है। अहमदाबाद के अपोलो अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। वे 90 साल के थे। उनके निधन से ज्योतिष शास्त्र में एक बड़ी क्षति पहुंची है। बेजान दारुवाला ज्योतिष शास्त्र के अतिरिक्त वास्तु और मौसम विज्ञान के जानकार थे। इन विषयों पर उन्होंने कई पुस्तकें भी लिखी थी। उनकी तबीयत खराब होने से 22 मई के दिन अहमदाबाद के अपोलो अस्पताल में भर्ती काराया गया था। मनपा ऩे उनका नाम कोरोना पॉजिटिव लिस्ट में शामिल किया था। उनके बेटे ने बताया कि शाम पांच बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

daruwala

ज्योतिषी बेजान दारुवाला का जन्म मुंबई में एक पारसी परिवार में हुआ था। बेजान दारुवाला ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सहित फिल्मी दुनिया महानायक अमिताभ बच्चन और सचिन तेंदुलकर सहित बड़ी हस्तियों के बारे में भविष्यवाणी की थी। दारुवाला दुनिया भर में कई समाचार पत्रों, पत्रिकाओं, टेलीविजन चैनलों और प्रकाशन गृहों से जुड़े रहे हैं। वे ज्योतिष को सीखने और इसकी प्रैक्टिस करने के क्रम में सक्रिय रूप से शामिल थे। उनके प्रैडिक्‍शन ने कई लोगों के जीवन को बदल दिया। उन्होंने अपने ग्रहों के विस्तृत विश्लेषण और दुनिया पर इसके प्रभावों की भविष्यवाणी के माध्यम से दुनिया भर में विश्वास अर्जित किया जो उनकी साख बन गया था। माना जाता है कि उनकी भविष्‍यवाणी सटीक हुआ करती थी।

0
Ajit

रायपुर। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी (Ajit Jogi) का आज दोपहर लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। बीते 9 मई को कार्डियक अरेस्ट के बाद उन्हें रायपुर के श्री नारायण अस्पताल में भर्ती किया गया था। इसके बाद से वे लगातार कोमा में थे। डॉक्टरों के अनुसार शुक्रवार दोपहर उन्हें फिर से कार्डियक अरेस्ट आया। डॉक्टरों के हरसंभव प्रयासों के बावजूद उन्हें बचाया नहीं जा सका। जोगी ने करीब 3.30 बजे आखिरी सांस ली।

Ajit

शनिवार को अंतिम संस्कार

अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी ने ट्विटर पर पूर्व सीएम की मौत की खबर की पुष्टि की। उन्होंने यह भी बताया कि अंतिम संस्कार शनिवार को अजीत जोगी के जन्मस्थान गोरैला में होगा।

इस साल T20 World Cup का आयोजन जोखिम भरा: क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया

0
T-20

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने शुक्रवार को स्वीकारा कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस साल T20 World Cup का आयोजन संदिग्ध बना हुआ है। CA का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया में इस साल T20 World Cup नहीं होने की स्थिति में बोर्ड को बड़ा आर्थिक नुकसान होगा। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) की गुरुवार को हुई बोर्ड मीटिंग में T20 World Cup के बारे में कोई फैसला नहीं हो पाया था और इसे 10 जून तक के लिए टाल दिया गया था।

T-20

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कार्यकारी केविन रॉबर्ट्स ने कहा कि T2O World Cup के संभावित स्थगन से बोर्ड को करीब 8 करोड़ डॉलर का नुकसान उठाना पड़ेगा। वैसे कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए इस टूर्नामेंट को आयोजित करना बहुत जोखिमभरा हो सकता है।

रॉबर्ट्स ने बताया कि यदि टी20 वर्ल्ड कप समय पर नहीं हुआ तो CA को 2 करोड़ डॉलर का नुकसान होगा। इस साल गर्मियों में खाली स्टेडियमों में मुकाबले करवाने की वजह से 5 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त नुकसान उठाना होगा। इसके अलावा इस साल गर्मियों में इंटरनेशनल टीमों के ऑस्ट्रेलिया में खेलने के लिए जैव सुरक्षा उपाय (बायो सिक्योर) अपनाने होंगे जिस पर करीब 1 करोड़ डॉलर का खर्चा आएगा।

100 से अधिक मरीज इंदौर में कोरोना को हराकर घर लौटे

0
Indore

शहर में गुरुवार को एक बार फिर खुशियों का कारवां आगे बढ़ा। कोरोना महामारी को पराजित कर आज सौ से अधिक मरीज़ एक साथ डिस्चार्ज किए गए। संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने बताया है कि इंदौर में मरीज़ों के स्वस्थ होने का सिलसिला तेज़ी से आगे बढ़ रहा है। आज दोपहर बाद अरविंदो और अन्य हास्पिटल से सौ से अधिक मरीज़ों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है।

Indore

इंडेक्स मेडिकल कॉलेज से 19 मरीज हुए थे डिस्चार्ज

शहर में मरीजों के ठीक होने का सिलसिला जारी है। अरबिंदो अस्पताल से बुधवार को भी 51 मरीज डिस्चार्ज किए गए। इनमें एक साल का बच्चा भी मां के साथ डिस्चार्ज हुआ। इसके अलावा इंडेक्स मेडिकल कॉलेज से 10 मरीज भी डिस्चार्ज किए गए थे।

उल्‍लेखनीय है कि इंदौर में बुधवार को एक बार फिर कोरोना संक्रमण की दर बढ़कर 8 फीसद तक पहुंच गई। 891 सैंपल की जांच की गई, जिसमें से 78 नए पॉजिटिव मिले। इनको मिलाकर 3260 कोरोना पॉजिटिव मरीज हो चुके हैं। इनमें से 1583 मरीजों का इलाज शहर के रेड श्रेणी के अस्पतालों में चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने 3 मरीजों की मौत की पुष्टि की है। इनको मिलाकर मरने वालों की संख्या 122 हो चुकी है।

EPF से जुड़ा यह महत्वपूर्ण फैसला आपको लेना है

0
EPF

कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर केंद्र सरकार ने तीन महीनों के लिए कर्मचारी प्रोविडेंट फंड (EPF) में कर्मचारी और नियोक्ता दोनों के योगदान को 12 प्रतिशत से घटाकर 10 प्रतिशत कर दिया है। इसकी वजह से तीन महीनों तक कर्मचारियों के हाथ में ज्यादा सैलरी आएगी। इसमें मंत्रालय की तरफ से कर्मचारियों को PF योगदान में अपना 2 प्रतिशत कम नहीं करने का विकल्प रहेगा।

EPF

मंत्रालय ने मई, जून और जुलाई महीनों के लिए कर्मचारियों के समक्ष Voluntary Provident Fund (VPF) का विकल्प रखा है जिसके तहत वे PF में अपना 12 प्रतिशत योगदान जारी रख सकते हैं। कंपनियां इन तीन महीनों तक PF अकाउंट में 10 प्रतिशत योगदान ही करेंगे।

कंपनियां इस संबंध में अपने कर्मचारियों को ई-मेल भेजकर विकल्प चुनने का अवसर प्रदान कर रही है। यदि कर्मचारी ने VPF का विकल्प नहीं चुना तो उसके PF खाते में उसकी तरफ से भी 10 प्रतिशत योगदान ही जाएगा। इस तरह इस स्थिति में नियोक्ता और कर्मचारी दोनों की तरफ से PF अकाउंट में 10-10 प्रतिशत योगदान ही जमा होगा। वैसे यह प्रणाली सिर्फ तीन महीनों के लिए ही लागू रहेगी और इसके बाद वापस दोनों का 12-12 प्रतिशत योगदान जमा होना शुरू हो जाएगा। कर्मचारी के पास यदि पैसों की तंगी नहीं है और वह अपने PF अकाउंट में 12 प्रतिशत राशि ही जमा करना चाहता है तो वह इसे Voluntary Provident Fund (VPF) के तहत चुन सकता है। इसके लिए उसे अलर्ट रहना होगा और यदि कंपनी ने यह ईमेल नहीं भेजा है तो उसे इस बारे में बात करनी होगी।

प्रमोशन कॉलेज के विद्यार्थियों को भी मिलेगा- मानव संसाधन विकास मंत्रालय

0
MHRD

कोरोना वायरस महामारी और लॉकडाउन की मौजूदा स्थिति में मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने कॉलेज जाने वाले विद्यार्थियों के लिए बड़ा फैसला किया है। केंद्रीय मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने घोषणा की कि फाइनल ईयर या अंतिम सेमेस्टर के विद्यार्थियों की परीक्षाएं जुलाई में आयोजित की जाएंगी, जैसा की यूजीसी ने घोषणा की है। यदि कुछ स्थानों पर स्थिति में सुधार नहीं होता तो ये परीक्षाएं बाद में आयोजित की जाएंगी।

MHRD

वहीं अन्य कक्षाओं के स्टूडेंट्स को प्रमोट किया जाएगा। इनके प्रमोशन का आधार पुराना एकेडमिक रिकॉर्ड रहेगा। यानि इन बच्चों को इंटरनल असेसमेंट के आधार पर प्रमोशन दिया जाएगा। उन्होंने इसे चुनौती को अवसर में बदलने वाला समय बताते हुए कहा कि नई शिक्षा नीति का मसौदा तैयार है और जल्द ही इसे संसद से पास कराकर लागू किया जाएगा।

HRD मंत्री डॉ. निशंक ने देशभर के उच्च शिक्षण संस्थानों के साथ ऑनलाइन चर्चा की। इस दौरान उन्होंने 45000 उच्च शिक्षण संस्थानों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा की कि कोविड 19 के इस चुनौती भरे समय को हम अवसर में कैसे बदल सकते हैं। इस दौरान डॉ. निशंक ने कहा – बच्चे हमारे देश के कल के भविष्य हैं, इसलिए उनकी सुरक्षा से कोई समझौता नहीं किया जा सकता। हम स्कूल-कॉलेज के इन बच्चों के लिए हरसंभव उचित फैसला कर रहे हैं। इसी दौरान मंत्री ने कहा कि फाइनल ईयर के अंतिम सेमेस्टर के विद्यार्थियों को इंटरनल असेसमेंट के आधार पर प्रमोट किया जाएगा। इसे लेकर जल्द ही विस्तृत घोषणा की जाएगी। इसके लिए तैयारियां चल रही हैं और इसके लिए योजना बनाई जा रही है।

Railway, राशन कार्ड, बसों से जुड़े नियम 1 June से बदल जाएंगे

0
Niyam

1 June 2020 से आम जनता के जीवन में बहुत बदलाव आने वाले हैं। ये बदलाव रेल, राशन कार्ड, हवाई यात्रा, बस यात्रा आदि को लेकर हैं। रोजमर्रा के जीवन से जुड़ी चीजों के दाम भी बदल सकते हैं। सबसे बड़ा बदलाव तो देशव्‍यापी लॉकडाउन को लेकर ही होगा। मौजूदा लॉकडाउन 31 मई को समाप्‍त हो रहा है। इसके बाद यदि सरकार इसकी अवधि बढ़ा देती है तो लॉकडाउन का पांचवा चरण शुरू हो जाएगा।

Niyam

1 जून से देश में सार्वजनिक परिवहन भी बहुत हद तक शुरू होने जा रहा है। संपूर्ण देश में सौ ट्रेनें भी शुरू होने वाली हैं। इसके लिए एक सप्‍ताह पहले से IRCTC की वेबसाइट पर टिकटों की बुकिंग शुरू हो गई थी। इनके अलावा कुछ अन्‍य क्षेत्रों में भी पहली तारीख से नियम बदलने वाले हैं। जानिये इनका आपके जीवन पर क्‍या असर पड़ेगा।

देश में चलेंगी 200 ट्रेनें

पहली जून से देश में रेल यातायात शुरू होने जा रहा है। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने पिछले दिनों यह जानकारी देते हुए बताया था कि 1 जून से देश में 100 ट्रेनों का संचालन शुरू होगा। अप और डाउन रूट मिलाकर ये 200 ट्रेनें हो जाएंगी क्‍योंकि फेरे दोनों तरफ के लगेंगे। टिकटों की ऑनलाइन बुकिंग IRCTC की वेबसाइट पर हो रही है। उक्‍त 100 ट्रेनों के नामों की सूची सामने आ चुकी है। रेलवे के मुताबिक इनमें एसी, नॉन एसी और जनरल सभी प्रकार के कोच शामिल होंगे। सूची में दुरंतो, संपर्क क्रांति, जन शताब्दी और पूर्वा एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों के नाम शामिल हैं। बिना रिजर्वेशन के किसी को भी यात्रा करने की पात्रता नहीं होगी। जनरल कोच (सामान्‍य श्रेणी) के लिए भी टिकट बुक करना होगा। यात्री को सेकेंड सीटिंग का किराया अदा करना होगा, इसके बदले में उसे एक आरक्षित सीट दी जाएगी। शेष श्रेणी में किराया सामान्य ट्रेनों जैसा ही यथावत रहेगा। इन 100 ट्रेनों में अधिकतम 30 दिन आगे की अवधि तक का वेटिंग टिकट लेना मान्‍य होगा। Waiting और RAC का टिकट भी नियमानुसार ही दिया जाएगा, लेकिन वेटिंग वालों को यात्रा करने की परमिशन नहीं रहेगी।

मध्‍य प्रदेश में 31 मई के बाद भी संक्रमित क्षेत्रों नहीं मिलेगी छूट

0
lockdown

मध्‍य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बीच 31 मई के बाद भी संक्रमित क्षेत्रों में छूट नहीं दी जाएगी। उल्‍लेखनीय है कि देश में जारी लॉकडाउन का चौथा चरण पूरा होने जा रहा है। 31 मई को लॉकडाउन की अवधि खत्म होना है। इस बारे में सूत्रों ने बताया कि मध्‍य प्रदेश सरकार 31 मई के बाद भी लॉकडाउन को बरकरार रखने के पक्ष में है। इसमें संक्रमित क्षेत्रों में किसी प्रकार की छूट नहीं दी जाएगी।

lockdown

रात सात से सुबह सात बजे तक कर्फ्यू फिलहाल बरकरार रहेगा। संक्रमित क्षेत्रों के बाहर लोक परिवहन सीमित मात्रा में सावधानियों के साथ शुरू किया जा सकता है। सिनेमाघर, रेस्टोरेंट, मॉल, होटल, कोचिंग संस्थान, शैक्षणिक संस्थान और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर प्रतिबंध यथावत रहेंगे।

नीमच जिले के जावद में तीन दिन का कर्फ्यू

नीमच जिले के जावद में 34 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आने पर संक्रमण फैलने के खतरे को देखते हुए सरकार ने वहां तीन दिन के लिए जनता कर्फ्यू लगा दिया है। इस दौरान जावद पूरी तरह से सील रहेगा। न तो किसी को वहां आने की अनुमति रहेगी और न ही जाने की।

यह निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कोरोना की समीक्षा के दौरान लिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि संक्रमित क्षेत्रों में पूरी तरह सावधानी बरती जाए। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। तीन दिन बाद इसकी फिर समीक्षा होगी और इसके बाद आगे का निर्णय लिया जाएगा।उल्लेखनीय है कि बुधवार को ही जावद एसडीएम को निलंबित करने के निर्देश दिए गए थे।

IRCTC, Railway, Aarogya setu app, Corona से जुड़ी जरूरी सूचनाएं सरकार ने जनहित में जारी की हैं

0

केंद्र सरकार ने जनहित में कुछ बेहद जरूरी सूचनाएं जारी की हैं। इसमें Indian Railways, IRCTC, CoronaVirus, Aarogya setu app से जुड़े तमाम सवालों के जवाब दिए गए हैं। पिछले दिनों सरकार ने देश में क्रमवार ट्रेनों को चलाने की घोषणा की थी, उसके बाद से ही लोगों के मन में कई जिज्ञासाएं थीं। इसे लेकर भी विस्‍तार से एक-एक बात स्‍पष्‍टता से बताई गई है।

IRCTC

कोरोना वायरस महामारी को लेकर बकायदा विशेषज्ञ डॉक्‍टरों की ओर से जनहित में परामर्श उपलब्‍ध कराया गया है। ये सूचनाएं ऑल इंडिया रेडियो All India Radio News के आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से जारी की गईं हैं। आप भी इन जानकारियों को पढ़ें, समझें, इन्‍हें अपनों के साथ शेयर करें और लाभ लें।

भारतीय रेल और राज्य सरकारों ने मिलकर आगामी 10 दिनों के लिए एक शेड्यूल बनाया है और इसके लिए 2600 ट्रेनें चलाई जाएंगी। इसमें 36 लाख यात्री यात्रा कर पाएंगे। यदि किसी भी स्टेशन से ज्यादा संख्या में प्रवासी अपने घर जाना चाहेंगे तो उनके लिए भी ट्रेन सेवा उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्‍होंने बताया कि अधिकांश ट्रेनों को उत्‍तर प्रदेश, बिहार, मध्‍य प्रदेश, झारखंड के लिए चलाया गया है। पश्चिम बंगाल के लिए काफी कम ट्रेनें चलाईं गईं है। उन्होंने सिर्फ 105 ट्रेनों के लिए अनुमति प्रदान की है।

अब तक 2600 से अधिक विशेष ट्रेनें चली हैं, 35 लाख से अधिक प्रवासियों ने इन ट्रेनों का फायदा उठाया है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनों की संख्या अब रोजाना 200 से अधिक हो गई है। 1 जून से रेलवे और भी स्पेशल ट्रेन चलाएगा, जिसके लिए 14 लाख बुकिंग अभी तक हो चुकी हैं। 1 जून से 200 और स्पेशल ट्रेनें चलाने का निर्णय किया गया है।

कुछ स्‍पेशल ट्रेनों में बर्थ की क्षमता की सिर्फ 30 फीसद ही बुकिंग हुई है, हालांकि कुछ ट्रेनों में 100 फीसद सीटें बुक हो चुकी हैं। अभी भी 190 ट्रेनों की उपलब्धता है। इस दौरान यह शिकायत आ रही थीं कि श्रमिक भाई बुकिंग नहीं कर पा रहे हैं, इसलिए टिकट काउंटर खोलने का भी निर्णय किया गया है। जरूरत पड़ी तो 10 दिन के बाद भी ट्रेनें शेड्यूल की जाएंगी।

राज्य सरकारें छूट का दायरा 31 मई के बाद बढ़ सकता है

0
lockdown

कोरोना संक्रमण के चलते देश में लागू किए गए चौथे चरण के लॉकडाउन की अवधि 31 मई को खत्म होने जा रही है। केंद्र ने 25 मार्च को लॉकडाउन घोषित किया था जो अब तक जारी है। हालांकि लॉकडाउन 4.0 में ही केंद्र की ओर से जनता और उद्योग जगत को कई राहत दी गई है। वहीं दूसरी ओर माना जा रहा है कि 31 मई के बाद केंद्र सरकार राज्य सरकारों के ऊपर ही छोड़ सकती है कि उनकी स्टेट में किस तरह के प्रतिबंध लागू रहेंगे। वहीं दूसरी ओर केंद्र सरकार इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर लागू प्रतिबंधों के साथ ही स्कूल, कॉलेजों को भी फिलहाल शुरू करने पर लगा प्रतिबंध जारी रख सकती है।

lockdown

लॉकडाउन को लेकर उठाए गए सभी कदमों का रोजाना रिव्यू होगा जब तक सारे प्रतिबंध नहीं हटा लिए जाते हैं। केंद्र सरकार आने वाले दिनों में लॉकडाउन को लेकर अपनी भूमिका को काफी सीमित कर सकती है। इसमें सिर्फ राष्ट्रीय स्तर पर जारी किए गए निर्देशों का पालन सहित कोविड 19 मैनेजमेंट जैसे फेस मास्क पहनना, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना जैसे निर्देश हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 17 मई को आखिरी बार लॉक़डाउन को लेकर गाइडलाइन जारी की थी।

Dabangg अब होगी एनिमेटेड सीरीज

0
salman

सुपरस्टार Salman Khan की मशहूर फ्रंचाइज Dabangg अब नए रूप में सामने आने वाली है। लगभग तय हो चुका है कि इस सीरीज को एनिमेटेड सीरीज में बदला जाएगा। ये सीरीज चुलबुल पांडे की कहानी है, जो पुलिस विभाग में अफसर है। एनिमेटेड सीरीज में चुलबुल पांडे के अलावा छेदी सिंह, रज्जो और प्रजापति पांडे के किरदार भी होंगे। फिल्म में छेदी सिंह का किरदार सोनी सूद ने, रज्जो का किरदार सोनाक्षी सिन्हा ने और प्रजापति पांडे का किरदार विनोद खन्ना ने निभाया था।

salman

सलमान खान के भाई अरबाज खान ने इस बारे में कहा है ‘दबंग की सबसे बड़ी खूबी है कि यह पूरे परिवार का मनोरंजन करती है। इस वजह से ही हम इसे एनिमेशन की दुनिया में लेकर जा रहे हैं। इस माध्यम में हमें क्रिएटिव होने की भरपूर आजादी मिलेगी। चुलबुल का व्यक्तित्व लार्जर देन लाइफ है इसलिए यहां ऐसा रोमांच देखने को मिलेगा जो पहले कभी ना देखा गया, ना सोचा गया। हम पूरी तरह से एक कहान पर ध्यान लगाएंगे जो थोड़ी लंबी होगी।’ अरबाज खान ने ही हमेशा सलमान खान की फिल्म ‘दबंग’ को प्रोड्यूस किया है।

इस प्रोजेक्ट के लिए एनिमेशन स्टूडियो कोमोस – माया को अधिकार दिए गए हैं। बता दें कि 2019 के दिसंबर में ही सलमान खान की ‘दबंग’ सीरीज की तीसरी कड़ी रिलीज की गई थी। यह कड़ी बेहद बोर थी और सिनेमाघरों से यह अच्छी कमाई नहीं कर पाई थी। सलमान की ‘दबंग’ और ‘दबंग 2’ काफी बड़ी हिट रही थीं। ‘दबंग 2’ को अरबाज खान ने ही निर्देशित किया था जबकि तीसरी कड़ी के लिए प्रभु देवा को बुलाया गया था।

रोहित शर्मा सबसे पहले लगाएगा T20 क्रिकेट में दोहरा शतक- Dwayne Bravo

0
Rohit

टी20 क्रिकेट में अभी तक सबसे ज्यादा स्कोर बनाने का रिकॉर्ड कैरेबियाई विस्फोटक बल्लेबाज Chris Gayle के नाम दर्ज है, जब उन्होंने आईपीएल 2013 में रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर की तरफ से पुणे वॉरियर्स के खिलाफ 175 रन बनाए थे। पिछले काफी समय से खिलाड़ी इस बात को लेकर विचार प्रकट करते आए हैं कि क्या इंटरनेशनल T20I क्रिकेट में कोई बल्लेबाज दोहरा शतक लगा सकता है और इस कड़ी में वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर Dwayne Bravo ने भारतीय ओपनर रोहित शर्मा का नाम लिया।

Rohit

ईएसपीएन क्रिकइंफो को दिए इंटरव्यू में जब Dwayne Bravo से पूछा गया कि उनकी नजर में इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट (T20I) में कौनसा खिलाड़ी दोहरा शतक जड़ सकता है तो उन्होंने तुरंत भारतीय उपकप्तान Rohit Sharma का नाम लिया। रोहित शर्मा  का इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर 118 रन है जो उन्होंने दिसंबर 2017 में श्रीलंका के खिलाफ 43गेंदों में बनाए थे। रोहित शर्मा इंटरनेशनल टी20 क्रिकेट में चार शतक लगाने वाले दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज हैं। वे इसके अलावा इंटरनेशनल वनडे क्रिकेट में तीन दोहरे शतक लगाने वाले भी एकमात्र बल्लेबाज हैं।

अब ग्राहकों को Bank Account Number, IFSC Code में बदलाव के बाद करना होंगे ये काम

0
Bank

गत 1 अप्रैल को बैंकिंग सेक्‍टर में बड़ा बदलाव आया था। इस दिन देश की 6 बैंकों का विलय 4 बैंकों में कर दिया गया। इनका वजूद अब बदल गया है। इस बात को करीब दो महीने हो गए हैं और आने वाले दिनों में इसका फर्क नज़र आने वाला है। इस मर्जर का सीधे तौर पर देश के लाखों ग्राहकों, खाताधारकों पर प्रभाव पड़ेगा। इनके बैंक अकाउंट नंबर Account Number, IFSC Code आईएफएससी कोड आदि भी बदलने वाले हैं। बैंकों के मर्जर के एक सप्‍ताह पहले ही देश में लॉकडाउन की घोषणा हो गई थी लेकिन इस बीच बैंकों का काम सुचारू रूप से चल रहा है।

Bank

फिलहाल ग्राहकों के पुराने एटीएम ATM और Cheque Book चेकबुक पहले की तरह काम कर रहे हैं। तकनीकी तौर पर बैंकों का विलय हो गया लेकिन अभी जमीनी तौर समूची कवायद में समय लगेगा। ऑल इंडिया बैंक इम्प्लॉइज एसोसिएशन (AIBEA) का कहना है कि बैंकों का काम ठीक चल रहा है और इससे कर्मचारियों की सेवा पर प्रभाव नहीं पड़ा है। आने वाले दिनों में ग्राहकों, खाताधारकों को यह करना पड़ सकता है।

बैंकों के मर्जर के करीब दो महीने बाद अब विजया बैंक की 152 शाखाओं का इंटीग्रेशन पूरा हो चुका है। अब इस बैंक के ग्राहकों को बैंक ऑफ बड़ौदा का बैंकिंग अनुभव मिलेगा। राज्य द्वारा संचालित बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) ने विलय के एक साल बाद एक और 132 पूर्व विजया बैंक शाखाओं का इंटीग्रेशन यानी आईटी एकीकरण का काम पूरा कर लिया है। इसके साथ ही अभी तक विजया बैंक की 152 शाखाओं को एकीकृत किया जा चुका है। इसके बाद अब इन विशेष शाखाओं पर जाने वाले ग्राहक विजया बैंक के बजाय BoB की बैंकिंग सेवाओं का उपयोग करेंगे। समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार माइग्रेशन प्रक्रिया शुरू होने से पहले विजया बैंक और देना बैंक के सारे पेमेंट प्‍लेटफार्म जैसे ATM एटीएम, NEFT एनईएफटी, RTGS आरटीजीएस और IMPS आईएमपीएस, UPI यूपीआई को एकीकृत किया गया था।

भाजपा ने राहुल गांधी के बयान पर किया पलटवार

0
Ghandhi

लगता है महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। प्रदेश के आला नेताओं के बीच हाई प्रोफाइल बैठकों का दौर जारी है, भाजपा लगातार प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग कर रही है, ऐसे में राहुल गांधी ने एक बड़ा बयान दिया है।

Ghandhi

राहुल का कहना है कि कांग्रेस प्रदेश में केवल उद्धव ठाकरे सरकार को सपोर्ट कर रही है और इस सरकार द्वारा लिए जा रहे फैसलों में कांग्रेस की कोई भूमिका नहीं है। राहुल गांधी ने एक वीडियो प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, कांग्रेस पार्टी पंजाब, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पुड्डुचेरी में सरकार चल रही है और फैसले ले रही है, लेकिन महाराष्ट्र में ऐसा नहीं है। सरकार चलाने और किसी सरकार को समर्थन देने में फर्क है। राहुल से पूछा गया था कि महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण क्यों नहीं रुक रहा है।

राज्य सरकार में मंत्री प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहब थोरात ने राहुल गांधी की बात का समर्थन करते हुए कहा है कि हम सरकार में शामिल जरूर हैं, लेकिन निर्णायक भूमिका में नहीं हैं। निर्णय लेने का अधिकार मुख्यमंत्री के पास ही है।

भाजपा का पलटवार

महाराष्ट्र में नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फड़नवीस ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा है कि पार्टी अपनी असफलता का ठीकरा शिवसेना और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर फोड़ना चाहती है। पूर्व मुख्यमंत्री ने इस बात से भी इन्कार किया कि उनकी पार्टी शिवसेना की अगुआई वाली महाविकास अघाड़ी की सरकार को अस्थिर करना चाहती है।

मध्‍य प्रदेश एक मार्च के बाद लौटे श्रमिकों का बुधवार से होगा सर्वे

0
labour

भोपाल। एक मार्च के बाद वापस लौटे श्रमिकों का सरकार सर्वे कराएगी। इसमें मध्य प्रदेश के मूल निवासियों का ही बुधवार से तीन जून तक सर्वे, सत्यापन और पंजीयन किया जाएगा। इन्हें महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) में रोजगार दिलाने के साथ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के माध्यम से निशुल्क राशन दिलाया जाएगा। सर्वे पंचायत सचिव, ग्राम रोजगार सहायक और नगरीय क्षेत्र में वार्ड प्रभारी करेंगे।

labour

सभी कलेक्टरों को निर्देश

प्रमुख सचिव श्रम डॉ.राजेश राजौरा ने सभी कलेक्टरों को निर्देश दिए हैं कि कोरोना महामारी के कारण प्रदेश के ऐसे मूल निवासी श्रमिक, जो अन्य राज्यों में काम रहे थे और वापस लौटे हैं, उनका सर्वे करके पंजीयन कराया जाना है।

मोबाइल एप से किया जाएगा सर्वे

सर्वे राष्ट्रीय सूचना केंद्र द्वारा तैयार मोबाइल एप से किया जाएगा। इसके अलावा संबल पोर्टल में इसके लिए प्रवासी श्रमिक प्रबंधन प्रणाली का भी उपयोग किया जा सकता है। सर्वे में ऐसे लोगों को शामिल नहीं किया जाएगा, जो मध्यप्रदेश के मूल निवासी न हों या अन्य राज्य प्रवास पर नहीं गए हों।

सर्वे के दौरान जिन श्रमिकों की समग्र आईडी नहीं होगी, वह बनाई जाएगी और पात्रता अनुसार मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना और भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मचारी कल्याण मंडल में भी पंजीयन किया जाएगा। अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ भी इन्हें पात्रता के हिसाब से दिलाया जाएगा। मनरेगा में काम करने के इच्छुक श्रमिकों को काम भी दिया जाएगा। श्रम विभाग का अनुमान है कि करीब 20 लाख प्रवासी श्रमिक लॉकडाउन के कारण घर वापस लौटे हैं।

न्‍यू जीवन आनंद पॉलिसी में निवेश करके पाएं 1 करोड़ रुपए

0
NJAP

यदि आप LIC की कोई पॉलिसी लेने वाले हैं या पहले से चलाते आ रहे हैं तो यह आपके काम की खबर है। हर आदमी अपने बजट और जरूरतों के हिसाब से पॉलिसी लेता है। यहां हम आपको एक ऐसी पॉलिसी के बारे में जानकारी दे रहे हैं जिसमें निवेश करके आप रिटायरमेंट से पहले ही 1 करोड़ रुपए तक पा सकते हैं। इसके लिए कितना निवेश करना होगा और क्‍या शर्तें व नियम होंगे, आइये विस्‍तार से जानते हैं।

NJAP

भारतीय जीवन बीमा निगम यानी एलआईसी (LIC) देश की पुरानी व प्रतिष्ठित बीमा कंपनी है। देश के लाखों लोगों ने इसमें अपना पैसा इन्‍वेस्‍ट किया है। सबसे खास बात यही है कि इसमें पैसा डूबत में जाने के चांस बहुत कम होते हैं, इसलिए लोग एलआईसी में पैसा निवेश करते हैं। हम आपको जिस पॉलिसी के बारे में बता रहे हैं उसका नाम है न्‍यू जीवन आनंद पॉलिसी (New Jeevan Anand Policy), जो कि गारंटीड रिटर्न देती है। यदि आप सर्विस क्‍लास उपभोक्‍ता हैं तो आप सेवानिवृत्ति से पहले ही इस योजना में निवेश करके एक करेाड़ रुपए तक बना सकते हैं। निवेशक को एक करोड़ रुपए तक का गारंटीड रिटर्न के अलावा इसमें नॉमिनी के लिए 40 लाख रुपए तक का रिस्‍क कवर भी दिया जाता है।

कोरोना वायरस की वजह से वरुण धवन की मौसी का निधन

0
varun

दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर लगाता बढ़ता जा रहा है। एक्टर वरुण धवन ने शनिवार को अपने फैंस को बताया कि उनकी मौसी का निधन हो गया है। वरुण धवन ने इंस्टाग्राम पर अपनी मौसी के साथ तस्वीर शेयर करते हुए इस बात की जानकारी दी। उन्होंने फोटो के साथ कैप्शन में गायत्री मंत्र लिखा और अपना दुख प्रकट किया। एक्टर ने अपनी मासी के निधन पर लिखा-‘लव यू, मासी। भगवान आपकी आत्मा को शांति दे।’

varun

वरुण धवन की मौसी का निधन भी कोरोना वायरस की वजह से हुआ है। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद फिल्म निर्माता करीम मोरानी की अभिनेत्री बेटी जोआ मोरानी जब अस्पताल में भर्ती थीं, तो वरुण धवन ने उनसे बात की थी। इस दौरान वरुण धवन ने जोआ को बताया था कि उनकी एक रिश्तेदार भी Covid-19 से संक्रमित हैं और उनका इलाज चल रहा है। हालांकि, उस वक्त वरुण ने कोरोना वायरस के शिकार उस रिश्तेदार का नाम नहीं बताया था। वरुण की मौसी अमेरिका के शिकागो शहर में रहती थीं।

रानी पेंशन योजना का लाभ इन सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा

0
penshion

रेलवे कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत भरी खबर है। रेलवे ने एक महत्‍वपूर्ण निर्णय लेते हुए यह तय किया है कि कर्मचारियों व अधिकारियों को पुरानी पेंशन योजना यानी ओपीएस OPS (Old Pension Scheme) का लाभ दिया जाएगा। ओल्‍ड पेंशन स्‍कीम का लाभ उन कर्मचारी व अधिकारियों को दिया जाएगा जिनका चयन 31 दिसंबर, 2003 के पहले हुआ था लेकिन किन्‍हीं कारणवश वे नौकरी ज्‍वाइन नहीं कर पाए थे।

penshion

यानी अब इन लोगों को एनपीएस NPS यानी नई पेंशन योजना New Pension Scheme से ओपीएस OPS ओल्‍ड पेंशन स्‍कीम में जाने के लिए एक विकल्‍प दिया गया है। रेलवे के इस कदम से देश के लाखों कर्मचारियों को सीधे तौर पर फायदा होगा क्‍योंकि कर्मचारी अभी भी पुरानी पेंशन योजना को ही श्रेष्‍ठ मानते हैं। कर्मचारियों एवं अधिकारियों को आगामी 31 मई से पहले ये ऑप्‍शन चुनना होगा। इनके फार्म ऑनलाइन भेजे जा सकते हैं।

सभी मंडलों ने जारी किए विकल्‍प के फार्म

रेलवे ने अपने समस्‍त मंडलों को ओल्‍ड पेंशन स्‍कीम के ऑप्‍शन फार्म जारी किए हैं। रेलवे बोर्ड ने यह नई पॉलिसी जारी भी कर दी है। इसके अंतर्गत अब कर्मचारियों एवं अधिकारियों को NPS से OPS में जाने के लिए One Time Option दिया गया है। जिन लोगों को शैक्षणिक, प्रशासनिक, पुलिस वेरिफिकेशन में विलंब के चलते, मेडिकल समस्‍या के चलते अथवा न्‍यायालीयन प्रकरणों के चलते ज्‍वाइनिंग में काफी समय लग गया था, उनके लिए अब विकल्‍प प्रदान किया गया है।

ओल्‍ड पेंशन के ये हैं मुख्‍य लाभ

– OPS में पेंशन की राशि लास्‍ट ड्रॉन सैलरी यानी अंतिम आहरित वेतन के आधार पर तैयार होती है।

– ओपीएस में महंगाई दर बढ़ने के साथ ही महंगाई भत्‍ता भी बढ़ता है, जिसका कर्मचारियों को लाभ होता है।

– जब भी कोई सरकार नया वेतन आयोग लागू करती है तो समानांतर रूप से पेंशन की राशि में भी इजाफा हो जाता है।

चांद आया नज़र सोमवार को मनाई जाएगी ईद

0
EID

रविवार की शाम को ईद का चांद नज़र आ गया है। अब सोमवार 25 मई को ईद उल फित्र मनाई जाएगी। रमजान के पाक महीने के अलविदा होने पर ईद का त्यौहार जोशो-खरोश के साथ मनाया जाता है।

EID

इस्लामिक कैलेंडर की मुताबिक यह चांद पर निर्भर है कि ईद किस दिन मनाई जाए। चांद के दिखने के साथ ही रमजान के महीने की शुरुआत होती है और चांद का दीदार होने पर ईद का जश्न मनाया जाता है। जिस दिन चांद दिखाई देता है उसके अगले दिन ईद का त्योहार मनाया जाता है।

सबसे पहले सऊदी अरब में देखा जाता है चांद

इस्लामिक मुल्कों सऊदी अरब, यूएई और कई खाड़ी देशों में 22 मई को ईद का चांद दिखाई नहीं दिया इसलिए 23 मई को ईद नहीं मनाई गई। इन सभी मुल्कों में 30 दिन के रोजे पूरे के बाद ईद का त्यौहार मनाया जाएगा। यानी इन देशों में आज ईद का त्यौहार मनाया जा रहा है।सबसे पहले चाँद को सऊदी अरब में देखा जाता है उसके बाद ही बाकी दुनिया के दूसरे मुल्कों में ईद मनाई जाती है इसी तरह भारत में कल शनिवार को ईद का चांद दिखाई नहीं दिया इसलिए सोमवार ईद का जश्न मनाया जाएगा।

’रेडी’ को-एक्टर मोहित बघेल का निधन

0
mohit

Salman Khan की फिल्म रेडी में ‘छोटे अमर चौधरी’ का किरदार निभाने वाले मोहित बघेल का 27 साल की उम्र निधन हो गया है। वह कैंसर से पीड़ित थे। डायरेक्टर राज शांडिल्य ने पीटीआई को बताया कि शनिवार सुबह उनके गृहनगर उत्तरप्रदेश के मथुरा में निधन हुआ। उन्होंने कहा, ‘वह बहुत जल्दी चला गया। पिछले छह महीने से उसका दिल्ली के एम्स अस्पताल में कैंसर का इलाज चल रहा था। मैंने 15 मई को आखिरी बार उससे बात की थी और उस समय वह ठीक था। उसने रिकवर करने शुरू कर दिया था। वह मथुरा में अपने माता-पिता और बड़े भाई के साथ रहता था। वे बतातें है, ‘मुझे हमारे कॉमन फ्रेंड से यब खबर मिली।’

mohit

राज शांडिल्य के मुताबिक वह उनकी डायरेक्टोरिय डेब्यू फिल्म ड्रिम गर्ल में उसे कास्ट करना चाहते थे लेकिन डेट इश्यूज के कारण साथ में काम न कर पाए। वह बहुत टैलेंटेड एक्टर था। उसका कॉमिक टाइमिंग कमाल का था। उसने मेरे साथ उस समय दो फिल्में थी मिलन टॉकीज और बंटी और बबली 2। इसलिए हम दोनों ड्रीम गर्ल में साथ काम नहीं कर पाए।

राज शांडिल्य ने ट्वीट भी किया, ‘मोहित मेरे भाई इतनी जल्दी क्या थी जाने की? मैंने तुझसे कहा था देख तेरे लिए सारी इंडस्ट्री रुक गई है…जल्दी ठीक होकर आजा उसके बाद काम शुरू करेंगे। तू बहुत अच्छी एक्टिंग करता है इसलिए अगली फिल्म के सेट पर तेरा इंतजार करूंगा और तुझे आना ही पड़ेगा।’

सूक्ष्य, लघु और मध्यम उद्योगों को सरकारी पेमेंट मिल जाए तो भी संभल जाएंगे

0
industry

भोपाल सूक्ष्य, लघु और मध्यम (एमएसएमई) उद्योगों को फिर से खड़ा करने में जुटी सरकार के प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। उद्योगपतियों का कहना है कि सरकार कह तो बहुत कुछ रही है, पर कर नहीं रही। इस कारण उद्योगों में कामकाज शुरू नहीं हो पा रहा है। सरकार के एक माह के अथक प्रयासों के बाद भी प्रदेश में 40 फीसदी उद्योगों के ही ताले खुले हैं।

industry

उनमें भी महज पांच हजार उद्योगों में उत्पादन शुरू हो पाया है। वे कहते हैं बैंकों से लोन दिलाने और तमाम गारंटी लेने की बजाय सरकारी विभागों में फंसा पैसा ही दिला दे, तो उद्योग पटरी पर आ जाएं। विभाग में करीब पांच सौ करोड़ रुपये फंसा है। जिसका भुगतान कोरोना संक्रमण के चलते नहीं हो पा रहा। प्रदेश में 22,885 छोटे-मंझोले उद्योग हैं। इनमें से 55 फीसदी उद्योग बड़े उद्योगों पर निर्भर हैं।

इन उद्योगों में सपोर्टिंग पार्ट्स बनाए जाते हैं। मसलन बीएचईएल बड़े उपकरण बनाता है। इनके कुछ पार्ट्स गोविंदपुरा स्थित फैक्ट्रियों में तैयार होते हैं। जबकि 45 फीसदी उद्योग मेडिकल, स्टेशनरी, सैनिटाइजर, फर्श क्लीनर सहित रोजमर्रा की जरूरतों के उपकरण एवं सामान बनाते हैं। इनमें से ज्यादातर उद्योग सरकारी सप्लाई देते हैं।

चार भारतीय Brad Hogg की वर्ल्ड टेस्ट इलेवन में शामिल

0
brad

Virat Kohli वर्तमान समय में तीनों में से किसी भी फॉर्मेट की वर्ल्ड इलेवन में जगह बना सकते हैं, लेकिन पूर्व ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर Brad Hogg को ऐसा नहीं लगता है। Brad Hogg ने वर्तमान समय के क्रिकेटरों की वर्ल्ड टेस्ट इलेवन में चार भारतीय खिलाड़ियों को शामिल किया। इसमें हैरानी वाली बात यह है कि उन्होंने Virat Kohli को इस टीम में जगह नहीं दी।

brad

Brad Hogg की इस टीम में भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया के भी चार खिलाड़ियों को जगह दी गई। इसके अलावा पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के एक-एक खिलाड़ी को शामिल किया गया। Virat Kohli को न्यूजीलैंड दौरे पर खराब प्रदर्शन का खामियाजा भुगतना पड़ा। ब्रेड हॉग ने कहा, हर कोई यह पूछेगा कि Virat Kohli को टीम में शामिल क्यों नहीं किया गया लेकिन यदि आप उनकी पिछली 15 टेस्ट पारियों को देखोगे तो वे सिर्फ चार बार 31 से ज्यादा रन बना पाए हैं। इसी वजह से मैंने उन्हें अपनी वर्तमान टेस्ट इलेवन में जगह नहीं दी हैं।

मध्‍य प्रदेश में आरंभ हुआ ‘श्रम सिद्धि’ अभियान

0
laboor

भोपाल। प्रदेश में शुक्रवार को ‘श्रम सिद्धि’ अभियान का शुभारंभ किया गया। इसके तहत हर मजदूर को काम दिया जाएगा। कोरोना संकट और लॉक डाउन के बीच मध्यप्रदेश सरकार ने श्रमिकों को य‍ह तोहफा दिया है।

laboor

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने वीसी के माध्यम से अभियान की शुरूआत की । उन्होंने कुछ ग्राम पंचायतों के सरपंचों तथा मजदूरों से बातचीत कर ”श्रम सिद्धी” अभियान की जानकारी दी तथा वहां चल रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की।

इस अभियान के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र में हर व्यक्ति को कार्य दिया जाएगा। इसके लिए घर-घर सर्वे किया जाएगा तथा जिनके पास जॉब कार्ड नहीं है उनके जॉब कार्ड बनाकर दिए जाएंगे। जो मजदूर अकुशल होंगे उन्हें मनरेगा में कार्य दिलाया जाएगा तथा कुशल मजदूरों को उनकी योग्‍यता के अनुसार काम दिलाया जाएगा।

लॉकडाउन के चलते सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के लिए लिया महत्‍वपूर्ण निर्णय

0
central

केंद्रीय कर्मचारियों के लिए यह एक राहत भरी खबर है। सरकार ने इनकी सुविधा के लिए लॉकडाउन में एक महत्‍वपूर्ण फैसला लिया है। इसके अनुसार अब कुछ कर्मचारियों को कार्यालय में उपस्थित होने से छूट दे दी गई है। इस संबंध में केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण मंत्रालय ने आदेश जारी किया है।

central

इसके अनुसार बीमार कर्मचारी, दिव्‍यांगजन एवं गर्भवती महिलाओं को कार्यालय में उपस्थित होना अनिवार्य नहीं है। आदेश में यह भी छूट दी गई है कि इन कर्मचारियों को कार्यालय में पहुंचने वाले कर्मचारी रोस्‍टर की सूची में शामिल ना किया जाए। सरकार के इस फैसले से देश के लाखों कर्मचारियेां को राहत मिलेगी।

देश में 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाया गया है। इसके चलते रोस्‍टर प्रणाली के अनुसार 50 प्रतिशत कर्मचारियों को वैकल्पिक कार्य दिवसों के दिन कार्यालय में पहुंचकर काम करने का आदेश जारी किया गया है। लेकिन केंद्रीय कार्मिक एवं प्रशिक्षण मंत्रालय ने ताजा आदेश में अब बीमारी से जूझ रहे कर्मचारियों, दिव्‍यांगों एवं गर्भवती महिला कर्मचारियेां को रोस्‍टर एवं ड्यूटी से राहत दे दी है।

अब नई व्‍यवस्‍था में यह होगा

मंत्रालय के ताजा आदेश के बाद अब वे कर्मचारी जिनका उपचार चल रहा है, उन्‍हें इलाज संबंधी पर्चा दिखाना होगा। इसी प्रकार गर्भवती महिलाओं एवं दिव्‍यांग कर्मचारियों को भी कार्यालय पहुंचने संबंधी तैयार हुए रोस्‍टर में शामिल किए जाने का आदेश जारी हुआ है। देश में इन दिनों लॉकडाउन का चौथा चरण चल रहा है। यह 31 मई तक चलेगा। इसके चलते केंद्र सरकार ने 50 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति का निर्णय लिया है। इसके पहले जो व्‍यवस्‍था तय थी, उसमें 33 प्रतिशत कर्मचारियों की उपस्थिति को अनिवार्य माना गया था।

अंतिम चरण में कैबिनेट विस्तार की तैयारी

0
cabinet

भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी अपनी टीम में नए चेहरों को शामिल करने का मन बना लिया है। वे जल्द ही कैबिनेट का विस्तार करेंगे। संभावना है कि सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो अगले हफ्ते लगभग 22 मंत्रियों को शपथ दिलवाई जा सकती है।

cabinet

इस बीच मंत्री पद के दावेदारों ने भी शुक्रवार को मुख्यमंत्री और संगठन प्रमुख वीडी शर्मा व प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत से बातचीत की। शुक्रवार का दिन भाजपा की सियासत के लिए बड़ा गहमी-गहमी वाला रहा। मंत्रिमंडल के विस्तार की सुगबुगाहट के साथ ही कई दावेदारों ने भोपाल की दौड़ लगा दी।

प्रदेश भाजपा कार्यालय में पूर्व गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा और सुहास भगत से मुलाकात की। सिंह ने कहा कि उनकी बातचीत केवल सागर जिले के उपचुनाव को लेकर हुई। पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने भी दोनों नेताओं से मुलाकात की। बिसेन ने मीडिया से कहा कि भाजपा में मंत्री बनने के लिए दावा नहीं किया जाता है।

अस्‍पताल से इंदौर में 79 मरीज कोरोना को पराजित कर हुए डिस्‍चार्ज

0
Ind_corona

इंदौर। इंदौर में कोरोना वायरस के मरीजों के सफल उपचार का सिलसिला जारी है। इंदौर में दिन-प्रतिदिन मरीजों को स्वस्थ्य कर सकुशल उनके घर भेजा जा रहा है। आज भी इंदौर के तीन अस्पतालों से 79 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया। डिस्चार्ज हुये मरीजों ने विक्ट्री का साइन बनाकर कोरोना को परास्त करने की खुशी मनाई।

Ind_corona

डिस्चार्ज हुये सभी मरीज विजेता के भाव के साथ अपने घरों की ओर रवाना हुये। संभागायुक्त आकाश त्रिपाठी ने बताया है कि इंदौर में कोरोना से संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने का सिलसिला जारी है।

इंदौर में आज एक बार फिर आधा सैकड़ा से अधिक व्यक्ति स्वस्थ होकर नई खुशियों के साथ अपने घर लौटें हैं। इनमें 53 व्यक्ति अरविंदो हास्पिटल से,व्यक्ति इंडेक्स कॉलेज से 21 और पांच एमआरटीबी हास्पिटल से डिस्चार्ज किये गये। एमआरटीबी से डिस्चार्ज होने वालों में दो व्यक्ति धार जिले के हैं।

खुलेंगे हेयर सैलून, बुखार-जुकाम वालों की नहीं बन सकेगी कटिंग

0
saloon11

भोपाल। प्रदेश में अब हेयर सैलून (दाढ़ी-कटिंग की दुकानें) भी खुल सकेंगे। हालांकि यह संबंधित जिलों के कलेक्टर तय करेंगे कि उनके जिले में हेयर सैलून खोले जाने हैं या नहीं। सैलूनों को गाइड लाइन का पालन करना होगा। इसके अनुसार सर्दी-खांसी, जुकाम वालों की दाढ़ी-कटिंग नहीं बन सकेगी।

saloon11

प्रदेश में हेयर सैलून खोले जाने को लेकर गृह विभाग ने गुरुवार को गाइडलाइन जारी कर दी। गृह विभाग के प्रमुख सचिव एसएन मिश्रा ने बताया कि बुखार, जुकाम और गले में खराश वाले व्यक्तियों का हेयर सैलून में प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा।

इन नियमों का पालन अनिवार्य

-सैलून के प्रवेश द्वार पर हैंड सैनिटाइजर रखना और इसका उपयोग

-केश शिल्पियों व स्टाफ को अनिवार्य तौर पर फेस मास्क, हेड कवर और एप्रॉन पहनना।

-हर ग्राहक के लिए अलग तौलिए का इस्तेमाल।

-औजारों का उपयोग से पहले और बाद में सैनिटाइज करना।

-हर कटिंग के बाद हाथों को सैनिटाइज करना होगा।

-पूरे सैलून को अच्छे से सैनिटाइज करना होगा।

‘कोई नहीं रहेगा बेरोजगार, सबको मिलेगा रोजगार’ अभियान मप्र में आरंभ होगा

0
Rojgar

भोपाल। मध्‍य प्रदेश में 22 मई से कोई नहीं रहेगा बेरोजगार सबको मिलेगा रोजगार अभियान आरंभ किया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इसकी शुरुआत करेंगे।

Rojgar

इसके तहत प्रवासी मजदूरों के मनरेगा के तहत जॉब कार्ड बनाए जाएंगे। सरकार ने तय किया है कि मनरेगा में मंदिर सरोवर, मंदिर उद्यान और मंदिर गौशाला भी बनेगी। गौशाला का संचालन मंदिर द्वारा किया जाएगा। शिवराज सरकार ने ग्लोबल टेंडर पर भी रोक लगा दी है। स्थानीय उद्योगों को प्रोत्साहित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है। इस संबंध में जानकारी देते हुए गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि मध्‍य प्रदेश में भी सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योगों को प्रोत्साहित किया जाएगा।

मध्‍य प्रदेश के 368 श्रमिक विशेष ट्रेन से विजयवाड़ा से भोपाल पहुंचे

0
shramik

भोपाल। विजयवाड़ा आंध्र प्रदेश से सुबह साढ़े नौ बजे श्रमिक स्पेशल ट्रेन हबीबगंज रेलवे स्टेशन पहुंची। विशेष ट्रेन से कई श्रमिक जो लॉक डाउन के कारण वहां फंसे हुए थे, उन्हें आज जिला प्रशासन द्वारा समुचित व्यवस्थाओं के साथ उनके गृह नगर भेजा गया। यह प्रदेश के 25 जिलों के निवासी थे, जो विजयवाड़ा आंध्र प्रदेश में विभिन्न इकाइयों में कार्यरत थे। इन्हे आज बसों से इनके गृह नगर भेजा गया ।

shramik

इस संकटकालीन परिस्थिति और कोरोना संकट में शासन- प्रशासन द्वारा श्रमिकों, महिलाओं-बच्चो बड़े-बुजुर्ग व्यक्तियों को गृह नगर भेजने की व्यवस्था की जा रही है। श्रमिक अपनी खुशी जाहिर करते हुए अपने गृह नगर जा रहे हैं, जो लॉक डाउन के कारण वहां फंसे हुए थे।

इन श्रमिकों में बैतूल के 18, भिंड के 50, भोपाल के 11, गुना 4, ग्वालियर के 17, मुरैना के 9, रायसेन के 92, राजगढ़ के 5, सागर का 1, सीहोर के 29, श्योपुर के 9, शिवपुरी के 10, विदिशा का 1, अलीराजपुर के 4, बड़वानी के 5, बुरहानपुर के 10, देवास के 10, धार के 3, इंदौर के 20, खंडवा के 6, मंदसौर के 4, नीमच के 2, शाजापुर के 19 और उज्जैन जिले के 13 श्रमिकों को लगभग 30 बसों के माध्यम से उनके गृह नगर भेजा गया है ।

जिला प्रशासन द्वारा सभी श्रमिक भाइयों को चाय-नाश्ता भोजन-पानी, बिस्किट के पैकेट की समुचित व्यवस्था कर इनके गृह नगर भेजा गया ।

जेईई मेंस में आवेदन अब 24 मई तक कर सकेंगे अप्लाई

0
JEE

कोरोना वायरस संक्रमण और देशव्यापी लॉकडाउन के कारण परीक्षाओं की तारीखें लगातार आग बढ़ रही हैं। इसी के चलते विदेशों में पढ़ाई की योजना बना रहे कई छात्र-छात्रों को झटका लगा है। विदेशों में असमंजस की स्थिति को देखते हुए छात्र अब देश में ही बेहतर विकल्प तलाश कर रहे हैं।

JEE

ऐसे ही छात्र-छात्राओं की मांग पर नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने जेईई मेंस में आवेदन के लिए तारीखें बढ़ा दी है। ऐसे छात्र अब 24 मई 2020 तक आवेदन कर सकेंगे। बता दें कि NTA द्वारा JEE Main 2020 परीक्षाओं का आयोजन 18 से 23 जुलाई तक प्रस्तावित है।

NTA ने जेईई मेंस के लिए आवेदन की तारीखों को बढ़ाने का फैसला मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के सुझाव के बाद लिया गया है। दरअसल कुछ छात्रों ने इसे लेकर मंत्री निशंक को ट्वीट किया था कि लॉकडाउन के चलते साइबर कैफे बंद हैं और वे आवेदन कर पाने में असमर्थ हैं, ऐसे में आवेदन की तारीखें बढ़ाई जानी चाहिए। इन सारी स्थितियों को देखते हुए मंत्रालय ने NTA को ऐसे सभी छात्रों को एक अंतिम मौका देने का सुझाव दिया था। इसके बाद NTA ने मंगलवार को इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर आवेदन की तारीख 19 मई से बढ़ाकर 24 मई 2020 कर दिया है। इससे अभ्यर्थियों को आवेदन का एक और मौका मिल गया है।

हिज्‍ब कमांडर जुनैद सहित 2 आतंकी मुठभेड़ में ढेर – सेना

0
Army

कश्मीर के कट्टरपंथी अलगाववादी नेता मोहम्मद अशरफ सहराई का आतंकी पुत्र जुनैद सहराई अपने एक साथी संग श्रीनगर के डाउन-टाउन में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया। मुठभेड़ में तीन सुरक्षाकर्मी भी जख्मी हुए हैं। आतंकी ठिकाना बना मकान भी इस दौरान हुए एक बम धमाके में तबाह हो गया। शरारती तत्वों ने हिज्ब आतंकी जुनैद व उसके साथी को बचाने के लिए मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों पर पथराव भी किया, लेकिन सुरक्षाबलों ने बल प्रयोग कर उन्हें खदेड़ दिया।

Army

हिंसक झड़पों में तीन लोग भी जख्मी हुए हैं। मुठभेड़ के दौरान आसपास के इलाके की निगरानी के लिए सुरक्षाबलाें ने ड्रोन का भी इस्तेमाल किया। रियाज नाइकू की मौत के बाद जुनैद सहराई का मारा जाना हिजबुल मुजाहिदीन के लिए एक बड़ा झटका बताया जा रहा है। जुनैद सहराई को नाइकू की मौत के बाद कश्मीर में हिज्ब का डिप्टी ऑपरेशनल चीफ कमांडर बनाए जाने की चर्चा थी। घाटी में सुरक्षाबलों द्वारा बीते सप्ताह बनायी गई 10 मोस्ट वांटेड आतंकियों की सूची में वह पहले तीन आतंकियों में एक था। सुरक्षाबलों ने उस पर सात लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था।

सायबर हमला ब्रिटिश एयरलाइन के ईजीजेट पर हुआ

0
Ejipt

लंदन। ब्रिटिश बजट एयरलाइन easyJet ने मंगलवार को कहा कि हैकर्स ने “अत्यधिक परिष्कृत” हमले में लगभग 90 लाख ग्राहकों के ई-मेल और यात्रा विवरणों के साथ-साथ उनमें से 2,000 से अधिक के क्रेडिट कार्ड की जानकारियों को लीक कर दिया है।

Ejipt

COVID-19 महामारी के कारण कंपनी की अधिकांश उड़ानें बंद हो गई हैं। अपने संस्थापक और सबसे बड़े शेयरधारक के साथ वह लंबे समय से लड़ाई की वजह से बंद है और अब इस ताजी खबर के बाद उसे भारी जुर्माने का सामना करना पड़ सकता है।

लंदन। ब्रिटिश बजट एयरलाइन easyJet ने मंगलवार को कहा कि हैकर्स ने “अत्यधिक परिष्कृत” हमले में लगभग 90 लाख ग्राहकों के ई-मेल और यात्रा विवरणों के साथ-साथ उनमें से 2,000 से अधिक के क्रेडिट कार्ड की जानकारियों को लीक कर दिया है। COVID-19 महामारी के कारण कंपनी की अधिकांश उड़ानें बंद हो गई हैं। अपने संस्थापक और सबसे बड़े शेयरधारक के साथ वह लंबे समय से लड़ाई की वजह से बंद है और अब इस ताजी खबर के बाद उसे भारी जुर्माने का सामना करना पड़ सकता है।

लिहाजा, आईसीओ की सिफारिश पर, हम उन ग्राहकों से संपर्क कर रहे हैं, जिनकी यात्रा की जानकारी तक हैकर्स ने पहुंच बनाई थी और हम उन्हें अतिरिक्त सतर्क रहने की सलाह दे रहे हैं, खासकर तब जब उन्हें अवांछित संचार किया जाता है।

ईजीजेट ने कहा कि ऐसा नहीं लगता था कि किसी भी व्यक्तिगत जानकारी का दुरुपयोग किया गया था। हालांकि, कंपनी ने यह भी नहीं बताया कि हैकिंग कब हुई थी। कंपनी ने कहा कि उसने इस मुद्दे की जांच के लिए अग्रणी फोरेंसिक विशेषज्ञों को लगाया था। इसने राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा केंद्र को भी सूचित किया है।

65 लाख केंद्रीय पेंशनर्स को लेकर सरकार ने बैंकों को जारी किए नए नियम

0
EPF

देश के 65 लाख से अधिक केंद्रीय पेंशनर्स के लिए अच्‍छी खबर है। सरकार ने इनकी पेंशन के भुगतान के लिए संबंधित बैंकों को कुछ नए नियम जारी किए हैं। ये नियम पेंशन वितरण, जीवन प्रमाण-पत्र, आधार आधारित सर्टिफिकेट और फैमिली पेंशन को लेकर हैं। इससे लाखों पेंशनर्स को फायदा होगा।

EPF

इस संबंध में कार्मिक मंत्रालय ने पेंशन का वितरण करने वाले बैंकों के अध्‍यक्ष और सीएमडी को गाइडलाइन जारी कर दी है। सरकार ने पेंशनर्स के लिए एक महत्‍वपूर्ण कदम उठाया है। यह निर्णय सरकार को प्राप्‍त कुछ शिकायतों के बाद लिया गया है। कार्मिक मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले पेंशन और पेंशनर्स कल्‍याण विभाग को इस संबंध में शिकायतें प्राप्‍त हुईं थीं। इसके बाद प्राप्‍त जानकारी के अनुसार अब बैंक पेंशनर्स की पेंशन राशि करने के लिए पेंशनर्स से सर्टिफिकेट मांगने के लिए अलग-अलग प्रोसेस पूरी कर रहे हैं।

सरकार के नए दिशा-निर्देशों का मकसद सेंट्रल पेंशन प्रोसेसिंग सेंटर (CPPC)/ बैंकों की शाखाओं को अपडेट नियमों के बारे में अवगत कराना है। पेंशन और पेंशनर्स कल्‍याण विभाग ने जारी ताजा आदेश में कहा है कि अब नए नियमों के बाद से पेंशनर्स के आवेदनों को बैंक और अन्‍य प्रक्रिया के तहत आसानी होगी। मोटे तौर पर समझें तो पेंशन वितरण के नियमों को एकीकृत कर दिया गया है। इससे जटिलताएं कम होंगी एवं कार्य सुगम होगा। विभाग ने यह भी कहा है कि पेंशन जारी करने वाले बैंक मौजूदा समय में पेंशन जारी करने या पेंशनर या उनके परिवार से एक निश्चित अंतराल पर सर्टिफिकेट लेने के लिए अलग-अलग प्रक्रियाओं का पालन कर रहे हैं।

अब नए नियमों के बाद यह होगा

वर्तमान में देश में केंद्र सरकार के पेंशनधारकों की संख्या 65.26 लाख है। नए निर्देशों के बाद अब बैंकों को उनकी वेबसाइट पर अपलोड करने और बैंकों की शाखाओं में नोटिस बोर्ड पर लगाने का निर्देश दिया गया है। पेंशन वितरण करने वाले बैंक Aadhar पर आधारित डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट ‘जीवन प्रमाण’ को एक्‍सेप्‍ट करेंगे। इसके अलावा नए नियमों के मुताबिक 80 वर्ष या उससे अधिक उम्र वाले पेंशनर प्रति वर्ष अक्टूबर के महीने में भी जीवन प्रमाण-पत्र जमा करा सकते हैं। नियमों के अनुसार हर पेंशनर या फैमिली पेंशनर को हर साल नवंबर में जीवन प्रमाण पत्र देना होता है।

लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ा, नई गाइडलाइन जारी

0
lookdown4

देश में लॉकडाउन 31 मई तक बढ़ा दिया गया है। NDMA यानी राष्‍ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने यह पुष्टि की है। इस संबंध में नई गाइडलाइन आज शाम जारी की जा चुकी है। इसके अनुसार रेड जोन, ग्रीन जोन और ऑरेन्‍ज जोन में राज्‍यों को निर्णय लेने का अधिकार दिया गया है। नई गाइडलाइन के अनुसार स्‍कूल व कॉलेज बंद रहेंगे। धार्मिक स्‍थल, शॉपिंग मॉल्‍स, स्‍टेडियम, व्‍यवसायिक केंद्र बंद रहेंगे। इंटर स्‍टेट बस सेवाओं को मंजूरी दी गई है लेकिन दोनों राज्‍यों की सहमति होना जरूरी है।

lookdown4

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) ने बताया, सरकार द्वारा जारी लॉकडाउन के विस्तार के चलते आगामी 31 मई तक यात्रियों के लिए मेट्रो सेवाएं बंद रहेंगी। हमारी हेल्पलाइन सेवा ‘155370’ भी उपलब्ध नहीं होगी। केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गौबा आज रात 9 बजे राज्य के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस करेंगे। प्राधिकरण (NDMA) ने भारत सरकार के मंत्रालयों / विभागों, राज्य सरकारों और राज्य प्राधिकरणों को लॉकडाउन 31 मई 2020 तक जारी रखने का निर्देश दिया है।

लॉकडाउन 4.0 की शुरुआत होगी। कर्नाटक, पंजाब, महाराष्‍ट्र और तमिलनाडु अपने यहां 31 मई तक लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला ले चुके हैं। ताजा खबर के अनुसार पश्चिम बंगाल ने भी लॉकडाउन को जारी रखने का फैसला लिया है। यहां अधिसूचना कल जारी की जाएगी।

लॉकडाउन के चौथे चरण की तैयारी में जुटे योगी आदित्‍यनाथ

यूपी के CM योगी आदित्यनाथ सोमवार से लागू होने वाले लॉकडाउन 4.0 की तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं। आदित्यनाथ आज 11 समितियों के अध्यक्षों के साथ बैठक कर रहे हैं। इसमें प्रवासी कामगारों के आगमन तथा प्रस्थान को लेकर भी फीड बैक ले रहे हैं। लॉकडाउन 4.0 में प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं पर प्रभाव के साथ ही शहरों में लॉकडाउन 4.0 को लागू करने की प्रक्रिया पर भी चर्चा हो रही है। लॉकडाउन 4.0 में उत्तर प्रदेश के आगरा के साथ ही मेरठ को राहत नहीं मिलेगी। उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लॉकडाउन-4 में देश के 30 शहरों तथा नगरपालिका क्षेत्रों में शामिल आगरा व मेरठ में कोई राहत मिलने के आसार नहीं हैं।

‘दद्दा जी’ देवप्रभाकर शास्त्री का देहावसान

0
dadaji

जबलपुर। गृहस्थ संत देवप्रभाकर शास्त्री ‘दद्दा जी’ का रविवार को निधन हो गया। उनके निधन से कटनी और जबलपुर क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई। रात करीब सवा आठ बजे उन्‍होंने अंतिम सांस ली। सीएम शिवराज सिंह चौहान और पूर्व सीएम कमल नाथ के साथ अनेक लोगों ने उनके निधन पर शोक व्‍यक्‍त किया है।

गृहस्थ संत देवप्रभाकर शास्त्री की हालत गंभीर थी और वे वेंटीलेटर पर थे। दिल्ली से शनिवार रात नौ बजे दद्दा जी को एयर एंबुलेंस से जबलपुर लाया गया। यहां से उन्हें कटनी ले जाया गया। इसके बाद ही उनकी हालत गंभीर बनी हुई थी। दद्दा जी के भक्त और प्रदेश के पूर्व मंत्री संजय पाठक ने संदेश जारी कर उनके गंभीर होने की जानकारी दी थी।

सांसद राकेश सिंह ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि दद्दा जी हम सभी को छोड़कर देवलोक जाना अपूरणीय क्षति है। संत हमे सदमार्ग और सद्ज्ञान देते है और पूज्य दद्दा जी जैसे संत जिन्होंने अपना पूरा जीवन प्रभु भक्ति और सेवा में लगा दिया और प्रभु चरणों में स्थान पा लिया है उनके देवलोकगमन पर उनके श्री चरणों मे सादर नमन करता हूं और ईश्वर से कामना करता हूं कि सभी परिवारजनों और अनुयाइयों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करे।

फ़र्स्ट क्लास क्रिकेटर और भारत के दिग्गज फ़ुटबॉलर 82 वर्षीय चुन्नी गोस्वामी का निधन

0
gwaswami

उनके परिवार के एक सूत्र ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया, “उन्हें कार्डिएक अरेस्ट हुआ और शाम 5 बजे अस्पताल में वो चल बसे”. चुन्नी गोस्वामी की कप्तानी में भारत ने 1962 के एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता था. वो क्रिकेटर भी थे और उन्होंने बंगाल की रणजी टीम की कप्तानी भी की.

gwaswami

चुन्नी गोस्वामी की मृत्यु से पहले पिछले महीने 20 मार्च को भारत के एक और दिग्गज फ़ुटबॉलर पी.के बनर्जी ने भी दुनिया को अलविदा कह दिया था. 60 के दशक में भारतीय फ़ुटबॉल अपने स्वर्णिम दौर में था और तब इस टीम में तीन दिग्गजों का जलवा था – पी के बनर्जी, चुन्नी गोस्वामी और तुलसीदास बलराम.

इस ख़तरनाक तिकड़ी ने भारत को अंतरराष्ट्रीय फ़ुटबॉल में कई सफलताएँ दिलवाईं. भारत ने 1962 में जकार्ता में 1951 के बाद दूसरी बार स्वर्ण पदक जीता.  1956 में इसी तिकड़ी की बदौलत भारत मेलबोर्न में हुए ओलंपिक में सेमीफ़ाइनल तक पहुँचा था. भारत इस स्तर तक पहुँचने वाला एशिया का पहला देश था.

देश के हर जिले से चलेगी श्रमिक स्पेशल ट्रेन

0
Train

लॉकडाउन के कारण अपना घर छोड़ने को मजबूर प्रवासी मजदूरों के लिए अच्छी खबर है। Indian Railways ने अब देश के हर जिले से श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का फैसला किया है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि अब किसी भी जिले का कलेक्टर श्रमिकों की लिस्ट लेकर रेलवे से श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने की मांग कर सकता है।

Train

इस तरह सभी जिला कलेक्टरों को अपने जिले से दूसरे स्थानों पर जाना चाह रहे प्रवासी मजदूरों की लिस्ट बनाने को भी कहा गया है। बता दें भारतीय रेल को पिछले 15 दिन में प्रवासी कामगारों को घर पहुंचाने के लिए राज्यों से 1,000 से ज्यादा ट्रेनों के परिचालन की अनुमति मिली है।

गुजरात से 350 ट्रेनों से भेजे गए 5 लाख कामगार

लॉकडाउन के दौरान प्रदेश से करीब 5 लाख मजदूरों को उनके गृह प्रदेशों तक भेजा जा चुका है। शुक्रवार देर रात तक 41 ट्रेन अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा व अन्य शहरों से 41 हजार कामगारों को लेकर रवाना हुईं। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के सचिव अश्वनी कुमार ने यह जानकारी देते हुए बताया कि लॉकडाउन के दौरान अपने राज्य जाने के इच्छुक कामगारो और मजदूरों को Shramik special trains से भेजा जा रहा है।

गुजरात से अब तक 350 श्रमिक स्पेशल ट्रेन उत्तर प्रदेश, बिहार, ओडिशा, छत्तीसगढ़, झारखंड, मध्य प्रदेश और पूर्वोत्तर के लिए रवाना हुईं। इन ट्रेनों में 4 लाख 70 हजार से अधिक कामगारों को उनके प्रदेश भेजा गया। सबसे अधिक ट्रेन उत्तर प्रदेश और बिहार के लिए रवाना हुईं। गुजरात से कई कामगारों को बसों से भी भेजा गया है।

बिजली के दाम बढ़ाने की जनसुनवाई डिजिटल करेगा – आयोग

0
MPBE

जबलपुर । कोरोना संक्रमण ने बिजली की जनसुनवाई को भी शारीरिक दूरी का पाठ पढ़ा दिया है। अब इंदौर, भोपाल और जबलपुर में होने वाली जनसुनवाई नहीं होगी। सिर्फ ऑनलाइन ही आपत्ति दर्ज होगी। इसकी डिजिटल सुनवाई मप्र विद्युत नियामक आयोग करेगा। 30 मई तक आपत्ति भेजी जा सकती है। बिजली कंपनी करीब पांच फीसद बिजली के दाम में इजाफा करना चाह रही है।

MPBE

क्या है मामला

बिजली कंपनी ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए बिजली की दरों में इजाफे का प्रस्ताव दिया था। सालाना करीब दो हजार करोड़ रुपये के वित्तीय नुकसान का आकलन किया गया है। मप्र विद्युत नियामक आयोग को याचिका दी गई थी। इसके लिए आयोग की तरफ से जनता से आपत्तियां मांगी गई थीं। पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी से करीब 22 आपत्तियां लगी हुई थीं। इधर, इंदौर में तकरीबन 38 आपत्तियां आईं।

आपत्तियां दर्ज

बिजली दरों को लेकर आपत्ति दर्ज करवाने वाले एडवोकेट राजेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि बिजली दाम बढ़ाने की बजाए सरकार को फिजूल के बिजली खरीदी करार निरस्त करने चाहिए। इसी के माध्यम से करीब पांच हजार करोड़ रुपये की बचत की जा सकती है। वहीं महाकोशल उद्योग संघ के डीआर जैसवानी ने कहा कि देश कोरोना संक्रमण से जूझ रहा है। आर्थिक गतिविधियां बंद पड़ी हुई हैं। सरकार को बिजली के दाम नहीं बढ़ाने चाहिए। इंडस्ट्री को बड़ा नुकसान उठाना पड़ेगा।

मप्र में 10वीं को जनरल प्रमोशन

0
mp

भोपाल मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार ने 10वीं कक्षा के छात्रों को राहत देते हुए जनरल प्रमोशन देने का फैसला किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 10वीं की परीक्षा आयोजित नहीं की जाएगी और कक्षा 10 के छात्रों को जनरल प्रमोशन दिया जाएगा।

mp

वहीं उन्होंने 12 वीं कक्षा की परीक्षाओं के संबंध में बताया कि बचे हुए पेपर 8 जून से 16 जून के बीच होंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि निजी स्कूलों को छात्रों से केवल शिक्षण शुल्क लेने की अनुमति दी गई है। उन्होंने कहा कि 19 मार्च से जब तक लॉकडाउन समाप्त नहीं हो जाता है, तब तक निजी स्कूल ट्यूशन फीस के अलावा कोई चार्ज पालकों से नहीं वसूल सकेंगे।

लोकल उत्पाद जैसे आम, मखाना बनेंगे ब्राण्ड

0
brand

अपनी तीसरी प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसानों की आय बढ़ाने पर जोर दिया। इसके लिए पशुपालकों के लिए कई प्रावधान किए हैं। सरकार ने ऐलान किया है कि गाय, भैंस, बकरी समेत सभी पशुओं का टीकाकरण किया जाएगा, ताकि उन्हें बीमारियों से बचाया जा सके। साथ ही किसानों द्वारा किए गए जाने स्थानीय उत्पादों जैसे आम, मखाना, केसर को अंतर्राष्ट्रीय ब्राण्ड बनाया जा जाएगा।वहीं, पीएम मत्स्य संपदा योजना में 20,000 करोड़ का प्रावधान किया गया है। इसमें समुद्री और अंतर्देशीय मत्स्य पालन के लिए और 9,000 करोड़ रुपये इन्फ्रास्ट्रक्चर के विकास के विकास में लगाया जाएगा। पढ़िए अन्य बड़े ऐलान

brand

ऑपरेशन ग्रीन्स को टमाटर, प्याज और आलू (TOP) से सभी फलों और सब्जियों (TOTAL) तक बढ़ाया जाएगा। दरअसल, पहले टमाटस, प्याज और आलू खराब होने पर सरकार किसानों की मदद करती थी। अब किसी भी प्रकार की सब्जी खराब होने पर राहत मिलेगी। इसके लिए 500 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इन सब्जियों के मालभाड़े पर 50 फीसदी की छूट मिलेगी और भंडारण (कोल्ड स्टोरेज में भी) पर भी 50 फीसदी सब्जी दी जाएगी।

अन्य बड़ी घोषणाएं

15,000 करोड़ रुपये का पशुपालन बुनियादी ढांचा विकास कोष स्थापित किया जाएगा।

हर्बल खेती को बढ़ावा देने के लिए 4000 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं; अगले 2 वर्षों में 10,00,000 हेक्टेयर जमीन को कवर किया जाएगा।

खुरपका-मुंहपका और ब्रुसेलोसिस के लिए 13,343 करोड़ रुपये के कुल परिव्यय के साथ राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम शुरू किया गया।

सरकार ने समुद्री और अंतर्देशीय मत्स्य पालन के विकास के लिए 20,000 करोड़ रुपये की प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना शुरू करेगी। इस कार्यक्रम से 55 लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है।

किसानों को प्रोसेसरों, एग्रीगेटर्स, बड़े रिटेलर्स, निर्यातकों के साथ निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से जुड़ने के लिए एक सुविधाजनक कानूनी ढांचा बनाया जाएगा।

किसानों की उपज को अच्छा मूल्य उपलब्ध कराने के लिए पर्याप्त विकल्प प्रदान करने को एक केंद्रीय कानून तैयार किया जाएगा, जिससे बाधा रहित अंतरराज्यीय व्यापार और कृषि उपज के ई-ट्रेडिंग के लिए रूपरेखा तैयार की जा सके।

किसानों को बेहतर मूल्य प्राप्ति के लिए आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन किया जाएगा; कृषि उत्पादों में अनाज, खाद्य तेल, तिलहन, दालें, प्याज और आलू को डी-रेगुलेट किया जाएगा।

एकीकृत मधुमक्खी पालन विकास केंद्रों, संग्रह, विपणन और भंडारण केंद्रों और मूल्य संवर्धन सुविधाओं से संबंधित बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 500 करोड़ रुपये की योजना लागू की जाएगी; इससे 2 लाख मधुमक्खी पालनकर्ताओं की आय में वृद्धि होगी।

बैंक से सीधे भुगतान प्राप्त करने की छूट जीवन शक्ति योजना की लाभार्थी महिलाओं को

0
BANK

इंदौर। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी मनीष सिंह ने धारा 144 के अंतर्गत पूर्व में 29 मार्च को जारी आदेश में छूट प्रदान करते हुये जीवन शक्ति योजना के अंतर्गत ऐसी लाभार्थी महिलाओं जिनके पास एटीएम नहीं है,उन्हें सीधे बैंक से भुगतान प्राप्त करने की छूट दी है। इसके साथ ही राज्य तथा केन्द्र शासन के मद में वृत्तिकर, वाणिज्यिक कर,आयकर आदि के रूप में जमा कराई जाने वाली राशि का भुगतान संबंधित बैंक द्वारा प्राप्त किया जायेगा। इस प्रकार की राशि को जमा करने के लिये उनके द्वारा मना नहीं किया जायेगा।

BANK

राज्य शासन की जीवन शक्ति योजना के अंतर्गत मॉस्क बनाने का कार्य महिलाओं द्वारा किया जा रहा है। उक्त मॉस्क की राशि का भुगतान उनके बचत खाते में सीधे ट्रांसफर किया जा रहा है। अधिकांश महिलाओं के पास एटीएम नहीं होने के कारण शासन द्वारा भुगतान की गयी राशि का आहरण लाभार्थी महिलाओं द्वारा नहीं हो पा रहा है, जिसके कारण उन्हें लाभ नहीं मिल पा रहा है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बैंकों को निर्देशित किया है कि वे जीवन शक्ति योजना की लाभार्थी महिलाओं को उनकी राशि का भुगतान सीधे बैंक से करें। निर्देशित किया गया है कि कोरोना के मद्देनजर स्वास्थ्य संबंधी निर्देश और अन्य एहतियाती उपाय सुनिश्चित किये जायें। आदेश का उल्लंघन करने पर भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 के अंतर्गत कार्यवाही की जायेगी।

Essential Commodities Act में बदलाव

0
kisan

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह बताया कि 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज में किसके लिए क्या है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम संदेश में इस ‘आत्म निर्भर भारत’ पैकेज का ऐलान किया था। वित्त मंत्री ने शुक्रवार को किसानों और कृषि पर फोकस किया।

kisan

अन्य बड़ी घोषणाओं के साथ ही Essential Commodities Act यानी आवश्यक वस्तु अनिधियम में बदलाव का भी ऐलान किया गया। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि किसानों को उनकी उपज का बेहतर मूल्य मिल सकेगा। जानिए क्या है आवश्यक वस्तु अनिधियम और इसमें क्या बदलाव किया गया है –

क्या है आवश्यक वस्तु अनिधियम: आर्थिक विशेषज्ञ डॉ. रवि सिंह बताते हैं कि आवश्यक वस्तु अनिधियम 65 साल पुराना है और मांग तथा आपूर्ति को कंट्रोल करने के लिए सरकार समय-समय पर इसमें बदलाव करती है। इसके जरिए सरकार कीमतों को रेग्युलेट कर पाती है। किसानों को उनकी उपज ही सही कीमत मिल सके, इसलिए इस बार भी मोदी सरकार ने कानून में बदलाव किए हैं। हाल ही में सरकार ने सेनिटाइजर और मास्क को भी इसमें शामिल किया था, ताकि इनकी कीमतों को कंट्रोल किया जा सके। साथ ही स्टॉक लिमिट को भी जोड़ा गया था।

अभी क्या बदलेगा: इस बदलाव के जरिए सरकार ने कुछ खाद्य पदार्थों जैसे- अनाज, खाद्य तेल, तिलहन, दलहन, आलू और प्याज को अब सरकारी नियंत्रण से बाहर करने का फैसला किया है। यानी जहां खाद्य उत्पादों के उत्पादन और बिक्री को नियंत्रणमुक्त किया गया है, वहीं किसी भी उत्पाद पर स्टॉक सीमा लागू नहीं की जाएगी। इन उत्पादों पर राष्ट्रीय आपदा जैसे अकाल, बाढ़ जैसे आसाधारण हालात में ही स्टॉक सीमा लगाई जा सकेगी।

किसानों को कैसे फायदा होगा: कानून में यह बदलाव किसानों के लिए बहुत बड़ी घोषणा है। इससे किसानों को कृषि उत्पादों का अच्छा मूल्य मिलेगा। डॉ. रवि सिंह के मुताबिक, उम्मीद है कि कानून में इस बदलाव का सबसे बड़ा फायदा किसानों को मिलेगा, लेकिन सरकार को यह ध्यान भी रखना होगा कि कहीं इसके कारण महंगाई न बढ़ जाए।

इन परीक्षाओं के लिए NTA ने आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाई

0
NTA

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) ने कोरोना वायरस संक्रमण और देशव्यापी लॉकडाउन की स्थिति के चलते कई परीक्षाओं के लिए आवेदन की तारीखें आगे बढ़ा दी हैं। NTA ने यूजीसी नेट (UGC NET June) के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 31 मई तक बढ़ा दी है।

NTA

इसके अलावा NTA ने जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी एंट्रेंस एग्जाम (JNUEE), CSIR- NET और ICAR- NET के लिए आवेदन की अंतिम तिथि भी 31 मई तक बढ़ाने का फैसला किया है। बता दें कि ये फैसला लॉकडाउन के लगातार बढ़ने के कारण लिया गया है।

इग्नू पीएचडी 2020, इग्नू ओपन मैट 2020 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि में कोई परिवर्तन नहीं किया गया और आज इसके आवेदन की प्रक्रिया समाप्त होगी। वहीं ऑल इंडिया आयुष पोस्ट ग्रेजुएट एंट्रेंस्ट टेस्ट (AIAPGET) के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 5 जून है। अन्य कुछ परीक्षाओं की आवेदन की डेडलाइन बढ़ा दी गई है।

इंदौर में इस माह के अंत तक शुरू हो जाएगा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल

0
hospital

निरीक्षण के दौरान विधायक रमेश मेंदोला और आकाश विजयवर्गीय भी उपस्थित थे। उन्होंने निरीक्षण के बाद बताया कि अस्पताल इस माह के अंत तक बनकर तैयार हो जाएगा।

hospital

अस्पताल व्यवस्था के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी चंद्रमौलि शुक्ला ने बताया कि लगभग 400 बिस्तरों का यह अस्पताल कोविड मरीज़ों के उपचार के लिए समर्पित रहेगा। इंदौर में यह एक अतिरिक्त सुविधा उपलब्ध हो जाएगी। निरीक्षण के दौरान डॉक्टर सुमित शुक्ला और डॉक्टर एडी भटनागर भी उपस्थित थे।

मालवा-निमाड़ में कोरोना संक्रमण का कहर जारी,

0
Corona

मालवा-निमाड़ अंचल में गुरुवार को बुरहानपुर में 14 नए कोरोना संक्रमित मिले। धार में सात और झाबुआ में पांच मरीज मिले। वहीं बड़वानी और शाजापुर जिलों में फिलहाल कोई मरीज नहीं है। रतलाम जिले में भी केवल 9 मरीज ही उपचाररत हैं। बुरहानपुर में गुरुवार को 14 सैंपलों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। जिले में संक्रमितों का आंकड़ा 110 पर पहुंच गया है।

Corona

एक दिन पूर्व ही 35 नए संक्रमित मिले थे। जिले में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 9 पर पहुंच चुका है। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी डॉ. विक्रम वर्मा के अनुसार 14 मरीज स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। 87 लोगों का इलाज चल रहा है। कलेक्टर प्रवीणसिंह ने कि राना-सब्जी की होम डिलीवरी तुरंत बंद करा दी है। बहादरपुर के छात्रावास में 150 बेड का नया कोविड केयर सेंटर तैयार कराया गया है। जिले में अब तक 1300 से ज्यादा लोगों की सैंपलिंग की जा चुकी है। शहर का रास्तीपुरा हॉटस्पॉट बन गया है।

किसानों, मजदूरों, स्ट्रीट वेंडर्स के लिए बड़े ऐलान

0
Sitaraman

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लगातार दूसरे दिन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर प्रधानमंत्री द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ रुपए के आत्मनिर्भर भारत पैकेज के दूसरे चरण की घोषणाएं की। वित्त मंत्री ने गुरुवार को प्रवासी मजदूरों, छोटे किसानों, स्ट्रीट वेंडर्स (रेहड़ी वाले) के लिए 9 बड़े ऐलान किए।

Sitaraman

वित्त मंत्री ने बताया कि पिछले 3 महीने में 86600 करोड़ रुपए के कर्ज बांटे गए, 25 लाख नए किसान कार्ड दिए गए हैं। किसानों को 31 मई तक कर्ज के ब्याज पर छूट दी गई है। कृषि क्षेत्र के लिए 86,600 हजार करोड़ रुपए का कर्ज दिया गया है। अपने राज्यों को लौटे प्रवासियों को मनरेगा के तहत काम दिया जाएगा। मजदूरों की दिहाड़ी 182 रुपए से बढ़ाकर 202 रुपए कर दी गई है। वित्तमंत्री सीतारमण ने एक और बड़ा ऐलान करते हुए कहा, छोटे कारोबारियों को मुद्रा योजना के तहत लिए 50 हजार के कर्ज पर ब्याज दो फीसदी की राहत दी जाएगी और इसके लिए 1500 करोड़ का प्रावधान किया गया है।

Nirmala Sitharaman Press Conference Part-2 की बड़ी बातें:

किसानों के लिए: 3 करोड़ किसानों को कृषि ऋण में अगले 3 महीने तक मिलेगी छूट। 25 लाख किसान क्रेडिट कार्ड सेंक्शन हुए, इनकी लोन लिमिट 25 हजार रुपये। पिछले मार्च और अप्रैल महीने में 63 लाख ऋण मंजूर किए गए जिसकी कुल राशि 86600 करोड़ रुपया है जिससे कृषि क्षेत्र को बल मिला है। किसानों की फसल खरीद के लिए 6700 करोड़ रुपये, नाबार्ड में सहकारी बैंक ऑफ ग्रामीण बैंकों की मदद के लिए 28,500 करोड़ रुपये मार्च 2020 में दिए।

मजदूरों के लिए: वित्त मंत्री ने कहा, गांव वापस लौटने वाले मजदूरों के लिए मनरेगा में रोजाना मिलने वाले रकम को बढ़ाकर 202 रुपए रोजाना कर दिया गया। इसके लिए 10000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया ताकि वापस गए मजदूरों को काम मिल सके। प्रवासी मजदूरों की मदद मनरेगा के माध्यम से कैसे की जाए उसके लिए हम योजना लेकर आए हैं। 13 मई तक 14.62 करोड़ दिन जनरेट किए जा चुके हैं। 14.62 करोड़ कार्य दिवस का काम 13 मई 2020 तक उपलब्ध कराया गया है, 10 हजार करोड़ का खर्च हुआ है, काम जो ऑफर किया गया वो 2.33 करोड़, पिछले साल के मुकाबले 40 से 50 प्रतिशत अधिक लोगों को काम दिया गया।

देश में सभी मजदूरों को समान न्यूनतम वेतन देना होगा,10 मजदूरों से अधिक के उद्योगों को ईएसआईसी ESIC कवरेज जरूरी, मजदूरों को नियुक्ति पत्र भी मिलेंगे व वर्ष में एक बार हेल्थ चेकअप भी होगा।

प्रवासी मजदूरों के लिए तीन कदम- सभी प्रवासी मजदूरों को दो महीने तक मुफ्त अनाज, कार्ड होल्डर्स को गेंहू चावल पहले ही मिलता है। निःशुल्क खाद्यान सभी प्रवासी मजदूरों के लिए, ऐसे मजदूर जिनके पास कार्ड नहीं है तो भी उन्हें अब 5 Kg चावल/गेंहूं और 1kg चना प्रति परिवार के दर से दो महीने तक मिलेगा।

साल में एक बार मजदूरों के स्वास्थ्य की जांच भी होगी। जोखिम वाले क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों के लिए कानून लाएंगे। गिग वर्कर और प्लेटफॉर्म वर्कर के लिए सामाजिक सुरक्षा योजना होगी।

One Nation One Ration Card स्कीम: देश में One Nation One Ration Card स्कीम यानी एक देश एक राशन कार्ड स्कीम लागू होगी। इसका फायदा यह होगा कि गरीब देश के किसी भी हिस्से में जाएं, उन्हें कार्ड से राशन मिल जाएगा। अब तक 67 करोड़ लाभार्थी को 23 राज्यों में इसके दायरे में लाएंगे, जो 83 फीसद है, मार्च 2021 तक इसे 100 प्रतिशत करेंगे।

स्ट्रीट वेंडर या रेहड़ी वालों के लिए: स्ट्रीट वेंडर या रेहड़ी वाले, खोमचेवालों की मदद के लिए 5 हजार करोड़ की सहायता उपलब्ध होगी, 10 हजार की प्रतिव्यक्ति सहायता उपलब्ध होगी, डिजिटल पेमेंट करने वालों को प्रोत्साहन दिया जाएगा, बेहतर भुगतान करने पर आगे अधिक ऋण सहायता मिल सकेगी।

गरीबों के लिए: शहरी गरीबों को 11,000 करोड़ रुपये की मदद की गई है। एसडीआरएफ के जरिए मदद दी जा रही। गरीबों के लिए बने शेल्टर होम में तीन वक्त का मुफ्त खाना। जिनके पास राशन कार्ड या कोई कार्ड नहीं है, उन्हें भी 5 किलो गेहूं, चावल और एक किलो चना की मदद।

मुद्रा शिशु ऋण योजना: इस योजना के तहत 50 हजार रुपए का लोन लेने वाले लोगों को ब्याज में सहायता दी जाएगी, इन लोगों को 3 माह तक EMI भुगतान पर छूट दी गई थी, इसके बाद EMI पर 2 प्रतिशत की ब्याज सहायता अगले 12 महीने तक दी जाएगी, 3 करोड़ लाभार्थी होंगे।

शहरों में प्रवासी मजदूरों के लिए किफायती दामों पर अफोर्डेबल रेंटल हाउसिंग कॉम्प्लेक्स विकसित करेंगे, काम करने की जगह पर किराए पर घर मिल सकेंगे, पीएम आवास योजना के तहत ला सकते हैं, उद्योगपति अगर ऐसे घर बनाते हैं तो उन्हें इसका लाभ दिया जाएगा।

कॉर्पोरेटिव बैंक और रिजनल रुरल बैंक को मार्च 2020 नाबाड ने 29,500 करोड़ के रिफाइनेंस का प्रावधान किया। ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए राज्यों को मार्च में 4200 करोड़ की रुरल इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फंड राशि दी गई।

वित्त मंत्री ने कहा, बेशक लॉकडाउन है मगर सरकार काम कर रही है, गरीब हमारी प्राथमिकता में है। किसानों को 4 लाख करोड़ की मदद की गई है। 25 लाख नए किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड दिए गए हैं। गरीब कल्याण योजना के जरिए भी मजदूरों की मदद की गई।

2014 में मोदी जी ने अपने सबसे पहले भाषण में कहा था कि ये उनकी सरकार है जो गरीबों के लिए सोचे, गरीबों की सुने, गरीबों के लिए जिए इसलिए नई सरकार देश के गरीबों युवाओं और महिलाओं को समर्पित है।

सुक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योग यानी MSME क्षेत्र में बिना गारंटी के लोन दिया जाएगा। इससे 2 लाख यूनिट्स को साभ मिलेगा।

MSME की परिभाषा बदल दी गई है। अब 1 करोड़ के निवेश और 5 करोड़ के टर्नओवर तक माइक्रो यूनिट ही रहेगा और MSME का दर्जा और फायदा मिलता रहेगा।

EPF के लिए दी गई सहायता अगले 3 मई के लिए बढ़ा दी गई। यानी 15,000 रुपए से कम वेतन वालों का EPF अब अगस्त तक सरकार भरेगी।

मौजूदा TDS व TCS दरों में 25 फीसदी की कटौती की गई है। यह कटौती गुरुवार से लागू हो गई। इससे 50,000 करोड़ रुपए लोगों की जेब में बचेंगे।

रॉक ऑन और पीके एक्टर साई गुन्देवर का कैंसर से निधन

0
ROCK

बॉलीवुड के लिए यह साल बहुत दुख भरा है। इरफान खान, ऋषि कपूर, शफिक अंसारी के बाद एक और एक्टर ने दुनिया से अलविदा कह दिया। रॉक ऑन और पीके जैसी फिल्मों में अभिनय कर चुके साई गुंडेवर का निधन हो गया है। 42 साल का यह एक्टर ब्रेन कैंसर से जूझ रहा था। साई गुन्देवर ने 10 मई को दुनिया छोड़ गए थे।

ROCK

साई गुंडेवर के निधन की जानकारी महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने ट्वीट कर दी। उन्होंने एक्टर को भावभिनी श्रद्धांजलि दी है। उन्होंने लिखा कि पीके एक्टर साईप्रसाद गुंडेवर ने लाखों लोगों के बीच पहचान बनाई और दर्शकों का दिल जीता। उन्होंने लंबे समय के बाद कैंसर से जंग लड़ते हुए दुनिया को अलविदा कह दिया। भारतीय फिल्म इंडस्ट्री ने एक शानदार अभिनेता को खो दिया। भावपूर्ण श्रद्धांजलि।

साई एक एक्टर, मॉडल, वॉइसओवर आर्टिस्ट थे। उन्हें साल 2010 में एमटीवी स्प्लिट्सविला के चौथे सीजन में हिस्सा लेने के बाद लोकप्रियता मिली। उन्होंने साल 2011 में अमेरिकन हिट रिअलिटी शो की इंडियन फ्रेंचाईज सरवाइवर में भी हिस्सा लिया था। उनकी जानीमानी फिल्मों में डेविड, आई, मी और हम, बाजार शामिल है। उन्होंने टीवी पर कई कमर्शियल में काम किया है। बता दें कि साई मुंबई फूडिज्म हेल्दी मील डिलीवरी सर्विस के को-फाउंडर भी थे। एक्टिंग और बिजनेस में रूचि के कारण वे एक्टोप्रेन्योर कहलाना पसंद करते थे।

Post Office की Small Saving Scheme योजना से खाताधारक को मिलते हैं कई फायदे

0
P_office

Small Saving Scheme : यदि आप तरह-तरह की बचत योजनाओं में पैसा निवेश करते हैं ताक‍ि आपको ब्‍याज सहित अच्‍छा रिटर्न मिल सके तो आपको स्‍मॉल सेविंग स्‍कीम Small Saving Scheme यानी लघु बचत योजना को एक बार आजमाना चाहिये। ऐसी ही एक योजना है MIS (Monthly Saving Scheme) एमआईएस यानी मंथली सेविंग स्‍कीम।

P_office

मौजूदा दौर में कोरोना संकट के चलते बाजार में रोजगार का संकट खड़ा हो गया है, ऐसी स्थिति में लोगों का रूझान सेविंग की तरफ बढ़ गया है। यह MIS योजना भारतीय पोस्‍ट ऑफिस Post Office की बचत योजना है। यह भी अन्‍य योजनाओं की तरह रिटर्न देती है लेकिन इसकी खासियत है कि इस योजना में पैसा लगाने के बाद आपको हर महीने कुछ ना कुछ कमाने का एक अवसर प्राप्‍त होता है। Post Office पोस्‍ट ऑफिस की इस लोकप्रिय बचत योजना में यदि आप एकमुश्‍त पैसा निवेश करते हैं तो आपको हर महीने ब्‍याज से अच्‍छी आय होती है। इस योजना में खाता खोलने पर उसकी मैच्‍योरिटी की अवधि 5 वर्ष की रहती है।

MIS एमआईएस योजना की लिमिट

यह एक बचत योजना है। इसके तहत आप सिंगल और ज्‍वाइंट दोनों प्रकार के खाते खोल सकते हैं। जब आप सिंगल खाता खुलवा रहे हैं तो ध्‍यान रखें, आप इसमें मिनिमम 1 हजार रुपए और मैक्सिमम साढ़े चार लाख रुपए तक निवेश कर सकते हैं। लेकिन यह बात भी याद रहे कि संयुक्‍त खाता खुलवाने की दशा में आप इसमें अधिकतम 9 लाख रुपए तक का निवेश कर सकते हैं। यह योजना वैसे तो सभी के लिए है लेकिन सेवानिवृत्‍त लोगों और वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है।

योजना के मिलते हैं इतने फायदे

– यदि आपने संयुक्‍त खाता खुलवाया है तो आपको ब्‍याज के रूप में प्राप्‍त होने वाली राशि को दो समान हिस्‍सों में बांटकर दोनों खाताधारकों को दिया जाता है।

– ज्‍वाइंट अकाउंट को किसी भी समय जरूरत पड़ने पर एकल खाते यानी सिंगल अकाउंट में तब्‍दील किया जा सकता है। इस प्रकार सिंगल खाते को ज्‍वाइंट खाते में भी बदला जा सकता है।

– यदि आपको मौजूदा खाते में बदलाव करना है तो एक आवेदन देकर इसे बदलवा सकते हैं।

योजना की खास बातें

– MIS एक ऐसी लघु बचत योजना है, जिसमें धन लगाने पर आपका प्रति माह पैसे कमाने का अवसर प्राप्‍त होता है।

– इस योजना में आप कम से कम 1 हजार रुपए और अधिक से अधिक साढ़े चार लाख रुपए तक का निवेश कर सकते हैं।

– संयुक्‍त खाते होने की स्थिति में आप इसमें मैक्सिमम 9 लाख रुपए तक जमा कर सकते हैं।

– यह बचत योजना सेवानिवृत्‍त लोगों एवं वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए बहुत लाभ की है।

9वीं, 11वीं में फेल हुए स्‍टूडेंट्स को CBSE देगा एक और मौका

0
CBSE

कोरोना संकट के चलते CBSE ने आज एक और अहम फैसला लिया है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) कोरोना संकट के मद्देनजर 9वीं और 11वीं कक्षा में फेल हुए छात्रों को परीक्षाएं पास करने का एक और मौका देगा।

CBSE

बोर्ड के संयोजक संयम भारद्वाज ने बताया कि स्कूल 9वीं और 11वीं कक्षा के फेल छात्रों के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन परीक्षाएं आयोजित कर सकते हैं। यह मौका कोरोना के कारण पैदा हुई परिस्थितियों की वजह से सिर्फ इसी साल के लिए होगा। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने घोषणा की है कि जो छात्र 9 और 11 वीं कक्षा में असफल रहे हैं, उन्हें COVDI-19 संकट के मद्देनजर स्कूल-आधारित एग्‍जाम में उपस्थित होने का एक और अवसर दिया जाएगा। कक्षा 9, 11 के छात्रों के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन परीक्षा आयोजित हो सकती है।

आईएएस और आईपीएस संवर्ग में पदोन्नति की अटकी

0
pramote

भोपाल ! कोरोना संकट से सिर्फ आर्थिक गतिवि;घिळर्-ऊि्‌झ।यां ही प्रभावित नहीं हुई बल्कि प्रशासनिक कामकाज पर भी असर पड़ा है। राज्य प्रशासनिक सेवा (राप्रसे) से आईएएस और राज्य पुलिस सेवा (रापुसे) से आईपीएस संवर्ग में पदोन्नति की प्रक्रिया ठंडे बस्ते में चली गई है।

pramote

दोनों संवर्ग के प्रस्ताव सामान्य प्रशासन और गृह विभाग ने तैयार करके संघ लोकसेवा आयोग को भेज दिए हैं लेकिन अभी तक विभागीय पदोन्नति समिति (डीपीसी) की बैठक की कोई तारीख नहीं मिली है। इस बार प्रदेश को दोनों संवर्ग में पदोन्नति से 26 अधिकारी मिलने हैं। सूत्रों के मुताबिक सरकार की कोशिश थी कि अप्रैल में संघ लोकसेवा आयोग विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक कर ले ताकि मई में अधिकारियों को आईएएस और आईपीएस संवर्ग आवंटित हो जाए। इसके लिए सामान्य प्रशासन विभाग ने जनवरी में ही केंद्र सरकार से प्रस्ताव मंजूर कराकर 54 अधिकारियों के नाम आयोग को भेज दिए थे।

गृह विभाग ने भी आठ पदों के लिए पुलिस मुख्यालय से प्रस्ताव तैयार कराकर आयोग को भेजा था। कोरोना संकट के कारण सरकार की सभी तैयारियां धरी की धरी रह गईं। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि अब जब तक सामान्य स्थिति नहीं हो जाती है तब तक विभागीय पदोन्नति समिति की बैठक होने के आसार नहीं हैं। ऐसे में अगले साल की प्रक्रिया भी प्रभावित होगी।

दिसंबर से विभागीय स्तर पर पदोन्नति के प्रस्ताव तैयार होने शुरू हो जाते हैं। मुख्यमंत्री के अनुमोदन से केंद्र सरकार की अनुमति लेकर डीपीसी कराने के लिए तारीख मांगी जाती है। प्रमुख सचिव सामान्य प्रशासन दीप्ति गौड़ मुखर्जी का कहना है कि हमने प्रस्ताव भेज दिया है। जब डीपीसी की तारीख आएगी, तब आगामी कार्रवाई होगी।

वरिष्ठता की लड़ाई लड़ने वालों को भी मिलेगा मौका

इस बार सरकार के खिलाफ वरिष्ठता की लड़ाई कोर्ट में लड़ने वाले छह राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों को भी आईएएस अवॉर्ड होगा। इसमें विनय निगम, विवेक श्रोत्रिय, अरुण कुमार परमार, वरदमूर्ति मिश्रा, राजेश ओगरे और भारती ओगरे के नाम शामिल हैं।

राजौरा जून में बनेंगे अपर मुख्य सचिव

1990 बैच के आईएएस अफसर प्रमुख सचिव डॉ. राजेश कुमार राजौरा जून में अपर मुख्य सचिव पद पर पदोन्नत होंगे। 1985 बैच के आईएएस अफसर अपर मुख्य सचिव प्रभांशु कमल के 31 मई को सेवानिवृत्त होने से एक पद रिक्त होगा। कमल प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड के अध्यक्ष हैं। वहीं, अगस्त में अपर मुख्य सचिव सलीना सिंह के सेवानिवृत्त होने उपलब्ध पद के विरुद्ध प्रमुख सचिव गृह एसएन मिश्रा को पदोन्नति मिलेगी।

कोरोना का साया अहमदाबाद में भगवान जगन्नाथ की जलयात्रा पर

0
jaganath

गुजरात में कोरोना के मद्देनजर जहाँ कल कारखानों सहित विविध सेवाएं बाधित हुई हैंं। वहीं इस बार अहमदाबाद की ऐतिहासिक भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा पर भी कोरोना का विपरीत असर की संभावना है। संभव है इस बार की यह यात्रा में सीमित लोगों को ही शामिल किया जाये, परन्तु उससे पूर्व आयोजित जलयात्रा में इस बार भक्त और संतगण शामिल नहीं होगे।

jaganath

जगन्नाथ मंदिर की रथयात्रा में केवल अहमदाबाद ही नहीं अपितु पूरे गुजरात सहित अन्य राज्यों से भी लोग यहाँ यात्रा में शामिल होते हैं। रथयात्रा से पूर्व पांच जून को जलयात्रा का आयोजन किया जाता है। जगन्नाथ मंदिर की ओर से अधिकारिक तौर पर कहा गया है कि जनता इस बार की रथयात्रा सादगी पूर्ण आयोजित की जायेगी।

अहमदाबाद जगन्नाथ मंदिर के ट्रस्टी महेन्द्र झा ने बताया कि राज्य में भगवान जगन्नाथ मंदिर की 143 वीं रथयात्रा 23 जून को है। इस एतिहासिक रथयात्रा में इस बार क्या-क्या और कैसे-कैसे करना सम्बंधी विचार विर्मश के लिए 20 जून को ट्रस्टी मंडल की बैठक आयोजित की जायेगी। इस बार कोरोना संक्रमण के मद्देनजर हालात विकट है।

ऐसे में गुजरात के लाखों लोगों के शामिल होनेवाली इस यात्रा को बड़ी सूझ बूझ के साथ सीमित रूप से आयोजित करने का निर्णय किया जायेगा। इससे पूर्व आयोजित जलयात्रा को सीमित करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पांच जून को आयोजित जलयात्रा में इस बार संत और भक्तगण शामिल नहीं होंगे। उन्होंने गुजरात के इतिहास में यह पहली बार होगा जब जलयात्रा में साधु-संत शामिल नहीं होंगे।

17 जून लॉकडाउन समाप्त होने के बाद इस बारे में विविध बाबतों की चर्चा राज्य सरकार से की जायेगी। भगवान श्री जगन्नाथ मंदिर की रथयात्रा के बारे में ट्रस्टी गण के साथ बैठक आयोजित कर निर्णय लिया जायेगा। जलयात्रा के दिन से भगवान अपने भाई तथा बहन सुभद्रा के साथ ननिहाल आते हैं। इस बार भी कार्यक्रम तो आयोजित किया जायेगा परन्तु इसमें बहुत कम लोग ही शामिल होंगे। इसमें सोशियल डिस्टैंसिंग का विशेष ध्यान रखा जायेगा।

उन्होंने कहा कि जलयात्रा के बाद भगवान जगन्नाथ भाई बलदेव एवं बहन सुभद्रा के साथ मामा के घर जाते है। वहाँ जेठ सूद पूर्णिमा के दिन गजवेश के श्रृंगार किया जाता है। इस बार रथयात्रा का आयोजन तो होगा परन्तु कोरोना के कारण बहुत ही सीमित होगा। राज्य की जनता को टीवी पर ही भगवान जगन्नाथ जी की रथयात्रा देखने की मानसिकता रखनी पड़ेगी। इस प्रकार की व्यवस्था पर विचार विमर्श किया जा रहा है। आखिर निर्णय बैठक के बाद लिया जायेगा।

Lockdown 4.0 नए नियमों के साथ लागू होगा

0
corona

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में साफ कर दिया है कि अभी लॉकडाउन खत्म होने वाला नहीं है। उन्होंने कहा है कि Lockdown 4.0 लागू होगा, हालांकि इसका स्वरूप बदला हुआ होगा। पीएम ने कहा, 18 मई से पहले बता दिया जाएगा कि Lockdown 4.0 में कौन-कौन से नियम लागू होंगे।

corona

सोमवार को ही प्रधानमंत्री मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से आगे की रणनीति पर चर्चा की थी। तब कई मुख्यमंत्रियों ने कहा था कि लॉकडाउन की गाइडलाइन तय करने का अधिकार राज्यों को मिलना चाहिए।

पीएम के शब्दों में Lockdown 4.0 का ऐलान

‘लॉकडाउन का चौथा चरण, लॉकडाउन 4, पूरी तरह नए रंग रूप वाला होगा, नए नियमों वाला होगा। राज्यों से हमें जो सुझाव मिल रहे हैं, उनके आधार पर लॉकडाउन 4 से जुड़ी जानकारी भी आपको 18 मई से पहले दी जाएगी।’

आगे क्या होगा

लॉकडाउन 4.0 की रणनीति को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय और राज्य सरकारें मीटिंग्स करेंगे। सबसे पहले यह तय होगा कि लॉकडाउन 4.0 के नियमों का निर्धारण कौन करेगा, केंद्र सरकार से गाइडलाइन जारी होगी (जैसा अब तक होता रहा है) या इस बार राज्य तय करेंगे कि उनके यहां कौन-सी सुविधाएं चालू रहेंगी और कौन-सी बंद।

पीएम मोदी के साथ बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा था कि केंद्र सरकार की ओर से इतना ज्यादा गाइडलाइन्स जारी होती हैं कि राज्य सरकार पालन करवाते-करवाते थक जाती है। वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन की व्यवस्था तय करने का अधिकार राज्य सरकारों को होना चाहिए।

कहीं छूट, कहीं पाबंदी लॉकडाउन 4.0 में उन क्षेत्रों में जिंदगी की राह आसान हो सकती है, जो कोरोना वायरस से अछूते हैं। वहीं रेड जोन में पाबंदियां अधिक रहेंगी। इसी तरह राज्यों की पूरी कोशिश होगी कि अर्थव्यवस्था चलने लगे।

आर्थिक गतिविधियां इंदौर, भोपाल व उज्जैन के गैर संक्रमित क्षेत्रों में बढ़ाई जाएंगी

0
Financial

भोपाल ! मध्‍य प्रदेश में 17 मई के बाद लागू होने वाला लॉकडाउन का स्वरूप इस बार अलग रहेगा। ग्रीन और ऑरेंज जोन में अधिकांश गतिविधियां सुरक्षा उपायों के साथ प्रारंभ की जाएंगी तो भोपाल, इंदौर और उज्जैन के गैर संक्रमित क्षेत्रों में भी आर्थिक गतिविधियां बढ़ाई जाएंगी।

Financial

कोरोना के लिए चिन्हित अस्पतालों में बैड की संख्या 35 हजार से बढ़ाकर 85 हजार की जा रही है। प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या में लगातार कमी आ रही है। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कही। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्यों से लॉकडाउन की रूपरेखा बनाकर भेजने के लिए कहा है। राज्य की रूपरेखा कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन बरकरार रखने की है लेकिन इसका स्वरूप अलग होगा। शाम सात बजे के बाद पूर्व की तरह कर्फ्यू जारी रहेगा। ग्रामीण जोन में सभी गतिविधियां शुरू की जाएंगी और ऑरेंज जोन में संक्रमित क्षेत्रों को छोड़कर सामान्य गतिविधियां होंगी। श्रमिकों को लेकर फिलहाल ट्रेनें आती रहेंगी। बाहर से आ रहे मजदूरों को बसों के माध्यम से प्रदेश की सीमा पर छोड़ा जा रहा है। इसके लिए 375 बसें लगाई गई है।

जगह-जगह श्रमिकों के ठहरने, भोजन, स्वास्थ्य परीक्षण के इंतजाम किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि इस समय केंद्र और राज्य, दोनों पर वित्तीय संकट है। टैक्स नहीं आ रहा है। इसके बाद भी रोजगार की व्यवस्थाएं बनाई जा रही हैं। केंद्र सरकार ने मनरेगा के 661 और एनडीआरएफ में 910 करोड़ रुपये भिजवाए हैं। मनरेगा में 16 लाख ग्रामीणों को रोजगार मुहैया कराया जा रहा है। छोटे, कुटीर एवं ग्रामोद्योगों को भी बढ़ावा देकर रोजगार के अवसर मुहैया कराए जा रहे हैं। श्रमिकों के हित में श्रम कानूनों में बदलाव किए हैं और उद्योगों को कई प्रकार की सहूलियतें दी हैं। प्रदेश में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या लगभग 1700-1800 के करीब हैं।

दुनिया में कोरोना वायरस से सबसे कम भारत की मृत्यु दर

0
harshwardhan

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 70 हजार को पार कर गई है। इसके साथ ही देश में अब तक कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 70756 हो गई है। जिसमें से 22454 मरीजों को इलाज के बाद अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है और देश में अभी कोरोना के सक्रिय संक्रमितों की संख्या 46008 है।

harshwardhan

देश में अभी तक कोरोना की वजह से 2293 लोगों की जान जा चुकी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि हमारा रिकवरी रेट लगातार बेहतर हो रहा है और अभी हमारा रिकवरी रेट 31.7 फीसदी है। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में हमारी मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम है। आज मृत्यु दर करीब 3.2 फीसद है, कई राज्यों में यह दर इससे भी कम है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वैश्विक मृत्यु दर लगभग 7-7.5 फीसद है।आज राजस्थान में कोरोना वायरस (COVID-19) के 21 नए मामले सामने आ गए हैं। प्रदेश में अब तक 4056 मामले सामने आ गए हैं। इनमें से 1563 सक्रिय केस हैं और 115 लोगों की मौत हो गई हैं। राजस्थान स्वास्थ्य विभाग के द्वारा इसकी जानकारी दी गई है। राज्य में अब तक 1,84,853 टेस्ट हो चुके हैं।

बिहार में आज कोरोना के 34 नए मामले आए सामने

बिहार के प्रधान स्वास्थ्य सचिव संजय कुमार ने कहा कि बिहार में आज कोरोना के 34 नए मामले सामने आए हैं। राज्य में कोरोना पॉजिटिव लोगों की संख्या अब बढ़कर 801 हो गई है।

उत्तर प्रदेश में कल 1758 मरीज किए गए डिस्चार्ज

उत्तर प्रदेश के प्रमुख स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है कल राज्य में कोरोना के सक्रिय मामलों की तुलना में डिस्चार्ज किए गए लोगों की संख्या ज्यादा रही है। कल उत्तर प्रदेश में 1758 लोगों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई और 1735 कोरोना के सक्रिय मामले सामने आए हैं।

सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों के सैलेरी स्‍ट्रक्‍चर में बदलाव

0
GOVsalary

सरकार ने आज उन तमाम अटकलों व अफवाहों को खारिज करते हुए स्‍पष्‍ट किया है जिसमें कहा जा रहा था कि सरकार केंद्रीय कर्मचारियों के सैलेरी स्‍ट्रक्‍चर में बदलाव करने जा रही है। ऐसी खबरों को वित्‍त मंत्रालय ने झूठी व बेबुनियाद बताया है। यह साफ तौर पर कहा गया है कि केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में कटौती का किसी प्रकार का कोई प्रस्‍ताव नहीं था और इस विषय में कोई बात नहीं हुई है।

GOVsalary

वित्त मंत्रालय ने एक आधिकारिक ट्वीट में कहा,”केंद्र सरकार के कर्मचारियों की किसी भी श्रेणी के मौजूदा वेतन में किसी भी कटौती के लिए सरकार के विचार के तहत कोई प्रस्ताव नहीं है। इस संबंध में सामने आई कुछ मीडिया रिपोर्ट झूठी है और इसका कोई आधार नहीं है।” इस प्रकार की खबर सामने आई थी कि केंद्रीय सरकार ने केंद्रीय सरकार के कर्मचारियों के वेतन में 30% की कटौती की है। #PIBFactCheck ने इसे खारिज करते हुए कहा है कि केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में किसी भी कटौती के लिए सरकार के पास कोई प्रस्ताव नहीं है। मंत्री ने पहले ही इनकार कर दिया था।

कोरोना वायरस महामारी के बीच सरकारी कर्मचारियों के वेतन में कटौती पर विचार कर रही मोदी सरकार के बारे में मीडिया में कई रिपोर्टें कथित तौर पर सामने आई हैं, जिसने देश की अर्थव्यवस्था को मुश्किल में डाल दिया था।

पीएम मोदी मुख्यमंत्रियो के साथ लॉक डाउन पर चर्चा करेंगे

0
MODI

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को दोपहर तीन बजे देश के मुख्यमंत्रियो के साथ लॉक डाउन को लेकर चर्चा करेंगे। यह जानकारी पीएमओ इंडिया के ट्विटर हैंडर से शेयर की गई है। इसमें बताया गया है कि राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पांचवीं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सोमवार दोपहर को होगी।

MODI

इससे पहले रविवार को कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों और स्वास्थ्य सचिवों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में चर्चा की। कल की बैठक के बाद पता चलेगा कि लॉकडाउन ( lockdown 3.0) आगे बढ़ाया जाएगा या इससे बाहर निकलने के लिए कोई योजना आएगी।

बहुत से राज्यों ने रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन की मार्किंग पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि प्रवासियों की वापसी के साथ जिलों में मामलों की संख्या बढ़ रही है, अधिकांश जिले रेड जोन के अंतर्गत आएंगे। कई राज्यों ने तर्क दिया कि इससे सामान्य स्थिति में वापसी मुश्किल हो जाएगी। उन्होंने सुझाव दिया कि वर्तमान कलर कोडिंग नियमों के मामले में, क्वारंटाइन सेंटर्स वाले क्षेत्रों को लाल क्षेत्रों के रूप में अधिसूचित किया जाना चाहिए।

KBC-12 की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया हुई शुरू

0
KBC

मुंबई। टेलीविजन के मशहूर शो कौन बनेगा करोड़पति -12 की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 9 मई को रात 9 बजे से शुरू हुई। इस कार्यक्रम को मशहूर अभिनेता अमिताभ बच्चन होस्ट करेगे।

KBC

रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 22 मई तक चलेगी। रात 9 बजे अमिताभ बच्चन ने सोनी एंटरटेनमेंट टेलीविजन पर पहला प्रश्न पूछा। इसके बाद हर रात को 22 मई तक वह एक प्रश्न पूछेंगे। प्रतियोगी प्रश्नों के उत्तर SonyLIV एप पर एसएमएम के जरिए दे सकता है।

प्रतियोगिता में भाग लेने वाले SonyLIV एप अपने मोबाइल पर सोनी एंटरटेनमेंट की अधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। यह एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। हम आपको रजिस्ट्रेशन स्टेप बाई स्टेप प्रोसेस बता रहे हैं।

जीयो के अलावा इसके लिए एसएमएस का शुल्क 3 रुपए होगा। KBC के लिए रजिस्ट्रेशन एयरटेल, बीएसएनएल, आईडिया, जीयो और वोडाफोन से 509093 पर SMS कर सकते हैं। SMS फार्मेट में A,B,C और D के अलावा उम्र और लिंग संबंधी जानकारी होगी। प्रतियोगी जो सही जवाब देंगे उनको चयनित करने के बाद कॉल कर आगे की प्रोसेस की जाएगी।

कोरोना वायरस से फैली महामारी को देखते हुए चयन की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन पूरी की जाएगी। KBC के इतिहास में यह पहली बार होगा कि ऑडिशन से लेकर जनरल नॉलेज के टेस्ट तक सभी कुछ SonyLIV एप के जरिए संपन्न होगा। सारी प्रक्रिया संपन्न होने के बाद अमिताभ बच्चन ट्विटर पर एक वीडियो शेयर करेंगे जिसमें वो कहेंगे कि हर चीज को ब्रेक लग सकता है, नुक्कड़ की चाय को, चाय पर होने वाली हैलो-हाय को, सड़कों के साथ यारी को, ट्रिपल सीट सवारी को, लेकिन आपके सपनों को ब्रेक नहीं लग सकता है। 

PKGKY, UAN, PF, Bank Account संबंधी जरूरी सूचनाएं EPFO, ESIC ने जारी की हैं

0
EPFO

EPFO (Employees Provident Fund Organization) यानी कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन और ESIC यानी कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम ने देश के लाखों खाताधारकों, सदस्‍यों, कर्मचारियों के लिए कुछ जरूरी सूचनाएं जारी की हैं। ये सूचनाएं PF पीएफ क्‍लेम, UAN यूनिवर्सल अकाउंट नंबर, PMGKY प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना, बैंक खाते Bank Account आदि को लेकर है।

EPFO

इसमें बताया गया है कि गलतियों को कैसे दुरुस्‍त करना है और सरकारी योजनाओं का लाभ किस प्रकार से लेना है। यदि आप भी इनमें से किसी एक के दायरे में आते हैं तो नीचे दी गई डिटेल चेक करें और अपनी स्‍टेटस का पता करें।

– ESIC ने कर्मचारियों को अटल बीमित व्‍यक्ति कल्‍याण योजना के तहत बड़ी राहत दी है। इसके तहत बीमाकृत व्‍यक्ति के बेरोजगार होने की स्थिति में और नए रोजगार की तलाश के दौरान नगद राहत राशि का सीधे बैंक खाते में भुगतान किया जाएगा। इसके लिए बेरोजगारी के पूर्व 2 वर्षों अंशदान अवधि में कम से कम 78 दिनों का अंशदान किया गया हो, यह जरूरी है।

– प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना PMGKY (पीएमजीकेवाई) योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया के बारे में बताया गया है।

– अपने नाम के साथ चेक लीफ की अनुपलब्धता के मामले में, आप पासबुक पेज की स्कैन की हुई कॉपी अपलोड कर सकते हैं, जिसमें सदस्य का नाम, खाता संख्या और IFSC आईएफएससी स्पष्ट रूप से दिखाई देता हो।

– COVID-19 महामारी के प्रावधान अंतर्ग किए जा रहे पीएफ राशि निकासी क्‍लेम के लिए EPF जमा क्रेडिट के लिए तुरंत बैंक खाता संख्या और IFSC अपडेट करें।

– यदि आपने सभी विवरणों को पूरी तरह से जांच लिया है और उन्हें सही पाया है, तो आप http: //.epfigms.gov.in पर अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं और इसकी स्थिति http://epfigms.gov.in/Status पर देख सकते हैं।

– इस बीच आप http://epfindia.gov.in/site_en/Contact_us.pp पर मार्गदर्शन के लिए संबंधित पीएफ कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं।

– #MinistryofHomeAffairs द्वारा जारी किए गए दिशा निर्देशों के अनुसार, GoI सक्षम प्राधिकारी ने निर्णय लिया है कि # अस्पताल से चिकित्सा सेवाएं जहां पहले चिकित्सा सेवाओं को देखते हुए #coronapandemic को फिर से शुरू किया गया था, वे 5 मई, 2020 तक फिर से शुरू कर सकते हैं।

– चिकित्सा हित लाभ कार्ड की वैधता समाप्त होने पर भी लाभार्थियों को मिलेगा इलाज का पूरा लाभ दिया जाएगा।

– यदि आपके UAN में बैंक खाते की जानकारी गलत नजर आ रही है तो ऐसे में आप बैक हैंड इंडेक्स को इंडीकेट करते हुए बैंक खाता विवरण अपडेट करने का तरीका जानें।

– EPFO Covid से लड़ने में मदद करने के लिए 3 कार्य दिवसों के भीतर प्राथमिकता पर कोविड- 19 के एडवांस क्‍लेम का निपटारा कर रहा है। कृपया हमारे साथ बने रहें क्योंकि हम सभी बाधाओं के बावजूद आपकी सेवा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

– EPFO ईपीएफओ से संबंधी कोई भी सवाल हों, जानकारी लेना हो तो आप इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://www.epfindia.gov.in/site_hi/index.php पर जाकर संपर्क कर सकते हैं। वहां आपको नई सूचनाओं के बारे में अपडेट जानकारी भी मिलेगी और आपके लाभ के दायरे में आने वाली योजनाओं को आप चेक भी कर सकेंगे।

यहां विस्‍तार से जानिये प्रक्रिया और सूचनाएं

– EPFO यानी क.भ.नि.सं. विश्‍व में सबसे बड़ा सामाजिक सुरक्षा संगठन है और वर्तमान में अपने सदस्‍यों से संबंधित १९. ३४ करोड़ खातों (वार्षिक रिपोर्ट २०१६-२०१७) का रख रखाव कर रहा है।

– कर्मचारी भविष्य निधि की स्थापना दिनांक १५ नवम्बर १९५१ को कर्मचारी भविष्य निधि अध्यादेश के जारी होने के साथ हुई। इस अध्यादेश को कर्मचारी भविष्य निधि अधिनियम १९५२ द्वारा बदला गया।

– कर्मचारी भविष्य निधि बिल को संसद में वर्ष १९५२ के बिल संख्या १५ के रूप में लाया गया ताकि कारखानों तथा अन्य संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों के भविष्य निधि की स्थापना के प्रावधान हो सके। इसे अब कर्मचारी भविष्य निधि एवं प्रकीर्ण उपबंध अधिनियम १९५२ के रूप में जाना जाता है। यह अधिनियम पूरे भारत में लागू है। इस अधिनियम तथा इसके अंतर्गत बनी योजनओं का प्रशासन एक त्रिपक्षीय बोर्ड केंद्रीय न्यासी बोर्ड जिसमे सरकार (केंद् तथा राज्य दोनो), नियोक्ता तथा कर्मचारियों के प्रतिनिधि शामिल हैं द्वारा किया जाता है।

– केंद्रीय न्यासी बोर्ड संगठित छेत्र के कर्मचारियों के लिए एक अंशदायी भविष्य निधि योजना, एक पेंशन योजना तथा एक बीमा योजना का प्रशासन करता है। यह ग्राहकों की संख्या तथा वित्तीय लेन देन के आधार पर संसार की सबसे बड़ी संस्था है।

– बोर्ड की सहायता कर्मचारी भविष्य निधि संगठन जिसमे देश भर में १३५ विभिन्न स्थानों पर कार्यालय हैं, द्वारा की जाती है। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन भारत सरकार के श्रम एवं नियोजन मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में हैं (क्लिक करें)।

– संगठन के पास इसके पदाधिकारियो तथा कर्मचारिओं के प्रशिक्षण एवं नियोक्ताओं और श्रमिकों के प्रतिनिधिओं के लिए सेमिनार करने के लिए एक सुस्सज्जित प्रशिक्षण संसथान भी है।

12 मई से चलेंगी पैसेंजर ट्रेनें

0
train

12 मई से सरकार ने ट्रेनों को चलाने का फैसला किया है। इसके लिए 11 मई से बुकिंग शुरू हो जाएगी। लेकिन यह बुकिंग केवल IRCTC की वेबसाइट से ही मान्‍य की जाएगी, वहीं का टिकट मंजूर किया जाएगा। रेलवे मंत्रालय ने रविवार शाम को यह जानकारी दी। भारतीय रेल की योजना 12 मई से क्रमबद्ध रूप से यात्री ट्रेनों का संचालन शुरू करने की है। शुरुआत में 15 जोड़ी ट्रेनें (30 रिटर्न जर्नी) चलेंगी।

train

ये होंगे अनिवार्य नियम एवं शर्तें

मंत्रालय ने कहा है कि यात्रियों को चेहरा ढंकना अनिवार्य होगा और गाड़ी के प्रस्थान के समय स्क्रीनिंग से गुजरना होगा। केवल यात्रियों को ही ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी। ट्रेन के कार्यक्रम सहित अन्य डिटेल अलग-अलग समय पर जारी किए जाएंगे। कहीं पर भी रेलवे स्‍टेशनों पर कोई काउंटर नहीं खोला जाएगा। ना ही कोई प्‍लेटफार्म टिकट दिया जाएगा। काउंटर नहीं खुलेंगे। रेल मंत्रालय के अनुसार इन ट्रेनों में आरक्षण के लिए बुकिंग 11 मई को शाम 4 बजे शुरू होगी और केवल IRCTC की वेबसाइट पर उपलब्ध होगी। केवल कंफर्म टिकट वालों को ही रेलवे स्‍टेशन परिसर में प्रवेश मिलेगा।

इन रूटों पर चलेंगी ट्रेनें

शुरुआत में कम संख्या में ही ट्रेनों का संचालन किया जाएगा। राजधानी नई दिल्‍ली से 15 स्‍थानों के लिए ट्रेनें चलेंगी। इस दौरान लोगों के स्वास्थ्य और कोरोना संक्रमण की जांच भी की जाएगी। ये ट्रेनें डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बंगलुरू, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी को जोड़ने वाली नई दिल्ली स्टेशन से विशेष ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी।

मध्य प्रदेश में कोरोना ज्यादा घातक है, देश के औसत से 11% ज्यादा मौत सिर्फ मध्य प्रदेश में

0
karona

भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। मध्य प्रदेश में कोरोना से होने वाली मौतों में 41 फीसदी ऐसे मरीज भी शामिल थे जिन्हें दूसरी कोई बीमारी नहीं थी, इसके बाद भी उन्हें बचाया नहीं जा सका।

karona

देश भर के आंकड़ों की बात करें तो 8 मई तक कोरोना से मरने वाले 1886 लोगों में 70 फीसदी को दूसरी बीमारियां भी थीं। यानी सिर्फ 30 फीसदी ऐसे लोगों की मौत हुई जिन्हें दूसरी बीमारियां नहीं थीं। कोरोना से मरने वालों में 32 फीसदी ऐसे थे, जिन्हें डायबिटीज और हाइपरटेंशन दोनों था। 11 फीसदी सिर्फ डायबिटीज वाले थे। बाकी हृदय रोग, अस्थमा, किडनी, शराब का नशा करने वाले थे।

SBI ने FD पर घटाई ब्याज दर

0
SBI

कोरोना वायरस और लॉकडाउन के मुश्किल दौर में देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने अपने ग्राहकों को झटका दिया है। SBI ने 3 साल तक की FD यानी फिक्स डिपॉजिट पर ब्याज दर घटा की है। इन FD की ब्याज दर में 20 आधार अंकों की कमी गई है और नई दरें 12 मई से लागू होंगी।

SBI

3 साल से लेकर 10 साल तक की FD पर ब्याज दरें यथावथ रखी गई हैं। बैंक की ओर से जारी बयान में इसकी पुष्टि कर दी गई है। बैंक का कहना है कि सिस्टम में लिक्विडिटी को देखते हुए फैसला लिया गया है। नई दरें नई FD पर और रिन्यु होने वाली FD पर लागू होंगी।

इसके साथ ही 7 दिन से 45 दिन की FD पर अब SBI 3.3% ब्याज देगा। वहीं 46 दिन से लेकर 179 दिन तक के डिपॉजिट पर 4.3% ब्याज मिलेगा। वहीं 180 दिन से लेकर 1 साल से काम की जमा पर 4.8% ब्याज दिया जाएगा। 1 साल से लेकर 3 साल तक की FD पर 5.5% ब्याज मिलेगा। लंबी अवधि की FD यानी 3 साल से 10 साल तक के निवेश पर 5.7% ब्याज मिलता रहेगा।

12 मई से लागू होंगी FD की ये ब्याज दरें

7 दिन से 45 दिन : 3.3% ब्याज दर

46 दिन से 179 दिन : 4.3% ब्याज दर

180 दिन से 210 दिन : 4.8% ब्याज दर

211 दिन 1 वर्ष से कम : 4.8% ब्याज दर

1 वर्ष से 2 वर्ष से कम : 5.5% ब्याज दर

2 साल से 3 साल से कम : 5.5% ब्याज दर

3 साल से 5 साल से कम : 5.7% ब्याज दर

5 साल और 10 साल तक : 5.7% ब्याज दर

सीनियर सिटीजन के लिए FD की ब्याज दरें

7 दिन से 45 दिन : 3.8% ब्याज दर

46 दिन से 179 दिन : 4.8% ब्याज दर

180 दिन से 210 दिन : 5.3% ब्याज दर

211 दिन से 1 वर्ष से कम : 5.3% ब्याज दर

1 वर्ष से 2 वर्ष से कम : 6% ब्याज दर

2 साल से कम 3 साल : 6% ब्याज दर

3 साल से 5 साल से कम : 6.2% ब्याज दर

5 साल और 10 साल तक : 6.5% ब्याज दर

किसानों को लॉकडाउन के दौरान मिली 18,253 करोड़ रुपए की मदद

0
kisan

कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर किसानों पर हुआ है। हालांकि केंद्र सरकार ने हर संभव कोशिश की है कि अन्नदाता का राहत पहुंच जाए। इसी क्रम में PM Kisan Yojana के तहत किसानों के खाते में 18,253 करोड़ रुपए की मदद पहुंचाई गई है।

kisan

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस दौरान PM Kisan Yojana (प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि) के तहत 9.13 करोड़ किसानों के खाते में यह राशि जमा की गई है। इस योजना में छोटे किसानों के खाते में हर साल 3 किस्तों में 6000 रुपए की राशि जमा की जाती है।

वित्त मंत्री ने ट्वीट पर यह जानकारी दी। उन्होंने बताया, इस साल मार्च से अब तक 9.13 करोड़ किसानों के खाते में कुल 18,253 करोड़ रुपए जमा किए जा चुके हैं। इसके अलावा करीब 3 करोड़ किसानों ने अपने कर्ज पर 3 महीने के मोरेटोरियम का फायदा उठाया है। इन किसानों पर 4.22 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है।

बैंक लोन लेने वाले 95 फीसदी से अधिक किसानों ने राहत देने के लिए 20 मार्च से 6 मई के दौरान सरकारी बैंकों से संपर्क साधा है। इन कर्जदार किसानों को इमरजेंसी लोन के रूप में जारी की गई राशि 54,544 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है, जो दो दिन पहले के मुकाबले दोगुने से अधिक है। इस योजना के तहत कर्ज की संख्या भी 3 गुना हो गई है। सात ही, रूरल इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट फंड (आरआईडीएफ) के तहत भी राज्यों को 4,224 करोड़ रुपए की वित्तीय सहायता दी जा चुकी है।

मैं पूरी तरह स्वस्थ, अफवाह फैलाने वाले हिरासत में – अमित शाह

0
amit_Shah

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने स्वास्थ्य को लेकर बीते दिनों से चल रही अफवाहों का जवाब दे दिया। अमित शाह ने ट्वीट किया, ‘पिछले कई दिनों से कुछ मित्रों ने सोशल मीडिया के माध्यम से मेरे स्वास्थ्य के बारे में कई मनगढंत अफवाहें फैलाईं। यहां तक कि कई लोगों ने मेरी मृत्यु के लिए भी ट्वीट कर दुआ मांगी है।

amit_Shah

देश इस समय कोरोना वायरस जैसी महामारी से लड़ रहा है और देश के गृह मंत्री के नाते देर रात तक अपने कार्यों में व्यस्त रहने के कारण मैंने इस सब पर ध्यान नहीं दिया। जब यह मेरे संज्ञान में आया तो मैंने सोचा कि यह सभी लोग अपनी काल्पनिक सोच का आनंद लेते रहें, इसलिए मैंने कोई स्पष्टता नहीं की।’

अमित शाह ने आगे लिखा, ‘परंतु मेरी पार्टी के लाखों कार्यकर्ताओं और मेरे शुभचिंतकों ने विगत दो दिन में काफी चिंता व्यक्त की, उनकी चिंता को मैं नजरअंदाज नहीं कर सकता। इसलिए मैं आज स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैं पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हूं और मुझे कोई बीमारी नहीं है।’

‘हिंदू मान्यताओं के अनुसार मेरा मानना है कि इस तरह की अफवाहें स्वास्थ्य को और मजबूत करती हैं। इसलिए मैं ऐसे सभी लोगों से आशा करता हूं कि वो व्यर्थ की बातें छोड़कर मुझे अपना काम करने दें और खुद भी अपना काम करें।’ ‘मेरे शुभ चिंतकों और पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं का मेरा हालाचाल पूछने और मेरी चिंता करने के लिए मैं आभार व्यक्त करता हूं। जिन लोगों ने ये अफवाहें फैलाई हैं, उनके प्रति मेरे मन में कोई दुर्भावना या द्वेष नहीं है। आपका भी धन्यवाद।’

इस बीच, अमित शाह की सेहत को लेकर अफवाह फैलाने के मामले में अहमदाबाद पुलिस ने 4 लोगों को हिरासत में लिया गया है। स्पेशल पुलिस कमिश्नर (क्राइम) अजय तोमर ने बताया कि अमित शाह की तस्वीर के साथ उनके नाम से एक फर्जी ट्विटर अकाउंट के ‘स्क्रीनशॉट’ में दावा किया गया था कि गृहमंत्री एक संगीन बीमारी से पीड़ित हैं। यह स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

‘काम नहीं तो वेतन नहीं’ का फार्मूला औद्योगिक इकाइयों में लागू होगा

0
industry

भोपाल ! मध्‍य प्रदेश में श्रम कानूनों में सुधार के साथ-साथ सरकार ने अब औद्योगिक इकाइयों में काम नहीं तो वेतन नहीं का फार्मूला भी लागू कर दिया है। इसके तहत औद्योगिक इकाई चलने पर श्रमिक काम पर नहीं आते हैं तो फिर वेतन का दावा नहीं कर सकेंगे। प्रबंधन न उन्हें वेतन देने को बाध्य नहीं होगा।

industry

यह व्यवस्था इसलिए लागू की गई है ताकि कारखाना प्रबंधकों पर अनुचित दवाब न बने। श्रम विभाग ने बॉम्बे हाई कोर्ट की औरंगाबाद खंडपीठ के 30 अप्रैल 2020 के फैसले के आधार पर यह कदम उठाया है। कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि यदि कारखाना प्रारंभ होने पर भी श्रमिक काम पर नहीं आता है तो वेतन का हकदार नहीं है।

प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान इकाइयां बंद होने से सरकार ने बिना किसी कटौती श्रमिकों को वेतन भुगतान के निर्देश दिए थे। उद्यमियों ने इसके तहत भुगतान भी किया। जहां से वेतन नहीं देने की शिकायतें आई थीं, वहां श्रम विभाग ने दखल देकर वेतन भी दिलवाया।

इसी दौरान कई औद्योगिक एवं व्यापारिक संगठनों के माध्यमों से सरकार को यह सूचना भी मिली कि जो इकाइयां चालू हैं, उनमें श्रमिक बुलाने पर भी काम करने नहीं आ रहे हैं। इसके बाद भी वेतन भुगतान का दवाब बनाया जा रहा है। इसे देखते हुए श्रम विभाग ने परिपत्र जारी कर स्पष्ट किया है कि अब ग्रीन और ऑरेंज जोन में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए औद्योगिक इकाइयों के संचालन की अनुमति दी गई है।

श्रमिकों को बुलाए जाने पर वे यदि काम करने के लिए स्वेच्छा से नहीं आते हैं तो प्रबंधन कार्य नहीं तो वेतन नहीं’ के सिद्धांत पर वेतन कटौती करने के लिए स्वतंत्र है। विभाग ने सभी श्रम संगठनों से कहा कि वे श्रमिकों से कहें कि वे अनुमति लेकर खोले गए संस्थानों में उपस्थित हों।

ऑल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन मंडीदीप के अध्यक्ष राजीव अग्रवाल ने इस फैसले को जायज ठहराते हुए कहा कि लॉकडाउन के दौरान जब इकाइयां बंद थीं तब भी उद्यमी अपने श्रमिकों को वेतन दे रहे थे। उनके ठहरने और भोजन का इंतजाम कर रहे थे लेकिन जब कोई काम पर ही नहीं आएगा तो कोई क्या करेगा। पीथमपुर औद्योगिक संगठन के अध्यक्ष गौतम कोठारी ने भी इसे सबके हित में उठाया गया कदम बताया है।

तीन Pension योजनाओं से मिलेंगे हर साल 36 हजार रुपए

0
pension

केंद्र सरकार ने जनता की सुविधा के लिए तीन पेंशन योजनाएं Pension Scheme का संचालन करती है। इसके बारे में अभी भी बहुत लोगों को जानकारी नहीं है। अभी तक इनमें 64 लाख 42 हजार से अधिक लोग अपना रजिस्‍ट्रेशन करवा चुके हैं।

pension

इन योजनाओं के नाम हैं, प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना, प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना एवं लघु व्‍यापारी पेंशन योजना। इनके माध्‍यम से 36 हजार रुपए वार्षिक पेंशन राशि के रूप में मिलेंगे। ये तीनों योजनाएं असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के लिए है। आइये जानते हैं इनका लाभ लेने की प्रक्रिया, नियम एवं शर्तें क्‍या हैं।

1. पीएम श्रमयोगी मानधन योजना

इस पेंशन योजना का आरंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत 5 मार्च, 2019 को गुजरात से किया था। इस योजना का पंजीयन फरवरी 2019 से आरंभ हो चुका है। मुख्‍य रूप से यह पेंशन योजना असंगठित क्षेत्रों में कार्यरत लोगों व श्रमिकों के लिए है। इसमें 60 साल की आयु पूरी होने के बाद वार्षिक 36 हजार रुपए बतौर पेंशन दिए जाते हैं।

यह है इसकी पात्रता

संगठित क्षेत्रों के कर्मचारी, ईपीएफओ, नेशनल पेंशन स्‍कीम, ईएसआईसी यानी राज्‍य कर्मचारी बीमा निगम के सदस्‍य एवं आयकर दाता इस योजना का लाभ नहीं ले सकते। इस योजना का लाभ केवल उन्‍हें मिलेगा जिनकी मासिक आय 15 हजार रुपए से कम है। इस योजना में अभी तक 43 लाख से अधिक लोग पंजीयन करा चुके हैं।

2. पीएम किसान मानधन योजना

इस योजना की आरंभ पीएम मोदी ने सितंबर, 2019 में झारखंड से किया था। अगस्‍त, 2019 में इसके पंजीयन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी थी। प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना को किसानों के लिए सबसे बड़ी पेंशन योजना कहा जा सकता है। इस योजना से अभी तक देश के 20 लाख 19 हजार से अधिक किसान जुड़ चुके हैं और इन सभी को 60 साल की आयु पूरी करने के बाद हर महीने 3 हजार रुपए की पेंशन दी जाएगी। 12 करोड़ लघु एवं सीमांत किसान भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

रजिस्‍ट्रेशन के नियम एवं शुल्‍क

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के लिए पंजीयन कराने पर कोई शुल्‍क नहीं लगता है। अगर कोई किसान पीएम किसान सम्‍मान निधि का लाभ प्राप्‍त कर रहा है तो उससे इससे जुड़ा कोई कागज नहीं मांगा जाएगा। इस योजना के अंतर्गत किसान पीएम-किसान योजना से प्राप्‍त होने वाले लाभ में सीधे तौर पर अंशदान का विकल्‍प चुना जा सकता है। ऐसा करने पर जेब पर कोई भार नहीं आएगा।

3. प्रधानमंत्री लघु व्‍यापारी मानधन योजना

पीएम नरेंद्र मोदी ने सितंबर, 2019 में झारखंड में ही इस योजना को लॉन्‍च किया था। यह मुख्‍य रूप से छोटे कारोबारियों के लिए एक पेंशन योजना है। प्रधानमंत्री लघु व्‍यापारिक मानधन योजना के अंतर्गत छोटे व्‍यापारियों को सामाजिक सुरक्षा देने की पहल इस योजना के माध्‍यम से की गई है। इस योजना में व्‍यापारियों को 60 वर्ष की आयु पूरी करने के बाद वार्षिक रूप से 36 हज़ार रुपए की पेंशन प्राप्‍त होगी।

यह है इसकी पात्रता

यह योजना उन कारोबारियों के लिए है जो वार्षिक रुपए से डेढ़ करोड़ से कम कमाई करते हैं। इसका लाभ वे लोग नहीं ले सकते जो आयकर चुकाते हैं या ईपीएफओ, ईसआईसी के सदस्‍य हैं। इस योजना में अभी तक 38 हजार 735 छोटे व्‍यापारी पंजीयन करवा चुके हैं।

इन तीनों पेंशन योजनाओं की शर्तें

उक्‍त तीनों पेंशन योजनाओं का लाभ लेने के लिए सबसे पहली शर्त यह है कि आयु सीमा 18 से 40 वर्ष के बीच होना चाहिये। इसके अलावा दूसरी शर्त यह है कि जिनका पीएफ कटता है, यानी जो लोग EPFO के सदस्‍य हैं, अथवा कर्मचारी राज्‍य बीमा निगम ESIC के मेंबर हैं, वे इसका लाभ नहीं ले सकते। पंजीयन के लिए आधार कार्ड, मोबाइल नंबर और बैंक में खाता खुला होना अनिवार्य है। आयु के हिसाब से प्रीमियम 55 रुपए से लेकर 200 रुपए तक होगी। इतनी ही राशि का भुगतान सरकार स्‍वयं करेगी। 60 वर्ष की आयु के बाद 3 हज़ार रुपए महीना पेंशन दी जाएगी। अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर में इसके लिए पंजीयन करवाया जा सकता है।

10वीं और 12वीं की दूरदर्शन के माध्यम से लगेंगी कक्षाएं

0
doordarshan

भोपाल ! मध्‍य प्रदेश के सरकारी स्कूलों के बच्चे दूरदर्शन पर पढ़ाई करेंगे। अभी दसवीं व बारहवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए दूरदर्शन के माध्यम से कक्षाएं शुरू होंगी। यह व्यवस्था स्कूल शिक्षा विभाग और दूरदर्शन मप्र की ओर से शुरू की जा रही है।

doordarshan

सभी जिलों के ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों के विद्यार्थियों की पढ़ाई सुचारू रूप से संचालित हो, इसके लिए विभाग ने दूरदर्शन से अनुबंध किया है। दूरदर्शन क्लासरूम के नाम से यह कार्यक्रम 11 मई से प्रारंभ होकर 30 जून तक चलेगा। ये कक्षाएं दो पालियों में दो घंटे तक चलेंगी। कोरोना संक्रमण की वजह से स्कूलों के बंद होने पर विभाग ने यह पहल की है।

दूरदर्शन मप्र पर सोमवार से शुक्रवार तक कक्षा 10वीं के लिए दोपहर 12 बजे से 1 बजे तक और 12वीं के विद्यार्थियों के लिए दोपहर 3 से शाम 4 बजे तक कार्यक्रम प्रसारित होगा। इसमें एक घंटे का प्रसारण निशुल्‍क होगा, सिर्फ एक घंटे के प्रसारण के लिए विभाग खर्च करेगा।

वहीं, दूरदर्शन पर प्रसारित होने वाले डिजिटल कंटेंट को शिक्षकों के लिए भी उपलब्‍ध। कराया जाएगा। इससे ऑनलाइन कक्षाओं के दौरान विद्यार्थियों द्वारा पूछे जाने वाले सवाल पर समझा सकेंगे। ज्ञात हो कि दूरदर्शन के माध्यम से प्रदेश भर के दसवीं व बारहवीं के करीब 18 लाख विद्यार्थियों को फायदा मिलेगा।

ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यार्थियों को भी मिलेगा फायदा

विभाग के अधिकारियों का मानना है कि ग्रामीण से लेकर शहरी क्षेत्रों में हर घर में टीवी उपलब्‍ध है। अगर दूरदर्शन के माध्यम से कक्षाएं लगाई जाएं तो सभी वर्ग के विद्यार्थियों को इसका फायदा मिलेगा। इसके अलावा विभाग व्‍हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से भी ऑनलाइन कक्षाएं संचालित कर रहा है। इसके अलावा पहली से आठवीं कक्षा के बच्चों के लिए रेडियो स्कूल संचालित किए जा रहे हैं। साथ ही विभाग स्थानीय केबल के माध्यम से भी कार्यक्रम प्रसारित कर रहा है।

215 स्टेशनों को COVID-19 आइसोलेशन ट्रेनों के लिए किया चिन्हित

0
Train

कोरोनोवायरस मामलों की संख्या में बढ़ोतरी की आशंका के मद्देनजर भारतीय रेलवे (Indian Railways) ने देश के 23 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 215 रेलवे स्टेशनों को चिन्हित किया है, जहां नए Isolation Coaches वाली ट्रेनें तैनात की जा सकती हैं।

Train

ये सभी रेलवे स्टेशन ग्रीन जोन के साथ-साथ ऑरेंज जोन में भी स्थित हैं। राज्य सरकारों के अनुरोध पर, आइसोलेशन वार्ड ट्रेन सेवाओं को रेलवे स्टेशनों पर तैनात किया जाएगा और उसे नजदीकी COVID-19 अस्पताल से लिंक किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा हाल ही में जारी किए गए दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि COVID-19 मामलों की संख्या में हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए, भारतीय रेलवे के डिब्बों को कोरोना वायरस केयर सेंटर के तौर पर इस्तेमाल किया जाए।

सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार, ट्रेन के डिब्बों का उपयोग संदिग्ध मामलों या कोरोना पॉजिटिव मामलों के लिए किया जाएगा, जिनमें फिलहाल संक्रमण बहुत हल्के स्तर पर मौजूद है। इन्हें इसी हिसाब से बांटा जाएगा। SOP के अनुसार अलग-अलग कोचों का इस्तेमाल संदिग्ध और कोरोना के कन्फर्म मामलों के लिए किया जाएगा। इसके साथ ही मरीजों को अलग से कैबिन दिया जाएगा। जरुरत पड़ने पर एक कैबिन दो मरीजों को दिया जा सकता है।

मुख्य शहरों के स्टेशनों की ये है सूची

देश के मुख्य शहरों के स्टेशनों की सूची में दिल्ली, कोलकाता, बेंगलुरु, मुंबई, हैदराबाद और चेन्नई शामिल हैं। इसके अलावा उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, गुजरात, असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड, जम्मू एवं कश्मीर, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, हरियाणा, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, गोवा, त्रिपुरा, महाराष्ट्र, झारखंड, पंजाब और कर्नाटक राज्य के मुख्य शहर भी शामिल हैं।

उत्तर प्रदेश के 27 स्टेशन, महाराष्ट्र के 21 स्टेशन, पश्चिम बंगाल के 18 स्टेशन, बिहार के 15 स्टेशन, मध्यप्रदेश के 14 स्टेशन, कर्नाटक के 14 स्टेशन, असम के 13 स्टेशन, गुजरात के 11 स्टेशन, तमिलनाडु के 10 स्टेशन, ओडिशा के 9 स्टेशन, पंजाब के 7 स्टेशन, झारखंड के 7 स्टेशन, केरल के 3 स्टेशन, जम्मू कश्मीर के 2 स्टेशन और तेलंगाना के 2 स्टेशन शामिल हैं।

मालवा-निमाड़ में अब तक 220 संक्रमित, 43 की मौत

0
malwa_corona

कोरोना वायरस संक्रमण के 19 नए केस आए हैं। इन्हें मिलाकर अब संक्रमितों का आंकड़ा 220 पहुंच गया है। नए मामलों में आठ बड़नगर के हैं। ये एक ही परिवार के सदस्य हैं और संक्रमित वेद परिवार के पड़ोसी हैं। शेष नए केस उज्जैन के हैं। नए मामलों में से अधिकांश कंटेनमेंट इलाकों से हैं।

malwa_corona

उज्जैन शहर के सखीपुरा इलाके में भी एक महिला में संक्रमण की पुष्टि हुई है। बुरहानपुर में पांच नए संक्रमित मिले। उज्जैन जिले में मिले नए मामलों में से अधिकांश पहले से ही क्वारंटाइन हैं।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के अनुसार, कई मामलों में लक्षण नहीं मिल रहे, इसलिए और सावधानी बरतना जरूरी है। हालांकि अब जिले का रिकवरी रेट भी सुधर रहा है। शुक्रवार सुबह तक 55 मरीज ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके थे। बड़नगर में अब तक कुल 32 संक्रमित जिले के बड़नगर में भी संक्रमण तेजी से फैला है।

यहां वेद परिवार के पड़ोसी एक ही परिवार के आठ सदस्यों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इन्हें मिलाकर अब तक यहां 32 लोग कोविड-19 की चपेट में हैं। चार लोगों की मौत भी हो चुकी है। ये सभी वेद परिवार के थे। नवागत एसपी ने लिया चार्ज उज्जैन के नए पुलिस कप्तान मनोज कुमार सिंह ने शुक्रवार को ज्वॉइनिंग की।

वे उज्जैन से पहले आगर-मालवा जिले के एसपी थे। आमद के ठीक बाद उन्होंने महाकाल शिखर दर्शन किए। इसके बाद एसएसपी सचिन अतुलकर से चार्ज लिया। बता दें कि हाल ही में उज्जैन में कलेक्टर को भी बदला गया है।

मध्‍य प्रदेश में 15 लाख रुपये की निःशुल्क राइड की सुविधा देगी उबर

0
UBER

भोपाल ! उबर कैब कंपनी ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन में मप्र सरकार को 15 लाख रुपये की निशुल्क राइड की सुविधा देने का ऐलान किया है।

UBER

स्वाथ्यकर्मियों व नॉन-कोविड मरीजों के परिवहन सुविधा

कंपनी भोपाल व इंदौर में स्वाथ्यकर्मियों व नॉन-कोविड मरीजों के परिवहन सुविधा उपलब्‍ध कराएगी। 23 शहरों में 35 से ज्यादा अस्पतालों में काम कर रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों को परिवहन की सुविधा देगी।

परिवहन सेवा से पहले संबंधित कैब को सैनिटाइज किया जाएगा

उबर इंडिया व साउथ एशिया के डायरेक्टर प्रभजीत सिंह ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि मप्र सरकार कोविड-19 को रोकने के लिए निरंतर कार्य कर रही है। ऐसी चुनौती के समय में उबर कैब 15 लाख रुपये की परिवहन सेवा निशुल्क देने का फैसला लिया है। परिवहन सेवा उपलब्‍ध कराने से पहले संबंधित कैब को सैनिटाइज किया जाएगा। सुरक्षित शारीरिक दूरी का ध्यान रखते हुए स्वास्थ्यकर्मियों को बैठाया जाएगा।

ड्राइवर मास्क व दस्ताने का इस्तेमाल करेंगे। भोपाल व इंदौर में ही 50 कैब को निशल्क परिवहन सेवा मुहैया कराने में लगाया गया है। इस सेवा का नाम उबर मेडिकल सेवा रखा गया है। कैब स्वास्थ्य कर्मियों को अस्पताल छोड़ने व घर ले जाने का काम करेगी।

आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में लीक हुई जहरीली Styrene Gas, बचने का है यह तरीका

0
styrene-gas

आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम में Vizag की पॉलीमर फैक्ट्री से लीक हुई जहरीली गैस से सैंकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं। अब तक इस जहरीली गैस से 8 लोगों की मौत होने की जानकारी सामने आ रही है, वहीं लगभग 170 लोगों को अब तक अस्पताल में भर्ती कराया जा चुका है।

styrene-gas

इस पॉलीमर फैक्ट्री से जहरीली Styrene Gas का रिसाव हुआ है जिसकी जद में सैंकड़ों लोग आ गए है। यह जहरीली गैस कितनी खतरनाक हो सकती है इसका इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि इसके दुष्प्रभाव से लोगों में कैंसर जैसी गंभीर बीमारी तक हो सकती है। यह देखने और सुनने की क्षमता पर भी असर डाल सकती है।

यह समस्याएं कर सकती है पैदा

जहरीली Styrene Gas के सीधे संपर्क में आने पर कई तरह की शारीरिक दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। Styrene Gas का आमतौर पर इस्तेमाल प्लास्टिक यानि पॉलिविनाइल क्लोराइड बनाने वाले प्लांट्स में किया जाता है। ये इथाइल बेंजीन से बनाई जाती है। इससे आंखों में तेज जलन के साथ ही सांस लेने में भी तकलीफ होती है।

एक स्टडी के मुताबिक यह गैस अगर सीधे इंसान के संपर्क में आती है तो कैंसर का कारण भी बन सकती है। हालांकि इसे लेकर अब तक विशेषज्ञ एकमत नहीं हैं। इस घातक गैस के संपर्क में आने पर स्किन प्रॉब्लम हो सकती है। इसके अलावा उल्टियां होना, जी घबराना जैसे लक्षण भी सामने आते हैं। इससे लगातार खुजली होने की शिकायत हो सकती है। इससे बचने के लिए संपर्क में आने के तत्काल बाद दूषित कपड़े उतारना जरूरी है। Styrene Gas इंसानों के नर्वस सिस्टम पर भी असर डालती है। यह पैंक्रियाटिक कैंसर को भी जन्म दे सकती है।

बचने के लिए करें ये काम

विजाग हादसे के बाद हिदायतें भी जारी की गई हैं। इसके तहत लोगों को ज्यादा पानी पीने की सलाह दी गई है। घर में रहने के दौरान भी मास्क पहने रहें या फिर गीले कपड़े को मुंह पर बांधे रहें। आंखों में अगर खुजली हो रही है तो Eye Drops का इस्तेमाल करें। अगर बेहतर महसूस नहीं कर रहे हैं तो एंटी एलर्जिक दवा Citrizen लें। उल्टियां होने की सूरत में Domstol टैबलेट लें। गैस के प्रभाव को खत्म करने के लिए दूध, केला सहित अन्य पौष्टिक आहार लें। अगले 48 घंटे तक घर में ही रहें, किसी भी काम के लिए घर से बाहर न निकलें।

छोटे और मझोले उद्योगों पर अब फोकस

0
industry

भोपाल ! कोरोना संकट से उबरने के बाद सरकार का फोकस आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने पर होगा। इसके लिए छोटे और मझोले उद्योगों को प्रोत्साहित किया जाएगा। इन्हें न सिर्फ बैंकों से विभिन्न योजनाओं के तहत कर्ज दिलवाया जाएगा बल्कि उत्पादों को बाजार भी मिल सके, इसकी भी चिंता की जाएगी।

industry

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इसके लिए वित्त और उद्योग विभाग के अधिकारियों को रणनीति बनाने के निर्देश दिए हैं। श्रम कानूनों में भी कुछ बदलाव ऐसे किए हैं, जिसका सीधा फायदा उन उद्योगों को मिलेगा। प्रदेश में 22 हजार 232 सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग हैं। इनमें से 70 फीसदी शहरी क्षेत्रों में हैं।

लॉकडाउन में भोपाल, इंदौर और उज्जैन में औद्योगिक गतिविधियां पूरी तरह से बंद हैं लेकिन बाकी रेड जोन के ग्रामीण सहित अन्य जिलों में गतिविधियां शुरू हो गई हैं। लगभग 15 प्रतिशत उद्योगों में काम भी शुरू हो गया है। इनमें 23 हजार से ज्यादा श्रमिकों को काम भी मिल रहा है।

उद्योग विभाग के अधिकारियों का कहना है कि छोटे और मझोले उद्योगों में लागत कम होती है और लोगों की भी कम जरूरत पड़ती है, इसलिए इन्हें प्राथमिकता में रखा गया है। इसके जरिए बड़े पैमाने पर रोजगार खड़ा किया जा सकता है। मुख्यमंत्री स्व-रोजगार सहित कई अन्य योजनाएं हैं, जिनमें सरकार सब्सिडी देती है और बैंकों से ऋण दिलाए जाते हैं। पिछले दो-तीन साल में आर्थिक मंदी के कारण बैंकों से प्रकरणों के स्वीकृत होने की संख्या काफी कम हो गई थी।

EPFO सब्सक्राइबर्स को Free Life Insurance 6 लाख रुपए तक का मिलता है

0
EPF

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) अपने हर खाताधारक को 6 लाख रुपए का Free Life Insurance यानी मुफ्ती जीवन बीमा प्रदान करता है। जैसे ही कर्मचारी का PF या EPF कटता है, वह कर्मचारी भविष्य निधि संगठन का सदस्य बन जाता है और EPFO के EDLI 1976 नियम के तहत वह Free Life Insurance का पात्र भी बन जाता है।

EPF

EPFO के खाताधारक अपनी मंथली बेसिक सेलरी के 20 गुना या 6 लाख रुपए, जो भी राशि कम है, का बीमा हो जाता है। यदि खाताधारक की लंबी बीमारी, एक्सिडेंटल या नॉर्मल डेथ होती है तो नॉमिनी बीमा क्लेम कर सकता/सकती है।

EPFO के EDLI नियमों के तहत हर खाताधारक बिना कोई किस्त भर इस बीमा सुविधा का पात्र होता है। इसका सबसे ज्यादा फैक्टरियों के उन कर्मचारियों का होता है जो कोई और बीमा नहीं ले पाते हैं। कई कंपनियों अपने कर्मचारियों का बीमा करवाती हैं, लेकिन किस्त भी कर्मचारियों से ही भरवाती हैं। इस तरह EPFO की यह बीमा सुविधा ज्यादा फायदेमंद है।

जानिए EDLI क्या है?

एक EPFO खाताधारक को EDLI यानी employees diposite linked insurance के बारे में जानकारी जरूर होना चाहिए। इस बीमा के तहत नियोक्ता द्वारा 0.5 प्रतिशत योगदान दिया जाता है और कर्मचारी की मृत्यु होने पर उसके नॉमिनी या परिजन को 6 लाख तक की उक्त राशि प्रदान की जाती है। EPFO में शामिल होने वाले सभी कर्मचारी EDLI 1976 के तहत कवर किए जाते हैं। ईडीएलआई प्राकृतिक कारणों, बीमारी या दुर्घटना के कारण मौत की स्थिति में बीमित व्यक्ति के मनोनीत लाभार्थी को एकमुश्त भुगतान प्रदान करता है।

कोरोना के बढ़ते संक्रमण से मालवा-निमाड़ में एक दिन में 12 पॉजिटिव

0
corona

कोरोना के बढ़ते संक्रमण से मालवा-निमाड़ बेहाल है। गुरुवार को मंदसौर में एक दिन में 12 पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं, वहीं नीमच में एक, बुरहानपुर में चार और उज्जैन के तीन नए मरीज मिले हैं।

corona

रतलाम जिले में शराब की दुकानें खुलने पर लोगों की भारी भीड़ नजर आई। मंदसौर में भोपाल से 73 सैंपलों की रिपोर्ट आई। इसमें 12 लोग पॉजिटिव मिले हैं। जिले में अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या 52 हो गई है। इनमें से चार की मौत हो चुकी है और छह स्वस्थ हो गए हैं। रेड जोन होने के बाद भी बारी-बारी से दुकानें खुलना शुरू हो गई हैं।

गुरुवार को नमकीन, स्टेशनरी, सीमेंट, सरिये की दुकानें भी खुलीं। नीमच का पॉजिटिव अहमदाबाद में मिला नीमच के सराफा व्यवसायी उपचार कराने उदयपुर गए थे। वहां से उन्हें अहमदाबाद रेफर किया गया। इस बीच उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिले में मरीजों की संख्या पांच हो गई। सराफा व्यवसायी के परिवार के सदस्यों को होम आइसोलेट किया गया है। उनके बेटे व बहू डॉक्टर होने से उनके नर्सिंग होम को भी सील कर दिया है। उनके स्टाफ को अस्पताल में ही क्वारंटाइन किया गया है।

सरकारी कॉलेजों के जनभागीदारी अध्यक्षों को हटाया

0
janbhagidari

भोपाल। मध्‍य प्रदेश के सभी सरकारी कॉलेजों के जनभागीदारी अध्यक्षों को हटाते हुए जनभागीदारी समितियों को भंग कर दिया गया है। इस संबंध में उच्च शिक्षा विभाग ने बुधवार को आदेश जारी कर दिए हैं। गौरतलब है कि इस संबंध में नवदुनिया ने 1 मई को सबसे पहले खबर छापकर जनभागीदारी समितियों के जल्द भंग किए जाने की जानकारी दी थी। आदेश उच्च शिक्षा विभाग के सचिव अजीत कुमार ने जारी किए हैं।

janbhagidari

उच्च शिक्षा विभाग ने तीन माह पहले सवा सौ जनभागीदारी समीतियों का गठन किया था। इसमें एक दर्जन विधायकों के साथ शेष कांग्रेस के पूर्व विधायक और कार्यकर्ता शामिल थे। उक्त समितियों को भंग करने के बाद अब विभाग नये सिरे से प्रदेशभर के करीब 516 कालेजों में समितियों को स्थापित करेगा।

अब इसमें दस-दस सदस्यों को शामिल किया जाएगा। इससे करीब 1200 भाजपा नेताओं को बैठाने की तैयारी शुरू हो गई है। इसमें वे अध्यक्ष के साथ अन्य सदस्यों के रूप में शामिल किया जाएगा। समितियों में प्राचार्य सचिव सदस्य होता है। जबकि अध्यक्ष के रूप में जनप्रतिनिधि के रूप में विधायक या सांसद के साथ जिला पंचायत, जनपद पंचायत सदस्य को शासन नियुक्त करता है।

उपाध्यक्ष के तौर पर कलेक्टर प्रतिनिधि को शामिल किया जाता है। इसके साथ सांसद और विधायक के एक-एक प्रतिनिधि को शामिल किया जाता है। उद्योगपति, पूर्व छात्रों के दो-दो अभिभावक और एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग से एक-एक अभिभावक, महिला अभिभावक और यूजीसी से मनोनीत सदस्य को शामिल किया जाता है।

20 दिन में 45 लाख मीट्रिक टन पहुंची गेहूं की खरीदी

0
gehu

भोपाल । कोरोना संकट के बीच प्रदेश में समर्थन मूल्य पर हो रही गेहूं की खरीदी ने पिछले कई रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। 20 दिन में 45 लाख मीट्रिक टन से ज्यादा गेहूं खरीदा जा चुका है। पिछले साल यह आंकड़ा खरीदार एजेंसियां करीब 40 दिन में छू पाई थीं। इसी तरह प्रदेश में पहली बार एक दिन में पांच लाख मीट्रिक टन गेहूं मंगलवार को खरीदा गया।

gehu

खरीदी प्रक्रिया में लगभग ढाई लाख अधिकारी-कर्मचारी लगाए गए हैं। ऐसा भी पहली बार ही हुआ है। बताया जा रहा है कि इस बार अधिकतम खरीद (83 लाख मीट्रिक टन) का रिकॉर्ड भी टूटने के पूरे आसार हैं। कोरोना संकट के कारण किसानों को आशंका थी कि उनका गेहूं पता नहीं कब और कैसे बिकेगा। सरकार ने पहले तो हार्वेस्टर का इंतजाम करवाकर कटाई करवाई और फिर जोखिम उठाते हुए 15 अप्रैल से समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू करवा दी।

किसानों ने भी शारीरिक दूरी का पालन किया और वे किसान ही खरीदी केंद्र पर आए, जिन्हें एसएमएस देकर बुलाया गया था। इस बार अब तक 8.30 लाख किसान फसल बेच चुके हैं, जबकि पिछले पूरे सीजन में कुल 8.65 लाख किसानों ने गेहूं बेचा था। यह स्थिति भी तब है, जब सरकार ने व्यापारियों को निजी मंडी खोलने और किसानों के घर व खेत जाकर खरीदी करने की इजाजत दी है।

कोरोना संक्रमण नीमच पहुंचा

0
neemuch

कोरोना संक्रमण नीमच पहुंच गया। मंगलवार देर रात मिली रिपोर्ट में दो क्षेत्रों से चार लोग पॉजिटिव मिले। कलेक्टर जितेंद्र सिंह राजे ने नगरीय क्षेत्र में कर्फ्यू के निर्देश दिए। झाबुआ जिले में भी पहला केस सामने आया। नीमच में गत सप्ताह इसी परिवार में आए दाहोद निवासी मेहमानों में से 7 सदस्य कोरोना पॉजिटिव निकले थे। सूचना पर नीमच का संबंधित क्षेत्र कंटेनमेंट क्षेत्र बना दिया गया था।

neemuch

मंगलवार रात मिली 46 रिपोर्ट में से 41 निगेटिव, 1 रिजेक्ट व 4 पॉजिटिव आई हैं। खास बात यह है कि इन चारों पॉजिटिव लोगों में वायरस के एक भी लक्षण नहीं पाए गए। कर्फ्यू लगते ही अफीम तौल नहीं हो सकी।

झाबुआ की किलेबंदी में भी सेंध

जिले के पेटलावद के गांव नाहरपुरा की महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। नाहरपुरा क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर स्वास्थ्य टीम भेजी गई है। महिला के घर को सील कर दिया गया है। बता दें कि महिला 29 अप्रैल को नीमच के नयागांव (राजस्थान सीमा) से मजदूरों को लाने वाली बस से अपने गृहगांव आई थी। बस में यात्रा करने वाले दाहोद निवासी परिवार के 14 लोग भी सवार थे। इनमें से 7 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

इसके बाद प्रशासन ने बस में यात्रा करने वाले झाबुआ जिले के नाहरपुरा, रलियामन और खोरिया के मजदूरों को क्वारंटाइन कर सैंपल जांच के लिए भेजे थे। आने के बाद महिला पिता के घर गांव केसरपुरा भी गई थी। उन लोगों को भी भी क्वारंटाइन किया गया है। बस में सवार यात्रियों की सूची भी त्रुटिपूर्ण सामने आई।

वैशाख पूर्णिमा को है दान का महत्व

0
V_purnima

वैशाख पूर्णिमा का शास्त्रों में बहुत महत्व बतलाया गया है। मान्यता है कि इस दिन दान-पुण्य करने से सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है और कष्टों से छुटकारा मिलता है। इस समय गर्मी अपने चरम पर होती है इसलिए जल और जल से संबंधित वस्तुओं का दान करने का बड़ा महत्व है। कहा यह भी जाता है कि इस व्रत के प्रभाव से अकाल मृत्यु का भय नहीं रहता है।

V_purnima

वैशाख पूर्णिमा की पूजाविधि

वैशाख पूर्णिमा के दिन सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं। इसके बाद पूजन के लिए घर के मंदिर को गंगाजल या किसी पवित्र नदी या उसके अभाव में स्वच्ठ जल से धोकर साफ करें। भगवान विष्णु को पंचामृत से स्नान करवाने के बाद शुद्ध जल से स्नान करवाएं और एक पाट पर साफ कपड़ा बिछाकर उनको उसके ऊपर विराजित करें। श्रीहरी की कुमकुम, अक्षत, अबीर, गुलाल, हल्दी मेंहदी, सुगंधि फूल आदि से पूजा करें। पंचामृत, पंचमेवा, ऋतुफल, मिठाई आदि का भोग लगाएं। घी का दीपक और धूपबत्ती जलाएं। भगवान विष्णु की आरती के साथ पूजा का समापन करें और पूजा के बाद ब्राह्मणों और जरूरतमंदों को भोजन करवाएं, दान करें।

वैशाख पूर्णिमा 2020 तिथि और मुहूर्त

वैशाख पूर्णिमा तिथि – 7 मई, गुरुवार

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – 6 मई, बुधवार को 7 बजकर 44 मिनट से

पूर्णिमा तिथि समाप्त – 7 मई, गुरुवार को 4 बजकर 14 मिनट तक

वैशाख पूर्णिमा के दिन दान-पुण्य और धर्म-कर्म करने का बड़ा महत्‍व है। इस तिथि को सत्य विनायक पूर्णिमा भी कहा जाता है। वैशाख पूर्णिमा पर ही भगवान विष्णु का तेइसवें अवतार महात्मा बुद्ध के रूप में अवतरीत हुए थे, इसलिए बौद्ध धर्म के अनुयायियों के लिए इस दिन का बड़ा महत्व हैं।

आतंकियों से जारी मुठभेड़ में रियाज नाइकू सहित 6 आतंकी ढेर

0
Hijbul

कश्मीर घाटी में आतंकवाद के खिलाफ बुधवार को सुरक्षा बलों की बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। सुरक्षाबलों ने बुधवार को अवंतीपोरा में दो अलग-अलग जगहों पर हुई आतंकी मुठभेड़ में हिजबुल के टॉप कमांडर रियाज नाइकू सहित 6 आतंकियों को मार गिराया है। हालांकि दोनों मुठभेड़ स्थल से सुरक्षाबलों ने अभी तक चार शव ही बरामद हुए है।

Hijbul

हिजबुल मुजाहिदीन कमांडर रियाज नाइकू का मारा जाना आतंकी संगठन के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है। नाइकू पिछले मंगलवार रात को अपने पैतृक गांव बेगीपोरा आया हुआ था, सुरक्षाबलों ने सूचना मिलने पर उसको चारों तरफ से घेर लिया। उसके साथ 2 से 3 अन्य आतंकवादी भी थे। उन सभी के मुठभेड़ में मारे जाने की सूचना है परंतु अभी तक पुलिस व सुरक्षाबलों ने न तो इसकी पुष्टि की है और न ही मुठभेड़ में मारे गए दो अन्य आतंकियों की पहचान बताई है। अगर स्थानीय सूत्रों की मानें तो मारे गए अन्य आतंकवादियों में हिज्ब डिप्टी कमांडर सैफुल्ला और जुनेद सहराइ का नाम सामने आ रहा है। वहीं अवंतीपोरा से 12 किलोमीटर दूर शारशाली में चल रही दूसरी मुठभेड़ में भी सुरक्षाबलों ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया है।

पुलिस को अनुसार नाइकू की मां की सेहत पिछले कई दिनों से खराब चल रही है। वह अपनी मां से मुलाकात के लिए ही मंगलवार को अपने गांव पेगीपोरा पहुंचा था। उसके साथ में दो से तीन और आतंकी भी थे। विश्वसनीय सूत्रों ने मंगलवार रात को ही पुलिस को इस बात की जानकारी दे दी थी। सूचना मिलते ही पुलिस की एसओजी, सेना की 55 आरआर ओर सीआरपीएफ 185 बटालियन के जवानों ने गांव पेगीपोरा की पुख्ता घेराबंदी कर ली थी। सुबह नाइकू को ढूंढने के लिए जब घर-घर तलाशी अभियान चलाया तो अपने आपको घिरता देख आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी।

कर्मचारियों और संस्‍थानों को मिलेगा सुविधा का लाभ – EPFO

0
EPF

EPFO (Employees Provident Fund Organization) ने देश भर के लाखों सदस्‍यों, कर्मचारियों को बड़ी राहत देते हुए बुधवार शाम एक महत्‍वपूर्ण फैसला लिया है। इसके तहत अब कंपनियां, संस्‍थान कर्मचारियों के डिजिटल हस्‍ताक्षर, KYC, आधार बेस्‍ड ई-साइन जैसी महत्‍वपूर्ण जानकारियों को ई-मेल के ज़रिये ऑनलाइन भेज सकेंगे। श्रम मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि कोरोना संकट एवं लॉकडाउन के चलते यह सुविधा दी गई है।

EPF

सरकार के इस निर्णय से उन कंपनियों को फायदा होगा जो समय पड़ने कार्यालय नहीं पहुंच सकते। वर्तमान में कंपनी के अधिकृत व्‍यक्ति को ईपीएफओ (कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन) कार्यालय जाना होता है और डिजिटल हस्‍ताक्षर रजिस्‍ट्रेशन के लिए देना होता है। यह सुविधा नियोक्ताओं और EPF सदस्यों को राहत देगी।

लॉकडाउन के चलते पैदा हुए मौजूदा हालात के चलते अब कंपनी, नियोक्‍ता संस्‍थान भी असुविधा का सामना कर रहे हैं। वे पूरी प्रक्रिया को ठीक प्रकार से संचालित करने में परेशानी का अनुभव कर रहे हैं। इसमें EPFO ईपीएफओ के पोर्टल पर आधार बेस्‍ड ई-साइन और डिजिटल हस्‍ताक्षर का काम प्रभावित हो रहा है। इतना ही नहीं, KYC केवाईसी, अटेस्‍टेशन, ट्रांसफर क्‍लेम अटेस्‍टेशन जैसे जरूरी काम भी कंपनी के अधिकृत व्‍यक्ति द्वारा ऑनलाइन ही किए जा रहे हैं। इन सब कामों में EPFO Portal ईपीएफओ के पोर्टल पर डिजिटल हस्‍ताक्षर या आधार बेस्‍ड ई-साइन Aadhar Based e-sign का उपयोग किया जाता है।

डिजिटल हस्‍ताक्षर या ई-साइन का उपयोग करने के लिए ईपीएफओ के क्षेत्रीय कार्यालय से वन टाइम का अप्रूवल लेना होता है। लेकिन लॉकडाउन के चलते अधिकांश कंपनी, नियोक्‍ता अपनी वन-टाइम रजिस्‍ट्रेशन रिक्‍वेस्‍ट को ईपीएफओ के क्षेत्रीय कार्यालय तक पहुंचाने में असुविधा का सामना कर रहे हैं। क्षेत्रीय कार्यालयों के आधिकारिक ई-मेल एड्रेस www.Epfindia.Gov.In पर उपलब्ध हैं।

श्रम मंत्रालय के बयान के अनुसार, “यदि अप्रूव्‍ड डिजिटल हस्ताक्षर के संबंध में उनका नाम समानर है, तो उनके आधार में, ई-साइन के पंजीकरण के लिए किसी और अप्रूवल की आवश्यकता नहीं होगी। अन्य अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता अपने ई-मैसेज को रजिस्‍टर्ड कर सकते हैं और रिक्‍वेस्‍ट भेज सकते हैं। नियोक्ताओं द्वारा अप्रूव्‍ड और संबंधित ईपीएफओ कार्यालयों की मंजूरी लेनी चाहिए। ”

शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारों की सहायता के लिये हेल्प-डेस्क प्रारंभ होगी

0
police

भोपाल । गृह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने आज पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में उच्चतम वेतनमान पर कार्यरत पुलिसकर्मियों को पदनाम देने पर सैद्धांतिक सहमति व्यक्त करते हुए प्रस्ताव देने के निर्देश पुलिस महानिदेशक को दिये।

police

उन्होंने शहीद पुलिसकर्मी और अन्य मृतक पुलिसकर्मियों के परिवारों की सहायता करने के लिये हेल्प-डेस्क प्रारंभ करने के निर्देश दिये। मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि कोरोना ने हमारी दिनचर्या को प्रभावित किया है। हमें इसके अनुसार ही अपनी तैयारियाँ करनी होंगी और आवश्यक रणनीति बनाकर कार्य करना होगा। इसके पूर्व मंत्री डॉ. मिश्रा और पुलिस महानिदेशक विवेक जोहरी ने कोरोना जंग में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा क‍ि कोरोना संक्रमण काल में आम व्यक्ति का पुलिस के प्रति नजरिया बदला है। कोरोना की जंग में पुलिस विभाग ने जिस तन्मयता, एकाग्रता और शालीनता के साथ कार्य किया उसकी आम जनता ने दिल से सराहना की है। लॉकडाउन की अवधि में जब आम व्यक्ति घरों में रह रहा था, तब पुलिसकर्मियों ने सुरक्षा के लिये कार्य करते हुए जनता के दिलों में अपना विशेष स्थान बनाया। इस मुश्किल दौर में पुलिसकर्मियों को प्रोत्साहित करने के लिये उनके कल्याण के लिये कार्य करने की आवश्यकता है।

पुलिस महानिदेशक विवेक जोहरी ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न कंटेनमेंट जोन में 6 हजार से अधिक पुलिसकर्मी सक्रियता पूर्वक मुस्तेदी से कार्य कर रहे है। कोरोना की जंग में इंस्पेक्टर देवेन्द्र कुमार चंद्रवंशी और यशवंत पाल, सब इंस्पेक्टर मायाराम खराड़ी और आरक्षक टिंकू रावत सेवा करते हुए शहीद हुये है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में 86 पुलिसकर्मी और 5 होमगार्ड के जवान कुल 91 कर्मचारी कोरोना संक्रमित होकर उपचाररत है।

लोकसेवा गारंटी कानून के तहत एक दिन में पंजीयन

0
LSG

भोपाल ! कोरोना संकट में उद्योगों को छूट देने के साथ रोजगार के ज्यादा से ज्यादा अवसर बनाने के लिए सरकार श्रम कानूनों में संशोधन करेगी। इसमें विभिन्न प्रकार के पंजीयन में लगने वाला 30 दिन का समय घटाया जाएगा। अब लोकसेवा गारंटी कानून के तहत एक दिन में ही ऑनलाइन पंजीयन होगा। वहीं, दुकानें भी सुबह छह से रात 12 बजे तक खोली जा सकेंगी।

LSG

उद्योगों में विभागीय निरीक्षण से छूट दी जाएगी और फैक्ट्री इंस्पेक्टर भी जांच नहीं करेंगे। उद्योग अपनी सुविधा से शिफ्ट में भी बदलाव कर सकेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर श्रम विभाग ने चार केंद्रीय और तीन राज्य अधिनियमों में संशोधन का खाका खींच लिया है।

अध्यादेश के जरिए इन्हें लागू किया जाएगा। श्रम कानूनों में सुधार को लेकर काफी समय से मांग उठ रही थी। औद्योगिक संगठनों ने भी सख्त कानूनों में संशोधन की मांग उठाई थी। इसके मद्देनजर मुख्यमंत्री लगातार बैठकें कर रहे थे। अब यह तय हुआ है कि चार केंद्रीय और तीन राज्य के अधिनियमों में संशोधन की अधिसूचना जारी की जाएगी।

विभागीय अधिकारियों का कहना है कि ठेका श्रमिक कानून के मुताबिक अभी 20 श्रमिकों को नियोजित करने पर ठेकेदारों को पंजीयन कराना होता है। इस सीमा को बढ़ाकर 50 श्रमिक करने का प्रावधान प्रस्तावित किया गया है। इसी तरह कारखाने की परिभाषा में विद्युत शक्ति के साथ दस के स्थान पर 20 श्रमिक और बिना विद्युत शक्ति के साथ 20 श्रमिक के स्थान पर 40 श्रमिक प्रस्तावित किया है। केंद्र सरकार द्वारा प्रस्ताव को मंजूरी देने पर छोटे उद्योगों को कारखाना अधिनियम में पंजीयन से मुक्ति मिल जाएगी।

गुजरात में कोरोना संक्रमित 441 नये मामले सामने आये

0
gujrat

गुजरात में कोरोना संक्रमित 441 नये मामले सामने आये है। अहमदाबाद मनपा आयुक्त विजय नेहरा भी कोरोना पोजीटिव व्यक्ति के संपर्क में आने के बाद 14 दिनों के होम कोरोन्टाइन हो गये है। गुजरात में मंगलवार को सबसे अधिक 49 लोगों की मौत हुई है। वहीं इस बीमारी से 186 लोग ठीक भी हुए हैं। उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

gujrat

गुजरात राज्य की मुख्य स्वास्थ्य सचिव जंयति रवि ने बताया कि गुजरात में मंगलवार शाम तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 6245 पर पहुंच गई है वहीं इस बीमारी से अब तक 368 लोगों की मौत हो चुकी है। जंयति रवि के मुताबिक बीते 24 घंटे के दौरान गुजरात में कोरोना वायरस के 441 नये मामले सामने आये है और 49 लोगों की मौत हुई है। गुजरात में सबसे अधिक अहमदाबाद में 349 व्यक्तियों की रिपोर्ट कोरोना पोजीटिव आयी है। वड़ोदरा में 20, सूरत में 17, राजकोट में 1, बनासकांठा में 1 पंचमहाल में 4, मेहसाणा में 10, बोटाद में 8, खेड़ा और साबरकांठा और महिसागर 4-4, भावनगर, गांधीनगर,पाटण, अरवल्ली और जूनागढ़ में दो-दो मामले सामने आये है।

HRD मंत्रालय ने CBSE बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित की 

0
CBSE

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (HRD Ministrty) ने बड़ी घोषणा करते हुए बताया है कि देशभर में अब 10वीं की बची हुई परीक्षाएं नहीं आयोजित होंगी। HRD मंत्रालय ने इसे लेकर अपने ऑफिशियल वेबसाइट पर नोटिफिकेशन भी जारी किया है।

CBSE

नोटिफिकेशन में स्पष्ट किया गया है कि अब देश में कहीं भी 10वीं की बची हुई परीक्षाएं नहीं होंगी। कोरोना वायरस संक्रमण और देशव्यापी लॉकडाउन के कारण 10वीं और 12वीं की कुछ परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी।

HRD मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि उत्‍तरी पूर्व दिल्‍ली के 10वीं के बच्‍चों को इस आदेश का लाभ नहीं मिलेगा। CBSE बोर्ड यहां स्थगित की गई परीक्षाएं आयोजित करेगा। हालांकि इन परीक्षा की तिथियां घोषित नहीं की गई हैं। मंत्रालय ने अपने नोटिफिकेशन में बताया कि उत्तर पूर्व दिल्ली में 10वीं की शेष बची परीक्षाओं की तिथियों की जानकारी 10 दिन पहले ही दी जाएगी। बता दें कि दिल्‍ली के इस हिस्से में हिंसा के कारण परीक्षाएं स्थगित की गई थी।

HRD मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि परीक्षाएं आयोजित करने से पहले स्थिति की समीक्षा की जाएगी और पूरी व्यवस्था के साथ परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी। इसके लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय के सारे निर्देशों का पालन किया जाएगा और खासतौर से सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाएगा। मंत्री ने कहा कि फिलहाल कोरोना वायरस के चलते स्थिति लगातार गंभीर बनी हुई है और ऐसे में छात्र-छात्राओं की जिंदगी खतरे में नहीं डाल सकते। कोई जोखिम नहीं उठाया जा सकता।

आतंकियों ने बड़गाम में किया ग्रेनेड हमला

0
Badgam

श्रीनगर : आतंकियों ने लगातार तीसरे दिन कश्मीर में आतंकी वारदात को अंजाम दिया है। अतंकियों ने बड़गाम के पखरपोरा में सुरक्षाकर्मियों पर ग्रेनेड से हमला बोला। मंगलवार को हुए इस हमले में दो जवानों सहित छह लोग घायल हो गए। घायलों में एक सीआरपीएफ कर्मी और एक जम्मू-कश्मीर पुलिस का असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर शामिल है।

Badgam

हमले में घायलों में तीन की हालत गंभीर है। इस बीच, सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए हमलावर आतंकियों को पकड़ने के लिए तलाशी अभियान चलाया है। जानकारी के अनुसार, पखरपोरा में सीआरपीएफ की 181वीं वाहिनी और पुलिस के जवानों का एक संयुक्त दस्ता नियमित गश्त पर था। बस स्टैंड के पास एक जगह छिपे हुए आतंकियों ने जवानों पर निशाना साधते हुए ग्रेनेड फेंका।

ग्रेनेड जवानों के पास गिरा और एक जोरदार धमाके के साथ फट गया।धमाके से अफरा-तफरी फैल गई और लोग जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों की तरफ भागे। इसी अफरा-तफरी का फायदा उठाते हुए आतंकी भी भाग निकले। इस बीच, धमाके की आवाज सुनते ही निकटवर्ती इलाके में मौजूद पुलिस और सीआरपीएफ के अन्य जवान भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने इलाके को घेरकर वहां घायल सुरक्षाकर्मियों व अन्य लोगों को अस्पताल पहुंचाया। उपजिला अस्पताल के एक डॉक्टर ने बताया कि घायलों में जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर गुलाम रसूल उर्फ दिलावर, सीआरपीएफ कर्मी संतोष कुमार और चार अन्य नागरिक शामिल हैं। घायलों में दो महिलाएं भी हैं। एसएसपी बड़गाम नागपुरे अमोद ने ग्रेनेड हमले की पुष्टि करते हुए बताया कि आतंकियों को पकड़ने के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चलाया गया है।

संक्रमित क्षेत्रों में नहीं शुरू होंगी औद्योगिक इकाइयां, ग्रीन जोन में पूरी छूट

0
Industry

भोपाल : प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए लॉकडाउन के तीसरे चरण में अधिकांश औद्योगिक गतिविधियां शुरू की जाएंगी। सिर्फ रेड और ऑरेंज जोन वाले जिलों के संक्रमित (कंटेनमेंट) क्षेत्र में किसी प्रकार की औद्योगिक गतिविधियां फिलहाल नहीं की जा सकेंगी। यहां के ग्रामीण क्षेत्रों में जिला आपदा प्रबंधन समूह की अनुमति लेकर उद्योग संचालित किए जा सकेंगे। ग्रीन जोन में पूरी तरह से छूट रहेगी और किसी प्रकार की अनुमति भी नहीं लेनी होगी।

Industry

उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. राजेश राजौरा ने सभी कलेक्टरों को गाइडलाइन जारी करते हुए बताया है कि अब प्रदेश में बड़े, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग संचालित किए जा सकते हैं। रेड और ऑरेंज जोन के ग्रामीण क्षेत्रों में स्पेशल इकॉनामी जोन की सभी इकाईयां, निर्यात करने वाली इकाई, औद्योगिक क्षेत्र, संस्थान में स्थापित इकाइयां, फार्मास्यूटिकल, चिकित्सा उपकरण, हेल्थ केयर उत्पाद की निर्माण इकाईयों के साथ इनके निर्माण के लिए कच्चा माल बनाने वाली इकाइयां, आईटी हार्डवेयर और पैकेजिंग सामग्री की इकाईयों को शुरू किया जा सकेगा। ग्रीन जोन में श्रमिकों, कर्मचारियों, कच्चे माल और तैयार उत्पाद के आवागमन के लिए भी किसी तरह की अनुमति की जरूरत नहीं होगी।

डॉ. राजौरा ने बताया कि रेड, ऑरेंज व ग्रीन जोन में संचालित उद्योगों में संक्रमित क्षेत्रों में रहने वाले श्रमिकों, कर्मचारियों, अधिकारियों को काम करने की अनुमति नहीं होगी। रेड और ऑरेंज जोन के ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित होने वाले उद्योगों में गैर संक्रमित क्षेत्रों से इकाइयों तक आने-जाने के लिए परिवहन पास की जरूरत नहीं होगी लेकिन नगरीय क्षेत्र के लिए पास लेना होगा।

जिला आपदा प्रबंधन समूह जिले की परिस्थिति को देखते हुए मानव संसाधन के आवागमन की अनुमति देने का निर्णय लेगा। रेड जोन में इंटर सिटी बसों का नहीं होगा संचालन विभाग ने साफ किया है कि ऐसे उद्योग, जो श्रमिकों को अपने परिसर में रहने की व्यवस्था करते हैं, उनको जिला आपदा प्रबंधन से अनुमति लेने की जरूरत नहीं होगी। रेड जोन के संक्रमित क्षेत्र के बाहर के क्षेत्रों में भी इंट्रास्टेट और इंटरसिटी बसों का संचालन नहीं होगा।

जनधन खाते में 500 रुपए क्या आपको भी नहीं मिल रहे

0
Jandhan

केंद्र सरकार द्वारा जन धन खाताधारकों के खाते में 500 रुपए की एक और किस्त जमा कर दी गई है। इसी के साथ अब लोग बैंकों में जाकर पैसे निकाल सकेंगे। ऐसा करने के लिए उन्हें कुछ नियमों का पालन करना होगा जो 4 मई से लागू हुए हैं।

Jandhan

दूसरों की तरह आपके जन धन खाते में 500 रुपए की किस्त नहीं आई है तो इसका मतलब हो सकता है आपका जन धन खाता बंद हो। इसका कोई भी कारण हो सकता है। अगर आपके भी खाते में पैसे नहीं आए हैं तो तुरंत अपना बैंक अकाउंट चेक करें की कहीं ये बंद तो नहीं है। दरअसल बहुत समय खाते का इस्तेमाल न करने से अकाउंट निष्क्रिय हो जाता है। अगर आप भी ऐसी ही दिक्कत का सामना कर रहे हैं तो हम आपको बताते हैं खाता फिर से चालू करवाने का तरीका।

यह है अकाउंट फिर से चालू करवाने का तरीका

जन धन खाता बंद हो गया हैं तो उसे किस तरह फिर से एक्टिवेट करवाया जा सकता है यह जानने से पहले यह पता करें कि आपका खाता बदं क्यों हुआ। जन धन योजना की शुरुआत 2014 में हुई थी, जिसके तहत 6 साल पहले सरकार ने सभी गरीब असहाय लोगों से बैंक में अकाउंट खोलने का आग्रह किया, जिसके तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली किसी भी प्रकार की वित्तीय सहायता की राशि लाभार्थियों के इसी बैंक खाते में ट्रान्सफर की जाती थी। पिछले 3 से 4 सालों में कुछ जन धन खातों में कोई भी राशि का आदान – प्रदान नहीं हुआ है। जिस कारण से बैंकों द्वारा उन खातों को निष्क्रिय या बंद कर दिया गया कर दिया गया हैं। ऐसे में इन्हें फिर चालू करवाने के लिए आपको आवेदन देना होता है।

जन धन खाता बंद होने के बाद फिर से कैसे खुलवाएं ?

यदि आपका भी जन धन खाता बंद हो गया हैं तो आप बहुत ही आसानी से इसे सक्रिय कर सकते हैं लेकिन इसके लिए कुछ बातें हैं जरुरी, वह क्या हैं एवं इसकी प्रक्रिया क्या हैं इसकी जानकारी इस प्रकार हैं –

जन धन खाते से जुड़ी सबसे पहली बात यह है कि आपका जन धन खाता Aadhaar Card से लिंक किया हुआ होना चाहिए। अगर ऐसा है तो फिर आपको कोई परेशानी नहीं आएगी। जिन लोगों का जन धन खाता आधार कार्ड से लिंक किया हुआ हैं और यदि उनका खाता काफी समय से लेनदेन नहीं होने की वजह से निष्क्रिय हो गया हैं, तो उन्हें चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। ऐसे में बैंक को अपने आधार कार्ड की जानकारी देने के कुछ समय के बाद उनका खाता फिर से सक्रिय हो जायेगा, और उन्हें योजना के तहत मिलने वाले लाभ की राशि भी प्राप्त हो जाएगी।

पीड़ितों की सेवा को बना लिया इबादत, रोजा रख बांट रही अनाज और मास्क – अफसाना

0
Narsighpur

नरसिंहपुर/ गांव का कोई जरूरतमंद किसी चीज खासतौर पर भोजन की सुविधा से वंचित न रहे इसके लिए ग्राम चंद्रपुरा की अफसाना बी पीड़ित वर्ग की सेवा को भी इबादत की तरह मानकर कार्य कर रही है। जज्बे से भरे उसके इस कार्य में परिवार के लोग भी सहयोग कर रहे हैं कि बेटी के मन में दूसरों की सेवा के लिए इस तरह की भावना है। रमजान में अफ़साना का यह कार्य रोजा रखने के बाद भी जारी है।

Narsighpur

गोटेगांव तहसील के ग्राम चंद्रपुरा की अफसाना बी स्व प्रेरणा से गांव के जरूरत मंद लोगों की मदद कर रहीं है। अफसाना ने बताया कि लॉकडाउन शुरू होने के बाद से ही उन्होंने घर में ही मास्क बनाकर लोगों को मास्क बांटने का कार्य शुरू किया था जिसमें अब तक वह करीब 600 मास्क लोगों को वितरित कर चुकी हैं।

गांव में कुछ ऐसे परिवार भी हैं जिनके घर कमाने वाला कोई नहीं है और या तो महिलाएं घर मे अकेली हैं या फिर घर के बच्चे छोटे हैं उन घरों में अपने घर से ही अनाज ले जाकर दिया है। जिससे उन्हें भोजन बनाने में कोई परेशानी न हो। अफसाना ने अपने गांव में अपने खर्चे पर ही दीवार लेखन, पेंटिंग्स, स्लोगन जैसे कार्यो के जरिए लोगो को संक्रमण से बचाव और एक दूसरे से शारीरिक दूरी रखने के लिए जागरूक किया है।

कैबिनेट के विस्तार से पहले कद्दावर नेताओं का विरोध

0
Shivraj

भोपाल ! शिवराज कैबिनेट के दूसरे विस्तार की सुगबुगाहट के साथ ही मध्य प्रदेश में उन कद्दावर नेताओं का भारी विरोध हो रहा है जो लंबे समय तक मंत्री बने रहे।

Shivraj

कार्यकर्ताओं के साथ ही उन जिलों के विधायकों द्वारा भी कैबिनेट में नए चेहरों को शामिल किए जाने की मांग की जा रही है। महाकोशल में अजय विश्नोई, गौरीशंकर बिसेन, विंध्य क्षेत्र में राजेंद्र शुक्ल, मालवा अंचल में विजय शाह का भारी विरोध हो रहा है।  शिवराज कैबिनेट में सिर्फ पांच मंत्री हैं। इनमें से दो सिंधिया समर्थक और तीन भाजपा के कोटे से हैं। शिवराज कैबिनेट के दूसरे विस्तार के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। कई स्तर पर चर्चाओं के दौर चल रहे हैं।

संभावना जताई जा रही है कि इसी सप्ताह कभी भी नए मंत्रियों को शपथ दिलाई जा सकती है। फिलहाल जो तैयारी है, उसके मुताबिक लगभग 23 मंत्रियों को शपथ दिलाने की तैयारी है। इसमें सिंधिया कैंप के आठ से 10 वे पूर्व विधायक हो सकते हैं, जो कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए हैं।13 चेहरे भारतीय जनता पार्टी के हो सकते हैं।

मंगल का कुंभ राशि में गोचर, ऐसा रहेगा राशियों पर असर

0
rashi

नौ ग्रहों में मंगल ग्रह को शौर्य और पराक्रम का देवता माना जाता है। इनको ग्रह मंडल में सेनापति का दर्जा दिया गया है।

rashi

सोमवार 4 मई को मंगल ग्रह ने राशि परिवर्तन कर दूसरी राशि में प्रवेश किया है। मंगल ने मकर राशि से कुंभ राशि में प्रवेश किया है। मंगल ग्रह कुंभ राशि में 18 जून तक रहेंगे। इस दौरान सभी राशियों पर मंगल के राशि परिवर्तन का शुभ-अशुभ असर पड़ेगा।। आइए जानते हैं विभिन्न राशियों पर पड़ने वाले इसके असर की।

मेष राशि

मंगल का यह राशि परिवर्तन मेष राशिवालों के लिए शुभ फलदायी रहेगा। आपका यह समय शॉपिंग में बितने की संभावना है। इस दौरान आप नया घर, नई गाड़ी और नए साजो-सामान की खरीदारी कर सकते हैं।

वृषभ राशि

वृषभ राशि वालों पर मंगल के इस राशि परिवर्तन का असर मिला-जुला रहेगा। इस दौरान आपको परिवार से मान-सम्मान मिलेगा और भाई-बहनों के साथ रिश्ते बेहतर रहेंगे। नौकरीपेशा और कारोबारियों के लिए समय अच्छा रहेगा।

मिथुन राशि

मिथुन राशि वालों का लिए भी मंगल का यह गोचर शुभ फलदायी रहेगा। कार्यों में सफलता मिलेगी और धनलाभ होने की संभावना है। पिछले दिनों से अटका हुआ उधार इस दौरान मिलने की संभावना है। सुस्त पड़े कार्यों में तेजी आएगी।

कर्क राशि

मंगल के इस गोचर के दौरान खर्चों में वृद्धि होगी लेकिन मांगलिक कार्यों की योजना में सफलता मिलेगी। परिवार का सहयोग प्राप्त होगा, लेकिन किसी नए काम को हाथ में लेने से पहले सोच-विचार कर लें।

सिंह राशि

सिंह राशि वालों पर मंगल के इस राशि परिवर्तन का मिला-जुला असर देखने को मिलेगा। जीवनसाथी के साथ संबंधों में तनाव हो सकता है। कारोबार सामान्य रहेगा और इस दौरान गुस्से पर नियंत्रण रखना बेहद आवश्यक है।

कन्या राशि

कन्या राशि वालों को मंगल का यह राशि परिवर्तन शुभ संकेत दे रहा है। अदालती मामलों के लिए मंगल का यह गोचर शुभ फलदायी है। नौकरीपेशा लोगों के अधिकारियों के साथ बेहतर संबंध होंगे और नए अनुबंधों से लाभ होगा

तुला राशि

तुला राशि वालों को मंगल के इस गोचर से शिक्षा और प्रतियोगी परिक्षाओं में सफलता मिलेगी। विवाहितों को संतान प्राप्ति के योग बन रहे हैं और संतान वालों को संतान की चिंता मुक्ति मिलेगी। प्रेम संबंध को लेकर सावधान रहें।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि वालों को इस गोचर के दौरान सावधान रहना होगा। कामकाज की स्थितियां सामान्य रहेगी। इस दौरान परिवार में किसी बात को लेकर तनाव और कलह हो सकता है। मानसिक अशांति तनाव की वजह बन सकती है।

धनु राशि

मंगल का यह राशि परिवर्तन धनु राशि वालों के साहस और पराक्रम में वृद्धि करेगा। मजबूत मनोबल के चलते आप कठिन परिस्थितियों को अपने पक्ष में कर लेंगे। मान-सम्मान मिलेगा और सामाजिक प्रतिष्ठा में बढ़ोतरी होगी।

मकर राशि

मकर राशि वालों को इस दौरान धनलाभ होगा। किसी नए अनुबंध की योजना बनने की संभावना है। यदि स्थान परिवर्तन की इच्छा है तो यह समय बेहतर है। लेकिन इस दौरान स्वास्थ्य का खास ख्याल रखने की जरूरत है।

कुंभ राशि

मंगल का राशि परिवर्तन इसी राशि में हो रहा है। इसलिए इस दौरान आपके स्वभाव में उग्रता रहेगी। किसी बड़े फैसले को टालना बेहतर रहेगा और किसी भी तरह के विवाद को टालना बेहतर रहेगा। काररोबार के लिए समय बेहतर है।

मीन राशि

मंगल के इस गोचर के दौरान आपके खर्चों में काफी बढ़ोतरी होगी। आर्थित मामलों के लिए यह राशि परिवर्तन शुभ नहीं है। अदालती कामकाज में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। तनाव का अससर आपके स्वास्थ्य़ पर रहेगा।

भगवान नृसिंह की आराधना से इन समस्याओं से मिलता है छुटकारा

0
narsingh

वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को भगवान श्राीहरी ने नृसिंह अवतार लिया था। इसलिए इस तिथि को भगवान नृसिंह का जन्मोत्सव मनाया जाता है। भगवान नृसिंह श्रीहरी के क्रोधावतार माने जाते हैं। क्योंकि उन्होंने क्रोध करते हुए हिरण्यकशिपु का वध किया था। मान्यता है कि क्रोधाग्नि के कारण भगवान नृसिंह का शरीर जलता है इसलिए उनको ठंडी वस्तुएं समर्पित करने का विधान है।

narsingh

भगवान नृसिंह को चढ़ाएं नागकेसर

नृसिंह जयंती के दिन सूर्योदय के पूर्व उठकर स्नान ध्यान से निवृत्त होकर भगवान नृसिंह की आराधना करें। अपने धन की बचत करने के लिए भगवान नृसिंह को इस दिन नागकेसर समर्पित करें। इसमें से थोड़ी सी नागकेसर घर की तिजोरी में रख दें। धन की बचत होगी। यदि आपकी कुंडली में कालसर्पदोष है तो इस दिन भगवान नृसिंह मंदिर में जाकर एक मोरपंख उनको चढ़ा दें। इस दोष का निवारण होगा।

कानूनी मामलों में मिलती है सफलता

किसी भी प्रकार की कानूनी समस्या में जीत हासिल करने के लिए नृसिंह जयंती पर उनको दही समर्पित करें। भगवान नृसिंह को ठंडा पानी चढ़ाने से अनजाान शत्रुओं के भय का नाश होता है और विवाद में सफलता मिलती है। रिश्तों में यदि दरार आ गई है और रिश्तों में फिर से मिठास लाना हो तो भगवान नृसिंह को मक्के का आटा चढ़ाना चाहिए। बीमारी से निजात पाने के लिए भगवान नृसिंह को चंदन का लेप लगाना चाहिए। नृसिंह जयंती के दिन इस दिन सुबह स्नान के बाद भगवान नृसिंह के मंदिर में जाकर उनकी पूजा करने का विधान हैं। फूल और चंदन से भगवान की पूजा करें। इसके बाद जो भी आपकी मनोकामना हो उसके अनुसार भगवान को वैसी वस्तु अर्पित करें।

मुक़दमे में विजय प्राप्त करने के लिए भगवान नृसिंह को लाल फूल और लाल रेशमी धागा अर्पित करें। घी का चौमुखी दीपक जलाएं और इस मंत्र का जाप करें। ‘ओम नृ नृसिंहाय शत्रु भुज बल विदीर्णाय स्वाहा’ पूजा के बाद लाल रेशमी धागे को कलाई में बांध लें। कर्ज से मुक्ति पाने के लिए अपनी उम्र के बराबर भगवान नृसिंह को लाल फूल अर्पित। लक्ष्मी नृसिंह स्तोत्र का पाठ करें। ऐसा करने से कर्ज की समस्या का समाधान होगा। आरोग्य, लंबी आयु और सर्वकल्याण के लिए भगवान नृसिंह को पीली वस्तुओं का भोग लगाएं और इस मंत्र का 108 बार जाप करें।

उग्रं वीरं महाविष्णुम, ज्वलन्तं सर्वतोमुखम।

नृसिंहम भीषणं भद्रं, मृत्योर्मृत्यु नमाम्यहम।।

केंद्रीय कर्मचारियों का Pension नियम पर अहम फैसला

0
pension

देश के लाखों केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी राहत की खबर है। सरकार ने एक महत्‍वपूर्ण फैसला लेते हुए pension पेंशन के नियमों में बदलाव किया है। इस बदले हुए नियम का लाखों कर्मचारियों व उनके परिजनों को लाभ मिलेगा।

pension

यह लाभ कर्मचारी के 25 वर्ष से कम आयु की संतान, बेरोजगार संतान एवं अविवाहित, विधवा एवं तलाकशुदा बेटी को भी समान रूप से मिलेगा। यहां विस्‍तार से जानिये बदले हुए नियमों का कैसे लाभ मिलेगा। भारत सरकार केंद्रीय कर्मचारियों व उनके परिजनों को कई तरह की पेंशन की सुविधा देती है। इसमें मुख्‍य है Family Pension Scheme परिवार पेंशन योजना 1971, जिसके अंतर्गत यदि सेवा अवधि के दौरान Central Employee केंद्रीय कर्मचारी का निधन हो जाता है तो उसके परिजनों को सरकार पेंशन का लाभ देती है। सातवें वेतन आयोग के नियमों के अतंर्गत इससे पहले नियम था कि उन Central Employee केंद्रीय कर्मचारियों के परिजनों को सामान्‍य पारिवारिक पेंशन प्रदान की गई थी जिनकी मृत्‍यु नौकरी के दौरान तो हुई थी लेकिन सेवा अवधि 7 साल से अधिक थी।

अब इस नियम में ढील देते हुए सरकार ने बड़ा बदलाव किया है। Family Pension Scheme फैमिली पेंशन स्‍कीम 1971 में हुए 54वें संशोधन के जरिये सरकार ने पेंशन के उन नियमों को बदला है जिसमें कर्मचारी की मृत्‍यु सेवा अवधि के सात साल पूरे होने के पहले ही हो जाती है। अब नए नियमों के अनुसार 7 साल की सेवा अवधि पूरी करने से पहले ही यदि किसी कर्मचारी का निधन हो जाता है तो उस कर्मचारी के परिवार के सदस्‍य अब 10 वर्ष तक कर्मचारी के अंतिम आहरित वेतन यानी आखिरी सैलेरी की 50 प्रतिशत राशि पाने के पूर्ण रूप से हकदार होंगे।

यह व्‍यवस्‍था 7th pay commission सातवें वेतन आयोग के नियमों के तहत मान्‍य होगी। अभी तक यह होता था कि कर्मचारी के निधन के केस में, कम से कम 7 वर्ष तक सेवाएं देने वाले Central Employee केंद्रीय कर्मचारियों के परिजनों को अंतिम आहरित वेतन की 50 प्रतिशत राशि बतौर पेंशन मिलती थी। ऐसे में वे कर्मचारी जिनकी सेवा अवधि 7 साल से कम के दायरे में आती है, उनके परिजन अभी तक अंतिम आहरित वेतन का महज 30 प्रतिशत पैसा ही प्राप्‍त करने की पात्रता रखते थे। अब चूंकि सरकार ने नियम बदलकर 7 साल की सेवा अवधि से कम श्रेणी के कर्मचारियों व उनके परिजनों को भी राहत दे दी है, इससे बड़ी संख्‍या में कर्मचारी लाभान्वित होंगे।

निर्माण कार्य इंदौर, उज्जैन सहित रेड जोन में होंगे शुरू, ग्रामीण क्षेत्रों में खुलेंगी दुकानें

0
Red_zone

भोपाल ! लॉकडाउन के तीसरे चरण में सोमवार से ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन में कई आर्थिक गतिविधियां शुरू होंगी। भोपाल, इंदौर, उज्जैन सहित रेड जोन में शामिल नौ जिलों के नगरीय क्षेत्रों में निर्माण कार्य स्थानीय श्रमिकों के साथ शुरू किए जा सकेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में सभी दुकानें खुलेंगी।

Red_zone

ग्रीन और ऑरेंज जोन में नगर सेवा बसें चलेंगी पर फिलहाल बाजार नहीं खुलेंगे। एकल दुकानों को खोलने की अनुमति रहेगी। रेड जोन में निजी ऑफिस भी 33 प्रतिशत अमले के साथ खोले जा सकेंगे। प्रदेश में लॉकडाउन के दौरान ऐसी कोई भी गतिविधि संचालित नहीं होगी, जिसमें ज्यादा लोग एक जगह एकत्र हो सकें।

रेड जोन में आने-जाने के लिए सिर्फ एक रास्ता रहेगा और सभी का रिकॉर्ड भी रखा जाएगा। निवेश को आकर्षिक करने के लिए नई औद्योगिक नीति बना रहे हैं। ऐसे उद्योगों को प्रोत्साहित किया जाएगा, जो ज्यादा से ज्यादा लोगों को रोजगार देंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेशवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि कोरोना से डरना-थकना नहीं है। हमें अपने लोगों की जान बचाना है, संक्रमण रोकना है और जहान की चिंता भी करनी है। लॉकडाउन 17 मई तक बढ़ाया है लेकिन इस बार इसका स्वरूप अलग रहेगा।

शाम सात बजे से सुबह सात बजे तक आवश्यक सेवाओं को छोड़कर लोगों का आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। प्रदेश को रेड जोन, ऑरेंज जोन तथा ग्रीन जोन में बांटा गया है। जैसे-जैसे ऑरेंज जिले ग्रीन जिले की श्रेणी में आते जाएंगे, वैसे-वैसे सुविधाओं का दायरा बढ़ाया जाता रहेगा। 11 लाख मजदूरों को मनरेगा में काम दिया जा रहा है। प्रदेश के बाहर फंसे मजदूरों को लाया जा रहा है। गेहूं, चना, मसूर और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू कर दी है। श्रम कानूनों में भी बदलाव किया जाएगा। इस संकट को अवसर में बदलकर नए मध्य प्रदेश का निर्माण करेंगे।

सभी जोन में यह गतिविधियों रहेंगी प्रतिबंधित

हवाई यात्रा, रेल सेवाएं, अंतरराज्यीय बस सेवाएं, एक राज्य से दूसरे राज्य में आवागमन, सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान, प्रशिक्षण संस्थान (ऑनलाइन अध्ययन को छोड़कर), सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, स्पोर्ट्‌स कॉम्प्लेक्स, मनोरंजन पार्क, थियेटर, बार, ऑडिटेरियम, सामुदायिक भवन, सामाजिक, राजनैतिक, खेलकूद संबंधी, साहित्यिक, सांस्कृतिक, धार्मिक कार्यक्रम, धार्मिक स्थान, पूजन स्थल। 60 वर्ष की आयु से अधिक के नागरिक, दिव्यांग, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे घर पर ही रहेंगे।

रेड जोन जिलों में संक्रमित क्षेत्रों के बाहर गतिविधियों में लोगों का आवागमन सिर्फ अनुमति से होगी। चार पहिया वाहन में अधिकतम तीन लोग (एक ड्राइवर, दो यात्री), विशिष्ट आर्थिक क्षेत्र, निर्यात इकाईयां, औद्योगिक क्षेत्र (एक्सेस कंट्रोल के साथ), अत्यावश्यक वस्तुओं की सेवा और निर्माता, सूचना प्रौद्योगिकी, हार्डवेयर निर्माण इकाईयां, जूट उद्योग, पैकेजिंग इकाईयां, नगरीय क्षेत्रों में ऐसे निर्माण कार्य जिनमें सिर्फ स्थानीय श्रमिक लगे।

नवकरणीय ऊर्जा परियोजनाएं, ग्रामीण क्षेत्रों में सभी निर्माण गतिविधियां, आवश्यक वस्तुओं का विक्रय करने वाली दुकानें, ग्रामीण क्षेत्रों में सभी प्रकार की दुकानें, आवश्यक सेवाओं से जुड़ी ई-कॉमर्स की गतिविधियां, निजी कार्यालय (33 प्रतिशत अमले के साथ), सरकारी कार्यालय में अधिकारी 100 प्रतिशत एवं कर्मचारी 33 प्रतिशत अमले के साथ। कंटेनमेंट क्षेत्र में आने जाने का सिर्फ रास्ता रहेगा और सभी का पूरा रिकॉर्ड रखा जाएगा। ऑरेंज जोन कंटेनमेंट एरिया के बाहर जिले के भीतर और जिले से बाहर बसों का संचालन नहीं किया जा सकेगा।

टैक्सी व कैब में अधिकतम तीन लोगों को जाने तथा एक जिले से दूसरे जिले में जाना केवल उन गतिविधियों के लिए हो सकेगा, जिनकी अनुमति होगी। कृषि से संबंधित सभी काम, सभी प्रकार की दुकानें, आवासीय परिसरों में शॉपिंग कॉम्प्लेक्स (मॉल नहीं), बिजली की दुकानें, मार्केट के बाहर स्थापित एकल दुकानें, नगर सेवा की बसें, सभी प्रकार के उद्योग, समस्त निर्माण कार्य, मनरेगा के कामों सहित सभी प्रकार की गतिविधियों की अनुमति रहेगी।

ग्रीन जोन में प्रतिबंधित गतिविधियों को छोड़कर सभी प्रकार की गतिविधियां, कृषि से जुड़े सभी काम, सभी प्रकार की दुकानें, आवासीय परिसरों में शॉपिंग कॉम्प्लेक्स (मॉल नहीं), कपड़े की दुकानें, इलेक्ट्रिकल की दुकानें, मार्केट कॉम्प्लेक्स के बाहर स्थापित एकल दुकानें, ऑटो सेवा, नगर सेवा की बसें, ग्रामीण क्षेत्र में सभी प्रकार के उद्योग, सभी निर्माण कार्य, वाहन शोरूम, उपकरण मरम्मत, वाहन सर्विसिंग, मनरेगा के काम, विशेष आर्थिक क्षेत्र निर्यात इकाईयां, औद्योगिक क्षेत्र (एक्सेस कंट्रोल के साथ), अत्यावश्यक वस्तु सेवाओं के निर्माता, सूचना प्रौद्योगिकी, हार्डवेयर निर्माण इकाईयां, ग्रीन जोन में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ बसें भी चलेंगी।

KL Rahul के विकेटकीपिंग करने से MS Dhoni की वापसी की राह हुई मुश्किल: MSK Prasad

0
Dhoni

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की वजह से यदि IPL 2020 अनिश्चितकाल के लिए स्थगित नहीं हुआ होता तो अभी तक MS Dhoni की महीनों बाद स्पर्धात्मक क्रिकेट में वापसी हो चुकी होती। हर कोई यह जानने को बेताब है कि क्या MS Dhoni की इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी हो पाएगी। BCCI की सिलेक्शन कमेटी के पूर्व प्रमुख MSK Prasad को लगता है कि MS Dhoni के लिए अब स्थिति थोड़ी मुश्किल हो गई है क्योंकि KL Rahul भी विकेटकीपिंग कर रहे हैं।

Dhoni

MSK Prasad यह देखना चाहते है कि महेंद्रसिंह धोनी का प्रदर्शन कैसा रहता है। उन्होंने कहा, केएल राहुल ने न्यूजीलैंड में अच्छा प्रदर्शन किया था, इसके चलते अच्छा होता कि आईपीएल 2020 होता और हमें महेंद्रसिंह धोनी के खेल को देखने को मिलता। आईपीएल के नहीं होने से धोनी के लिए स्थिति मुश्किल हो गई है। पिछले दिनों एमएसके प्रसाद की जगह सुनील जोशी सीनियर सिलेक्शन कमेटी के प्रमुख बने थे। प्रसाद ने कहा, धोनी खुद 2019 वर्ल्ड कप के बाद खेलना नहीं चाहते थे। हमारे बीच इस बारे में चर्चा भी हुई थी और धोनी ने साफ किया था कि वे कुछ समय के लिए खेलना नहीं चाहते हैं। इसके चलते हम आगे बढ़े थे और हमने रिषभ पंत को मौका दिया और सपोर्ट किया था।

प्रसाद ने केएल राहुल की तारीफ करते हुए कहा कि विकेटकीपिंग उनके लिए नई बात नहीं है क्योंकि वे रणजी ट्रॉफी और विजय हजारे ट्रॉफी में यह जिम्मेदारी निभाते आ रहे हैं। उनकी विकेटकीपिंग अच्छी है और ऐसा लगता है कि वे यह जिम्मेदारी निभाने का सोचकर इस पर कड़ी मेहनत कर रहे हैं। उन्हें विकेटकीपर बल्लेबाज के रूप में जो भी मौके मिले, उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया और वे इस पद के प्रमुख दावेदार बन चुके हैं।

Lockdown में PF के अलावा पेंशन खाते से भी निकाल सकते हैं पैसे

0
EPF

Lockdown में PF के अलावा पेंशन खाते से भी निकाल सकते हैं पैसे

पीएफ खाते में दो हिस्सों में पैसा जमा होता है। पहला EPF खाता और दूसरा EPS खाते में तय राशि जमा होती है। देश में इस वक्त लॉकडाउन की वजह से बहुत से ऐसे लोग हैं जो आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं। कर्मचारी वर्ग भी इस लॉकडाउन की वजह से काफी परेशानी में है, केंद्र सरकार ने कर्मचारियों को पीएफ खाते से तय शर्तों के साथ कुछ राशि निकालने की अनुमति दे दी है, लेकिन कम लोग ही जानते हैं कि मुश्किल वक्त में पेंशन खाते में से भी राशि निकासी की जा सकती है।

EPF

हर कर्मचारी का पीएफ दो हिस्सों में खाते में जमा होता है। पहला प्रोविडेंट फंड यानि EPF और दूसरा पेंशन फंड यानि EPS कहलाता है। कर्मचारी की सैलरी से कटने वाला 12 प्रतिशत पैदास EPF में जमा होता है, वहीं कंपनी की ओर से EPF में 3.67 फीसदी हिस्सा मिलाया जाता है, वहीं बाकी 8.33 प्रतिशत हिस्सा कर्मचारी के पेंशन खाते EPS में जमा होता है। इसमें हर महीने 1250 रुपये की अधिकतम सीमा तय है।

पेंशन खाते से इस सूरत में निकाल सकते हैं पैसा

EPS नियमों के मुताबिक अगर किसी खाताधारक ने नौकरी छोड़ने से पूर्व 10 साल से कम की सर्विस की है या फिर वह 58 साल का हो गया है तो (दोनों में से जो भी पहले हो) तो वह अपने EPS खाते में से एकमुश्त पैसा निकालने का हकदार हो जाता है।

अगर व्यक्ति की उम्र 58 साल से कम होती है तो वह EPS के तहत स्कीम सर्टिफिकेट का विकल्प भी ले सकता है। यह तब लिया जाता है जब व्यक्ति ने किसी अन्य संस्था में नौकरी करने की योजना बना रखी हो।

EPS स्कीम से पैसे की एकमुश्त निकासी की अनुमति तभी मिलती है जब सर्विस के साल 10 वर्ष से कम हों। अगर इससे ज्यादा हों तो पैसा नहीं निकाला जा सकता है।

EPS खाते से राशि निकालने पर लगता है टैक्स

EPS खाते से एकमुश्त राशि निकासी टैक्स दायरे के अंतर्गत आती है। हालांकि आयकर कानून में इस बात को लेकर स्थिति साफ नहीं है कि आखिर यह कर किस मद में आएगा। नौकरी जाने पर सदस्य के पास पूरी रकम निकालकर खाते को बंद कराने का विकल्प होता है।

नर्मदा जल का कोरोना से बचाव के लिए गांव में कर रहे छिड़काव

0
narmada

होशंगाबाद । नर्मदा पर लोगों की अटूट आस्था है। यही कारण है कि कोरोना महामारी से लड़ने के लिए लोगों ने मां नर्मदा का आंचल थामा हुआ है। ग्राम पर्रादेह के सरपंच कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए गांव में नर्मदाजल का छिड़काव करवा रहे हैं।

narmada

बीमारी गांव तक नहीं पहुंचेगी

सरपंच कन्हैयालाल पटेल ने बताया कि मां नर्मदा के प्रति गहरी आस्था है। सभी का मानते कि गांव में नर्मदा जल का छिड़काव कराया जाएगा तो कोई बीमारी नहीं आएगी। उन्होंने बताया हासलपुर घाट से रोजाना कुप्पों में नर्मदा जल लेकर ला रहे हैं और अपने साथियों के साथ नर्मदा जल को गांव की मुख्य सड़क, बाजार क्षेत्र सहित अन्य इलाकों में छिड़काव कर रहे हैं।

क्वारंटाइन सेंटर के बाहर कर रहे छिड़काव ग्राम पर्रादेह इटारसी के नजदीक है। इटारसी में ही कोरोना संक्रमित लोग मिल रहे हैं। अब तक 36 कोरोना पॉजिटिव के स समने आ चुके हैं। इसी के चलते गांव में पूरी सावधानी रखी जा रही है। सरपंच के मुताबिक नर्मदा परिक्रमा करके आए गांव के ही एक व्यक्ति को क्वारंटन किया गया था। इसी तरह बाहर से आए लोगों को भी क्वारंटाइन कि या गया है। इन क्वारंटाइन सेंटरों में भी लगातार सैनिटाइजेशन करने के साथ ही नर्मदा जल का छिड़काव कि या जा रहा है।

सकारात्मक ऊर्जा

नर्मदा जल के प्रति गहरी आस्था हम सभी के मन में है। नर्मदा जल के छिड़काव का वैज्ञानिक तथ्य यह है कि इससे सकारात्मक ऊर्जा का संचार व आत्मबल बढ़ता है। कोरोना से लड़ने के लिए आत्मबल ही जरूरी है। गांव में सैनिटाइजेशन करने के साथ ही नर्मदा का छिड़काव कराया जा रहा है। – डॉ. ओएन चौबे, प्राचार्य, नर्मदा महाविद्यालय

अब तक देश मे 10 हजार से ज्यादा मरीज स्वस्थ्य हुए 

0
mahamari

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग आगे बढ़ चुकी है। पूरे देश को रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन में बांट दिया गया है और लॉकडाउन भी 17 मई तक बढ़ा दिया गया है। इस बीच, भारत में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 37,700 पार हो गई है।

mahamari

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी ताजा आंकड़ों के अनुसार, देश में कुल COVID19 पॉजिटिव की संख्या 37776 पहुंच गई है, इनमें 26,535 एक्टिव केस हैं। यानी इतने मरीजों का इलाजे देश के विभिन्न अस्पतालों में हो रहा है। 10,018 मरीज स्वस्थ्य होकर अस्पताल से अपने घरों को जा चुके हैं, वहीं मृतकों का आंकड़ा 1223 हो गया है। सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र में सामने आए हैं, जहां कुल पीड़ितों का आंकड़ा 11506 पहुंच गया है। भारत में 10 हजार से ज्याद केस वाला महाराष्ट्र देश का एक मात्र राज्य है। हालांकि बीमारी से ठीक होने के बाद मुंबई के मीरा रोड के एक अस्पताल से आज 56 मरीजों को छुट्टी दे दी गई।

पंजाब में आज 187 नए COVID19 मामले सामने आए हैं जिनमें अमृतसर से 53 मामले शामिल हैं। राज्य में कुल मामले 772 हो गए हैं। वहीं हिमाचल प्रदेश में सक्रिय मामलों की संख्या घटकर 2 हो गई है, 33 मरीज पूरी तरह ठीक हो चुके हैं, 1 की मौत हो गई, जबकि 4 लोग राज्य से बाहर चले गए। इसी तरह हरियाणा में 19 नए मामले सामने आए हैं। पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 376 हो गई है।

शराब दुकानें 17 मई तक नहीं खुलेगी

0
Sharab

भोपाल। केंद्र सरकार ने देश में कोराेना संक्रमण के फैलाव को देखते हुए लॉक डाउन को दो सप्‍ताह के लिए और बढ़ा दिया है। इसे देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने भी अब 17 मई तक शराब दुकानें नहीं खोलने का फैसला लिया है।

Sharab

इस संबंध में शिवराज सरकार जल्द ही आदेश जारी कर सकती है। वहीं दूसरी ओर सरकार ने सिनेमाघरों के लिए एक आदेश जारी भी कर दिया है, जिसके तहत प्रदेश में सभी सिनेमाघरों और मल्टीप्लेक्स को 17 मई तक बंद रखने का आदेश दिया गया है। मप्र में कुल 9 जिले रेड जोन में शामिल है, वहीं 19 जिले ऑरेंज जोन में शामिल किए गए हैं और 24 जिले ग्रीन जोन में शामिल हैं।

रेड जोन वाले 9 जिले

– इंदौर, भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, धार, बड़वानी, पूर्व निमाड़ (खंडवा), देवास, ग्वालियर

ऑरेंज जोन वाले 19 जिले

खरगोन, रायसेन होशंगाबाद, रतलाम, आगर-मालवा, मंदसौर, सागर, शाजापुर, छिंदवाड़ा, आलीराजपुर, टीकमगढ़, शहडोल, श्योपुर, डिंडोरी, बुरहानपुर, हरदा, बैतूल, विदिशा, मुरैना,

ग्रीन जोन वाले 24 जिले

रीवा, अशोकनगर, राजगढ़, शिवपुरी, अनूपपुर, बालाघाट, भिंड, छतरपुर, दमोह, दतिया, गुना, झाबुआ, कटनी, मंडला, नरसिंहपुर, नीमच, पन्ना, सतना, सीहोर, सिवनी, सीधी, उमरिया, सिंगरौली, निवाड़ी।

लॉकडाउन के चलते सोने और चांदी के दामों में भारी गिरावट 

0
Gold

सोने और चांदी के दामों में भारी गिरावट का दौर जारी है। लॉकडाउन के चलते देश में यह हालात बने हैं। इस सप्‍ताह का अंत आते-आते वायदा बाजार में सोने व चांदी के भाव बड़ी गिरावट के साथ बंद हुए।

Gold

एमसीएक्‍स एक्‍सचेंज गुरुवार को आगामी 5 जून, 2020 के लिए सोने का वायदा दाम 1.35 फीसदी अथवा 613 रुपये की गिरावट के साथ 44 हज़ार 933 रुपये प्रति 10 ग्राम पर क्‍लोज हुआ। आज शुक्रवार को मई दिवस के कारण एमसीएक्‍स पर ट्रेडिंग बंद थी। सोने के अलावा चांदी के भी वायदा दामों में बड़ी कटौती आई है और इसी के साथ इसका बाजार बंद हुआ है। एमसीएक्‍स एक्‍सचेंज पर आगामी 3 जुलाई, 2020 के लिए चांदी के वायदा दाम 2.22 फीसदी अथवा 942 रुपये की भारी गिरावट के साथ 41 हज़ार 420 रुपये प्रति किलोग्राम पर क्‍लोज हुए। इसके अलावा आगामी 5 मई, 2020 के लिए चांदी की वायदा कीमतें गुरुवार को को 1.90 फीसद या 795 रुपये की गिरावट के साथ 40,980 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुए।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में शुक्रवार सुबह सोने-चांदी की हाजिर कीमतों में बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। ब्लूमबर्ग के अनुसार, शुक्रवार सुबह सोने की वैश्विक हाजिर कीमत 0.09 फीसद या 1.55 डॉलर की बढ़त के साथ 1,688.05 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रही थी। वहीं, वैश्विक स्तर पर चांदी का हाजिर भाव शुक्रवार सुबह 0.05 फीसद या 0.01 डॉलर की बढ़त के साथ 14.98 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था। उधर सोने का वैश्विक वायदा भाव कॉमेक्स पर शुक्रवार सुबह 0.01 फीसद या 0.20 डॉलर की बढ़त के साथ 1694.40 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था। इसके अलावा चांदी का वैश्विक वायदा भाव कॉमेक्स पर शुक्रवार सुबह 0.88 फीसद या 0.13 डॉलर की बढ़त के साथ 15.11 डॉलर प्रति औंस पर ट्रेंड कर रहा था।

रेड जोन मध्य प्रदेश में इतने हैं

0
Redzone

भोपाल। केंद्र सरकार ने देश में कोराेना संक्रमण के फैलाव को देखते हुए लॉक डाउन को दो सप्‍ताह के लिए और बढ़ा दिया है। लॉक डाउन की अवधि 3 मई को समाप्‍त हो रही थी। इसे देखते हुए शुक्रवार को गृहमंत्रालय ने लॉक डाउन को दो सप्‍ताह और यानि 17 मई तक बढ़ा दिया है। मध्‍यप्रदेश सरकार पहले ही कह चुकी है कि वह केंद्र सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करेगी। देश में तीसरी बार लॉक डाउन बढ़ाया गया है।

Redzone

गृह मंत्रालय ने स्‍पष्‍ट कर दिया है कि रेड जोन में पूर्व की तरह ही लॉक डाउन में किसी तरह की छूट नहीं दी जाएगी।मध्‍य प्रदेश में रेड जोन वाले 9 जिले हैं। जाहिर है यहां लाॅक डाउन का कड़ाई से पालन करवाया जाएगा।रेल, विमान, बस सेवा पर जारी रहेगी रोक। उल्‍लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने लॉक डाउन के लिए रेड, ग्रीन और ऑरेंज जोन के लिए पृथक गाइडलाइंस तैयार की है। ग्रीन और ऑरेंज जोन में शर्तों के साथ रियायत दी गई है। रेड जोन में पूर्व की तरह सभी बंद रहेंगे। नाई की दुकानें, सैलून आदि भी बंद रहेंगे। मेडिकल व आवश्यक सेवाएं चालू रहेंगी।

रेड जोन वाले 9 जिले इस तरह हैं

 इंदौर, भोपाल, उज्जैन, जबलपुर, धार, बड़वानी, पूर्व निमाड़ (खंडवा), देवास, ग्वालियर

क्‍या होता है रेड जोन

जिन जिलों में कोरोना संक्रमितों की संख्या ज्यादा है, उन्हें सरकार ने रेड जोन में शामिल किया है। इन जिलों में संक्रमण की ग्रोथ रेट अधिक दर्ज की गई है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने रेड जोन के तहत देशभर में 130 जिलों को शामिल किया है। इन जिलों में सरकार डोर-टू-डोर सुविधाएं उपलब्‍ध कराएगी।

जारी हुई देश के रेड जोन की लिस्ट

0
Zone

केंद्र सरकार ने देश में लॉकडाउन दो हफ्ते और बढ़ाने के साथ ही कोरोना वायरस के रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन की ताजा लिस्ट जारी कर दी है। राज्यवार जारी इस लिस्ट में बताया गया है कि किस प्रदेश में कितने Red, Orange, Green Zone हैं।

Zone

इस संबंंध में गुरुवार को कैबिनेट सचिव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक ली थी। लिस्ट के मुताबिक, देश में कुल 130 रेड जोन हैं। रेड जोन यानी वो स्थान जहां कोरोना वायरस का खतरा सबसे ज्यादा है। सबसे ज्यादा रेड जोन उत्तर प्रदेश (19) में हैं। इसके बाद महाराष्ट्र है, जहां 14 रेड जोन तय किए गए हैं। अच्छी बात यह है कि देश में 15 राज्य ऐसे हैं जहां एक भी रेज जोन नहीं है।

देश में Orange Zone की कुल संख्या 284 है। वहीं देशभर में 319 Green Zone चिह्नित किए गए हैं। यह संख्या जिलावार है। शुक्रवार को इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सुदान ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिव को चिट्ठी लिखकर सूचित कर दिया।

इन राज्यों में एक भी रेड जोन नहीं

अरुणाचल प्रदेश, असम, दादर नगर हवेली, दमन दीव, गोवा, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख, लक्ष्यदीप, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, नगालैंड, पुडुचेरी, सिक्किम और त्रिपुरा।

इसी आधार पर छूट मिलेगी

लॉकडाउन की अवधि 3 मई को खत्म हो रही थी। सरकार Red, Orange, Green Zone के हिसाब से ही छूट देगी। यानी रेड जोन वाले इलाकों में लोगों को अभी पाबंदियां झेलना होगी। वहीं ऑरेज जोन वाले को कुछ पाबंदियां और कुछ राहत मेें रहना होगा। ग्रीन जोन को पूरी तरह से खोला जा सकता है। हालांकि शर्तें लागू रहेंगी।

सरकार का बड़ा ऐलान देश में लॉकडाउन की अवधि दो सप्‍ताह और बढ़ी

0
lockdown

देश में जारी लॉकडाउन की अवधि को दो सप्‍ताह के लिए और बढ़ा दिया गया है। अब यह 4 मई से 17 मई तक जारी रहेगा। 3 मई को लॉकडाउन की अवधि समाप्‍त होने जा रही थी। आज सरकार ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। गृह मंत्रालय ने आपदा प्रबंधन अधिनियम, 2005 के तहत 4 मई से आगे दो सप्ताह की लॉकडाउन अवधि को आगे बढ़ाने के लिए आदेश जारी किया। अब 18 मई तक लॉकडाउन प्रभावी रहेगा।

lockdown

इस दौरान सार्वजनिक परिवहन जैसे रेलवे और विमान जैसी सेवाएं स्‍थगित रहेंगी। कुछ गतिविधियाँ पूरे भारत में सभी जोन में बंद रहेंगी जिसमें हवाई मार्ग, रेल, मेट्रो और सड़क मार्ग द्वारा अंतर्राज्यीय आवागमन सहित स्कूलों, कॉलेजों, और अन्य शैक्षिक और प्रशिक्षण / कोचिंग संस्थानों का संचालन शामिल है। हालांकि, ग्रीन जोन में गृह मंत्रालय द्वारा दी गई छूट जारी रहेगी। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, देश में रेड जोन के तहत 130 जिले, ऑरेंज जोन के तहत 284 जिले और ग्रीन जोन के तहत 319 जिलों को रखा गया है। हर सप्‍ताह इसका आकलन किया जाएगा और संक्रमित मामलों के अनुसार जोन में बदलाव होगा।

इससे पहले आज शाम को लॉकडाउन के दौरान अपने घर से दूर फंसे हुए कई लोगों के लिए आज सरकार ने बड़ी राहत का ऐलान किया। गृह मंत्रालय ने अपने गृह क्षेत्र से दूर फंसे हुए छात्रों, प्रवासी श्रमिकों, पर्यटकों, तीर्थयात्रियों, आदि को रेल के माध्यम से आवाजाही की अनुमति दी है। गृह मंत्रालय (MHA) की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया कि इसके लिए राज्य और रेलवे बोर्ड आवश्यक व्यवस्था करेंगे।

चार माह से असिस्टेंट प्रोफेसरों को नहीं मिला वेतन

0
MPPSC

भोपाल । हाई कोर्ट से चयन सूची निरस्त होने के बाद प्रदेश के ढाई हजार असिस्टेंट प्रोफेसरों की नौकरी पर संकट आ गया है। इन्हें सरकारी कॉलेजों में नियुक्त हुए चार माह बीत चुके हैं, लेकिन अब तक पहला वेतन भी नहीं मिला है।

MPPSC

इन्हें पहला वेतन मिल पाता, इसके पहले ही नौकरी पर संकट आ गया। अब हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारियां शुरू हो गईं हैं। जबकि इस बारे में सहायक प्राध्यापक संघ का कहना है कि वे लोक सेवा आयोग और सरकार के फैसले के बाद अपना रुख स्पष्ट करेंगे। उच्च शिक्षा विभाग में आरक्षित वर्ग की 91 महिला असिस्टेंट प्रोफेसरों का चयन सामान्य वर्ग में कर लिया गया था। इसके बाद इन्हें नियुक्ति भी नहीं दी जा रही थी।

इन सभी तथ्यों को आधार बनाकर इन्होंने हाई कोर्ट में याचिका दायर कर दी थी। इस पर फैसला देते हुए हाई कोर्ट ने पूरी चयन प्रक्रिया निरस्त कर इसे फिर से तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इससे नियुक्ति हासिल कर चुके ढाई हजार असिस्टेंट प्रोफेसरों की नियुक्ति पर भी संकट आ गया है।

Rishi Kapoor का अंतिम संस्कार चंदनवाड़ी श्मशान घाट में हुआ

0
Rishi

जाने-माने अभिनेता Rishi Kapoor का गुरुवार को निधन हो गया। वे 67 वर्ष के थे। गुरुवार सुबह मुंबई के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली।

Rishi

बीती रात तबीयत बिगड़ने पर उन्हें मुंबई के एच.एन. रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। अंतिम वक्त में उनके साथ पत्नी नीतू, बेटे रणबीर मौजूद रहे। वहीं मुंबई के चंदनवाड़ी दाहगृह में Rishi Kapoor का अंतिम संस्कार हुआ। एक दिन पहले इरफान खान और अब अपने चिंटू को खोकर बॉलीवुड गम में डूब गया है।

इससे पहले बीती रात अस्पताल में भर्ती कराए जाने के बाद उनके बड़े भाई रणधीर कपूर ने बताया था कि Rishi Kapoor को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। 67 साल के Rishi Kapoor का कोरोना वायरस टेस्ट भी करवाया गया था। Rishi Kapoor को 2019 में कैंसर हुआ था और एक साल तक अमेरिका में उनका इलाज चला था।

मध्‍य प्रदेश में मरीजों की कुल संख्‍या ढाई हजार से अधिक 

0
corona

इंदौर: प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की वृद्धि दर घटती प्रतीत हो रही है। हालांकि बड़ी संख्या में अभी जांच रिपोर्ट लंबित हैं। गुरुवार को अंचल से नौ नए मरीज मिले। इनमें ग्वालियर-चंबल संभाग में तीन और उज्जैन में तीन मरीज बढ़े हैं, जबकि अनूपपुर में पहली बार दो मरीज मिले हैं।

corona

खंडवा में एक वृद्ध की मौत हो गई। इंदौर में बीती रात 19 मरीज मिले थे और तीन की मौत हो गई थी। प्रदेश में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या 2553 और मृतक 120 हो गए हैं।

इंदौर में कोरोना पॉजिटिव ने दिया बच्चे को जन्म

इंदौर के अरबिंदो अस्पताल में भर्ती चंदन नगर निवासी एक महिला की सफल प्रसूति करवाई गई। जच्चा-बच्चा दोनों ही स्वस्थ हैं। कोरोना पॉजिटिव महिला का उपचार किया जा रहा था। वहीं इंडेक्स मेडिकल कॉलेज से 14 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गई। मरीजों ने अस्पताल में बेहतर इलाज होने की बात कही। गुरुवार को ही एमआरटीबी अस्पताल से भी 8 मरीजों की छुट्टी की गई है। 1 दिन में कुल 22 मरीज ठीक होकर अपने घर गए हैं। शहर के अलग-अलग अस्पतालों से अब तक लगभग 250 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। वहीं अन्य अस्पतालों में ऐसे कई मरीज हैं जिनकी पहली रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। अब दूसरी रिपोर्ट भी निगेटिव आने के बाद उनकी छुट्टी कर दी जाएगी।

ATM, Bank, Pension, SBI से जुड़े नियम 1 May से बदल जाएंगे 

0
PNB

1 May से नए नियम लागू होने जा रहे हैं। ATM, Banking, SBI, PNB, Income Tax सहित अन्‍य ऐसी सेवाओं के नियमों में बदलाव होगा जो सीधे तौर पर आम आदमी से जुड़ी हैं।

PNB

लॉकडाउन के चलते वैसे तो ट्रेन और हवाई सेवाएं बाधित हैं लेकिन इनसे जुड़े नियमों में भी परिवर्तन हो रहा है। इसके अलावा बैंकिग सुविधाएं चालू हैं और 1 मई से होने वाले बदलावों के बाद ग्राहक प्रभावित होंगे।

इन नियमों के बदलाव का जेब पर होगा असर

1. SBI ब्‍याज दर घटेगी, लोन होगा सस्‍ता

SBI यानी स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया 1 मई से एक लाख से अधिक बचत जमा खातों पर ब्‍याज दर घटाने जा रही है। इसका फायदा नए कर्जदारों को होगा और उन्‍हें अब पहले से कहीं सस्‍ता लोन उपलब्‍ध होगा। RBI रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अप्रैल के महीने में रेपो रेट घटाया था, जिसके चलते सेविंग्‍स डिपॉजिट पर अब ब्‍याज दरें कम होंगी। SBI ने एक्‍सटर्नल बैंचमार्क रूल्‍स को लागू करते हुए बचत जमा एवं अल्‍पावधि कर्ज की दरों को रेपो रेट के साथ जोड़ा है।

2. पेंशनर्स को मिल सकेगी पूरी पेंशन

EPS पेंशनर्स (EPS Pensioners) के लिए यह एक अच्‍छी खबर है। पिछले दिनों सरकार ने रिटायरमेंट के 15 वर्ष बाद पूरी पेंशन राशि के भुगतान का प्रावधान फिर से शुरू कर दिया था। इस नियम के तहत अब मई से पेंशन मिलने लगेगी। वर्ष 2009 में इस नियम को वापस ले लिया गया था। इसे पेंशन कम्‍युटेशन Pension Commutation सिस्‍टम कहा जाता है। इस विकल्‍प को चुनने वाले लोगों को पूरी पेंशन कुछ समय बाद बहाली के रूप में मिलती है। इसकी अवधि 15 वर्ष की है। गत फरवरी 2020 में केंद्र सरकार ने पूरी पेंशन को बहाल किए जाने का बड़ा ऐलान करते हुए इसका नोटिफिकेशन भी जारी किया था। इससे देश के साढ़े 6 लाख से अधिक पेंशनर्स को फायदा होगा।

3. PNB का डिजिटल वॉलेट Kitty Wallet होगा बंद

PNB पंजाब नेशनल बैंक 1 मई से अपना डिजिटल वॉलेट बंद करने जा रही है। पीएनबी की पेमेंट वॉलेट सेवा PNB Kitty wallet 30 अप्रैल से ही बंद हो जाएगी। बैंक ने इसकी जानकारी अपने ग्राहकों को दे दी है। Credit Card, Debit Card और Net Banking के स्‍थान पर PNB Kitty wallet से पेमेंट करने का ऑप्‍शन था। इसकी खासियत यह है कि इसमें नेटबैंकिग का पासवर्ड या कार्ड की डिटेल शेयर करने की अनिवार्यता नहीं थी। यह सेवा दिसंबर, 2016 में शुरू हुई थी जो अब खत्‍म होगी।

4. ATM को रखेंगे साफ, नियम तोड़ने पर चैंबर होगा सील

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए अब ATM के लिए नई व्‍यवस्‍था तय होने जा रही है। किसी भी ATM को ग्राहक द्वारा इस्‍तेमाल किए जाने के बाद संक्रमण से मुक्‍त करने के लिए साफ किया जाएगा। गाजि़याबाद और चेन्‍नई से इसकी शुरुआत आज से हो गई है। वहां इस नियम का सख्‍ती से पालन करने को कहा गया है। उल्‍लंघन होने पर एटीएम चैंबर को सील कर दिया जाएगा। गाजियाबाद के नोडल अधिकारी सुधीर गर्ग के निर्देश के चलते अब यहां सारे बैंकों के एटीएम बूथ सैनिटाइज किए जाएंगे। इसके लिए टीम तैयारी की जाएगी। नगर निगम प्रशासन ने बैंकों से ATM की लोकेशन प्राप्त कर ली है। सैनिटाइज के लिए केमिकल की बोतलें भी टीम को दी जा चुकी हैं। अब बैंकों सारे ATM को सैनिटाइज कराया जाएगा। इन्‍हें एक विशेष केमिकल से साफ किया जाएगा। हॉट स्पॉट में अब नगर निगम दिन में दो बार सैनिटाइजेशन करेगा।

5. बदल सकेंगे बोर्डिंग स्‍टेशन

लॉकडाउन के चलते रेलवे सेवाएं बंद हैं लेकिन भविष्‍य में जब भी रेल सेवाएं बहाल होंगी तब यह नियम लागू होगा। 1 मई से प्रभावी होने जा रहे रेलवे के इस नए नियम के अनुसार अब यात्री चार्ट निकल जाने के 4 घंटे पहले तक बोर्डिंग स्‍टेशन को बदल सकेंगे। अभी तक यह व्‍यवस्‍था थी कि यात्री अपने बोर्डिंग स्‍टेशन को यात्रा की डेट से 24 घंटे पहले ही बदल पाते थे। यदि यात्री बोर्डिंग स्‍टेशन में बदलाव करने के बावजूद यात्रा नहीं कर रहे हैं और टिकट कैंसल कर रहे हैं तो ऐसे में उन्‍हें कोई रिफंड नहीं दिया जाएगा।

6. Airindia में नहीं लगेगा कैंसिलेशन चार्ज

1 मई से एअर इंडिया Airindia यात्रियों को एक बड़ी सुविधा देने जा रहा है। अब यात्रियों को टिकट कैंसिल कराने पर कोई एक्‍स्‍ट्रा चार्ज नहीं देना होगा। कंपनी ने टिकट बुकिंग के 24 घंटों के भीतर उसे कैंसिल करने अथवा बदलाव किए जाने पर 1 मई से कैंसिलेशन चार्ज को खत्‍म कर दिया है। एअर इंडिया के CMD गत 24 अप्रैल को जारी हुए एक सर्कुलर में इसकी जानकारी दी है।

7. लॉकडाउन में मिल रही है चलित एटीएम की सुविधा

लॉकडाउन के दौरान भारतीय डाक विभाग ने चलित एटीएम की सुविधा लोगों को दी है। इसके चलते आपको पैसे निकालने के लिए बैंक या एटीएम बूथ तक जाना जरूरी नहीं है। डाक विभाग ने डिजिटल पेमेंट AEPS यानी आधार इनबिल्‍ड पेमेंट सिस्‍टम की शुरुआत की है। इस सुविधा के तहत आप लॉकडाउन में 10 हजार रुपए तक की राशि घर बैठे मंगा सकते हैं। खास बात यह है कि आपका खाता किसी भी बैंक में हो, इससे फर्क नहीं पड़ता। जरूरत पड़ने पर आपको पैसा मिल जाएगा।

अधिवक्ताओं को पांच हजार रुपये तक की सहायता देगी सरकार

0
Advocate

भोपाल !  कोरोना संकट के दौर में न्यायालयों के बंद होने के कारण आर्थिक रूप से परेशान अधिवक्ताओं के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश अधिवक्ता सहायता योजना का एलान किया है। योजना के तहत जरूरतमंद अधिवक्ताओं को पांच हजार रुपये तक की मदद दी जाएगी। योजना के लिए गठित फंड की सीमा भी एक करोड़ से बढ़ाकर दो करोड़ रुपये कर दी गई है।

Advocate

मंत्रालय में आयोजित मप्र अधिवक्ता सहायता योजना के संबंध में गठित न्यासी समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि अधिक से अधिक जरूरतमंद अधिवक्ताओं को इस योजना का लाभ मिल सके। उन्होंने योजना में पात्र अधिवक्ताओं की संख्या भी दोगुना करने के निर्देश दिए। कोरोना संकट के कारण अधिवक्ताओं को गंभीर चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। अतः दैनिक जीवन निर्वाह के लिए आर्थिक सहायता देने के उद्देश्य से ‘मध्य प्रदेश अधिवक्ता सहायता प्राकृतिक आपदा एवं अप्रत्याशित परिस्थिति योजना 2020’ बनाई गई है।

कितनी बार कराया है अपडेट Aadhaar Card

0
aadhaar_card

कितनी बार कराया है अपडेट Aadhaar Card

आधार कार्ड Aadhaar Card अब भारतीयों के लिए काफी अहम दस्तावेज बन चुका है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने लोगों को उनका आधार अपडेशन करने का रिकॉर्ड ऑनलाइन जानने का प्रावधान भी किया है।

aadhaar_card

आधार कार्ड में रजिस्टर्ड किया गया मोबाइल नंबर अगर आपके पास है तो घर बैठे ही आधार कार्ड की अपडेट हिस्ट्री जानी जा सकती है। इसमें एड्रेस या अन्य दूसरी चीजों में किए गए अपडेशन की जानकारी तारीख के हिसाब से नजर आती है। ये अपडेशन नाम, जन्म तारीख, लिंग, एड्रेस, मोबाइल या ईमेल जोड़ने या डिलीट करने जैसे किसी भी तरह के अपडेशन हो सकते हैं।

आधार अपडेट हिस्ट्री की खासियत

आधार अपडेट हिस्ट्री को जानने के लिए आधार वर्चुअल आईडी का उपयोग किया जा सकता है। इसकी मदद से आधार कार्ड की जानकारी में किस तारीख और किस समय पर बदलाव किया गया था आवेदक इसे भी देख सकता है। इन जानकारियों को कोई और नहीं देख सकता है। यह सुविधा ऑफलाइन उपलब्ध नहीं है।

UIDAI द्वारा संचालित आधार अपडेट हिस्ट्री को पोर्टल पर ऑनलाइन जाकर जाना जा सकता है। इस सुविधा का लाभ लेने के लिए मोबाइल नंबर का UIDAI डेटाबेस में रजिस्टर्ड होना अनिवार्य है। इन सरल स्टेप्स को फॉलो कर ऑनलाइन हिस्ट्री जानी जा सकती है।

– UIDAI के आधिकारिक पोर्टल पर जाएं