सत्ता संतुलन साधने में भाजपा का सामाजिक समीकरण बिगड़ा

0
26
mantri

कांग्रेस छोड़कर आए पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके 22 समर्थकों के साथ सत्ता संतुलन साधने में भाजपा का सामाजिक और भौगोलिक गणित बिगड़ गया । विधानसभा की 24 सीटोें पर होने वाले उपचुनाव को देखते हुए मंत्रिमंडल में चंबल-ग्वालियर का पलड़ा तो भारी हो गया लेकिन 2018 में भाजपा को जीत दिलाने वाले विंध्य और महाकोशल नेतृत्व की दृष्टि से लगभग साफ हो गया । विंध्य में कुल सीट 30 हैं,जिनमें से 24 पर भाजपा को विजय मिली पर मंत्री मात्र दो मिले ।

mantri

महाकोशल की 38 सीटों में से पिछले विधानसभा चुनाव में 13 सीट भाजपा को मिली थी,जिसके चलते मात्र एक रामकिशोर कांवरे को मंत्री बनाया गया । संस्कारधानी कहे जाने वाले जबलपुर से जहां कमलनाथ सरकार में दो दो मंत्री हुआ करते थे,वहां से किसी को नहीं चुना ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here